• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

ग्रहों की शांति के लिए भोजन में शामिल करें ये चीजें

ग्रहों की खराब दशा यदि आपके जीवन में भी चुनौतियां ला रही है, तो उन्हें शांत करने के लिए अपने भोजन में इन चीजों को जरूर शामिल करें। 
author-profile
Next
Article
Food Tips  And  Trick  For  Grah  Shanti

सौर्य मंडल में मौजूद ग्रहों की अवस्था और स्थान का केवल प्रकृति पर ही असर नहीं पड़ता है, बल्कि ये ग्रह मानव जीवन को भी प्रभावित करते हैं। ऐसे में कुंडली में अलग-अलग ग्रहों की स्थिति पर यह बात निर्भर करती हैं कि व्यक्ति को अपने जीवन में किन चुनौतियों का सामना करना होगा और उसके लक्ष्‍य कैसे और कब पूरे होंगे। 

ऐसा जरूरी नहीं है कि सभी ग्रह एक साथ मजबूत हो जाएं या फिर एक साथ कमजोर पड़ जाएं, मगर समय-समय पर यह ग्रह व्यक्ति के जीवन को अच्छी या बुरी तरह से प्रभावित करते हैं। इस विषय पर हमारी बात उज्जैन के ज्योतिषाचार्य एवं पंडित मनीष शर्मा जी से हुई। मनीष जी कहते हैं, 'हर ग्रह का अपना एक अलग स्वभाव होता है। अपने स्वभाव के आधार पर ही वह व्यक्ति के जीवन को प्रभावित करता है। आमतौर पर जब कोई ग्रह कमजोर होता है, तो संकेत के रूप में व्यक्ति के जीवन में कुछ उतार-चढ़ाव आने लग जाते हैं। ऐसे में हर ग्रह को शांत करने और मजबूत बनाने के अलग-अलग उपाय हैं। मगर आप केवल अपने भोजन में छोटे-छोटे बदलाव करके भी ग्रह को शांत कर सकते हैं। '

इसे जरूर पढ़ें: राहु-केतु का राशि परिवर्तन, पंडित जी से जानें आप पर क्‍या होगा इसका प्रभाव

grah shanti  food  in  hindi

बुध ( Mercury) 

बुध ग्रह का मजबूत होना बहुत ही महत्वपूर्ण होता है क्योंकि यह हमारी आर्थिक स्थिति, व्यापार और नौकरी को प्रभावित करता है। यदि कुंडली में बुध नीच भाव में है, तो उसे मजबूत बनाने के लिए आपको आहार में हरी सब्जियों, हरी दाल और हरे फलों को शामिल करना चाहिए। 

शुक्र (Venus)

शुक्र ग्रह भोग, विलासिता, वैवाहिक सुख, सौंदर्य आदि का कारक होता है। इस ग्रह के स्वामी शुक्राचार्य होते हैं। यह ग्रह आपके दिमाग को भी प्रभावित करता है। इसलिए शुक्र को मजबूत बनाए रखने के लिए और शुक्र देव की कृपा पाने के लिए आपको अपने भोजन में सफेद चीजों का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए।  

इसे जरूर पढ़ें: करियर में ग्रोथ के लिए शुक्र के उपाय जानें

ionside quote (Vinod Soni)

मंगल  (Mars)

अगर आपकी कुंडली में मंगल अशुभ है तो आपको अपने आहार में गुड़, अनार, मसूर की दाल और शहद आदि को शामिल करना चाहिए। कोशिश करें कि अपनी भोजन की थाली में अधिक से अधिक लाल चीजों को शामिल करें। आपको बता दें कि मंगल ग्रह मेष और वृश्चिक राशि का स्वामी है, साथ ही यह ऊर्जा एवं पराक्रम का कारक है। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में मंगल ग्रह सही स्थिति में न हो तो मंगल दोष (मंगल दोष के उपाय) बन जाता है। सबसे ज्यादा यह दोष व्यक्ति के वैवाहिक जीवन को प्रभावित करता है। 

बृहस्‍पति (Jupiter)

बृहस्पति ग्रह को शिक्षा का कारक माना गया है। यह धनु और मीन राशि का स्वामी है। यदि कुंडली में बृहस्पति लग्न भाव में स्थित होता है तो जातक को भाग्यशाली माना जाता है, वहीं बृहस्पति के कमजोर होने पर जीवन में अनेक चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। सबसे ज्यादा आपको अपने करियर में उतार-चढ़ाव देखने पड़ते हैं। आप यदि भोजन में पीली चीजों का सेवन अधिक करते हैं, तो आपको बहुत अधिक फायदा होगा। आप चने की दाल, बेसन मक्का, केला, हल्दी आदि का सेवन करें। पीले फलों का सेवन भी आपको लाभ पहुंचाएगा। 

grah  shanti  tips  and  tricks

शनि (Saturn)

शनि ग्रह के स्वामी शनि देव हैं। शनि का नाम सुनते ही मन में भय बैठ जाता है। दरअसल, भगवान शनि को न्याय का देवता माना जाता है। यदि शनि कमजोर है, तो जीवन में अनेक प्रकार की कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। आपकी सेहत से लेकर आर्थिक स्थिति तक सभी कुछ शनि की दशा खराब होने पर प्रभावित होता है। ऐसे में आपको शनि ग्रह को मजबूत बनाने के उपाय के तौर पर अपने भोजन में मूंगफली का तेल, लौंग, तिल आदि को शामिल करना चाहिए।  

सूर्य (Sun)

व्यक्ति सूर्य ग्रह से ऊर्जा एवं प्रकाश प्राप्त करता है। सूर्य पिता का प्रतिनिधित्व करता है। यदि सूर्य  प्रभावी होता है व्यक्ति जीवन में यश प्राप्त करता है, वहीं यदि सूर्य कमजोर स्थिति में होता है तो जातक में अहंकार और क्रोध आ जाता है, जो सभी साकारात्‍मक ऊर्जा को नष्ट कर देता है। इसलिए सूर्य को मजबूत बनाने के लिए आपको भोजन में गेहूं, आम और गुड़ आदि का सेवन करना चाहिए। 

चंद्र (Moon)

चंद्र ग्रह को मन का कारक माना जाता है। यदि चंद्रमा कमजोर होगा तो मन विचलित रहेगा। इसके साथ ही चंद्रमा के मजबूत होने पर जातक सुंदर और आकर्षक छवि वाला होता है। वहीं चंद्रमा कमजोर है , तो मानसिक तनाव, वैवाहिक जीवन में दुख कमजोर याददाश्त होने की शिकायत हो सकती है। चंद्रमा को मजबूत बनाने के लिए भोजन में सफेद रंग की चीजों का सेवन करें। 

Recommended Video

राहु-केतु(Rahu-Ketu)

राहु और केतु दोनों ही छाया ग्रह होते हैं। यह दोनों ग्रह एक साथ जब किसी दूसरे ग्रह के साथ बैठते हैं, तो उस ग्रह के अच्छे प्रभाव को कम कर देते हैं। ऐसे में राहु-केतु को शांत करने के लिए सरसों का तेल, तिल और उड़द दाल का प्रयोग करें। 

 

उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। इस आर्टिकल शेयर और लाइक जरूर करें। इसी तरह और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।  

Image Credit: Freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।