• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

राहु-केतु का राशि परिवर्तन, पंडित जी से जानें आप पर क्‍या होगा इसका प्रभाव

जल्‍द होने वाला है बड़ा परिवर्तन, आपकी राशि पर क्‍या होगा इसका असर, जाननें के लिए पढ़ें ये आर्टिकल। 
author-profile
Published -23 Mar 2022, 16:32 ISTUpdated -23 Mar 2022, 16:42 IST
Next
Article
when  did  rahu  ketu  change

ग्रहों में परिवर्तन वैज्ञानिक और धार्मिक दोनों ही दृष्टि से महत्वपूर्ण होता है। ऐसा ही एक परिवर्तन बहुत जल्‍द 11 अप्रैल को हो रहा है। दरअसल, राहु एवं केतु ग्रह राशि परिवर्तन कर रहे हैं। जहां राहु मेष राशि में प्रवेश कर रहा है, वहीं केतु तुला राशि में प्रवेश करने जा रहा है। 

इस परिवर्तन का मानव जाति के जीवन पर क्या प्रभाव पड़ेगा यह जानने के लिए हमने उज्जैन के ज्योतिषाचार्य एवं पंडित मनीष शर्मा से बात की। पंडित जी कहते हैं, 'राहु ग्रह मेष राशि का शत्रु है और तुला और केतु के बीच कोई शत्रुता नहीं है। दरअसल मेष राशि का स्वामी ग्रह मंगल है और मंगल-राहु में शत्रुता बताई गई है वहीं तुला राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है और शुक्र- केतु में मित्रता नहीं है तो शत्रुता भी नहीं है। एक तरह से देखा जाए तो शुक्र ग्रह के देवता शुक्राचार्य राक्षसों के आराध्य हैं, राहु-केतु में राक्षसों की श्रेणी में आते हैं, तो इस तरह से केतु और शुक्र कभी शत्रु हो ही नहीं सकते हैं।'

मगर इस ग्रह परिवर्तन का असर अलग-अलग राशियों पर अलग-अलग पड़ेगा। इतना ही नहीं, फसल, प्रकृति और देश के लिए भी यह ग्रह परिवर्तन बहुत शुभ नहीं माना जा रहा है। तो चलिए अपनी राशि के अनुसार जान लें कि आपको किन चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। 

इसे जरूर पढ़ें: Monthly Horoscope April 2022: ज्योतिष एक्सपर्ट से जानें अप्रैल के महीने में किन राशियों के चमकेंगे सितारे

rahu  ketu  transit   mesh

मेष

मेष राशि में ही राहु का प्रवेश होने जा रहा है और केतु (राहु-केतु ग्रह के प्रकोप से बचने के अचूक उपाय) राशि के सप्तम भाव पर पूर्ण दृष्टि रखेगा। ऐसे में बहुत अच्‍छा वक्‍त तो नहीं है मेष राशि के जातकों के लिए, मगर आप यदि आत्‍मविश्‍वास बनाएं रखते हैं तो कठिन वक्त भी आसानी से बीत जाएगा। 

  • क्या होगा नुकसान- रोगों में वृद्धि होगी एवं सर्जरी हो सकती है। 
  • क्‍या होगा फायदा- चिंताओं पर विजय प्राप्त होगी एवं हिम्मत बनी रहेगी

वृषभ

राशि में राहु द्वादश भाव में है और जल्दी ही राशि को छोड़ कर निकल जाएगा। कुल मिला कर आपके लिए वक्त अच्‍छा है और आपको इस ग्रह परिवर्तन का कोई भी बुरा प्रभाव नहीं झेलना पड़ेगा। 

  • क्‍या होगा नुकसान- कोई नुकसान नहीं होगा। 
  • क्‍या होगा फायदा- दिमाग शांत रहेगा, आर्थिक मजबूती आएगी, तरक्की होगी, पिछले वर्षों की दिक्कतें खत्म होंगी। 
 
rahu  ketu  transit   cancer

मिथुन

मिथुन राशि में राहु एकादश भाव एवं केतु पंचम भाव में होगा। इससे जातक के जीवन में कोई विशेष फर्क नहीं पड़ेगा।

  • क्‍या होगा नुकसान- वाहनादि प्रयोग में सावधान रहना होगा एवं अज्ञात भय बना रहेगा। 
  • क्‍या होगा फायदा- विवादों में विजय प्राप्त होगी धन की प्राप्ति की संभावना है।
lal  kitab  remedies  for  rahu  and  ketu

कर्क

राहु दशम एवं केतु चतुर्थ भाव में रहेगा। आपके लिए समय बहुत अच्‍छा नहीं है। थोड़ा संभल कर रहें। विवादित मामलों में पीछे हटना पड़ेगा।

  • क्‍या होगा नुकसान-  निर्माण कार्य में व्यय होने की संभावना है। अनचाहे कार्य करने पड़ सकते हैं। करीबी व्यक्ति से विवाद होने की संभावना है। 
  • क्या होगा फायदा- कोई बड़ा फायदा नहीं होगा। 
rahu  ketu  transit   virgo

सिंह

नवम भाव में राहु एवं केतु के तृतीय भाव में होने के कारण आपके लिए यह राशि परिवर्तन ठीक रहेगा।यदि आपको कोई समस्या है तो वह दूर हो जाएगी। 

  • क्‍या होगा नुकसान- कोई बड़ा नुकसान नहीं होगा। 
  • क्‍या होगा फायदा- ऋण से मुक्ति पाने के उपाय प्राप्त होगा। 

कन्या

अष्टम भाव में राहु एवं द्वितीय भाव में केतु के होने से आपके लिए यह राशि परिवर्तन थोड़ा कठिन वक्त ला सकता है। आपको सबसे ज्‍यादा दिक्‍कत कार्यस्‍थल पर होगी। आपके काम समय पर नहीं हो पाएंगे। 

  • क्‍या होगा नुकसान- घरेलू विवाद उजागर हो सकते हैं। 
  • क्‍या होगा फायदा-विवादों से दूर रहेंगे तो फायदे में रहेंगे। 
rahu  ketu  transit   scorpio

तुला

राशि में केतु का प्रवेश होगा एवं राहु की सप्तम दृष्टि बनी रहेगी, इससे आपके जीवन में कोई खराब प्रभाव नहीं पड़ेगा मगर आप काफी व्यस्त रहेंगे और कई कार्य आपको एक साथ करने पड़ सकते हैं। 

  • क्‍या होगा नुकसान- जिम्मेदारियों में वृद्धि होगी। 
  • क्‍या होगा फायदा-संतान से खुशी की प्राप्ति होगी

वृश्चिक

इस परिवर्तन से केतु राशि से निकल जाएगा एवं राहु की दृष्टि भी समाप्त हो जाएगी। यह समय आपके लिए अच्‍छा है, आपको किसी भी प्रकार का कोई बड़ा नुकसान नहीं होगा।  

  • क्‍या होगा नुकसान- शत्रु सिर उठाने का प्रयास करेंगे। 
  • क्‍या होगा फायदा-चिंताएं समाप्त होंगी। 
rahu  ketu  transit   sagittarius

धनु

राहु पंचम भाव में और एवं केतु एकादश भाव में होगा, इससे आपके जीवन में कोई विशेष अंतर नहीं पड़ेगा। आपके लिए समय अच्छा है। इसका कोई खराब असर नहीं पड़ेगा। यह समय अनुकूल ही रहेगा। कुछ मानसिक त्रास हो सकता है, इसके अलावा घुटनें में दर्द एवं अज्ञात भय चिंता रहेगी। संतान से सुख प्राप्त होगा एवं जमीन आदि खरीदने का मन बन सकता है।

  • क्‍या होगा नुकसान- कुछ मानसिक परेशानी हो सकती है। 
  • क्‍या होगा फायदा-संतान से सुख प्राप्त होगा। 

मकर

राहु चतुर्थ भाव में एवं केतु दशम भाव में होगा।यह योग संकेत दे रहे हैं कि आपको कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। मनचाहे कार्य करने में रुकावट आएंगी।

  • क्‍या होगा नुकसान- आर्थिक रूप से दिक्कतें आ सकती हैं।
  • क्‍या होगा फायदा- कोई विशेष फायदा नहीं होगा। 
rahu  ketu  transit   pisces

कुंभ

तृतीय भाव में राहु एवं नवम भाव में केतु के होने से आपको लाभ पहुंचेगा। हो सकता है कि आपको किसी चीज की लत लग जाए। 

  • क्‍या होगा नुकसान-  बुरी लतों की ओर आकर्षित हो सकते हैं। 
  • क्‍या होगा फायदा-प्रमोशन के साथ स्थानांतरण के योग बनेंगे। 

Recommended Video

मीन

द्वितीय भाव में राहु एवं अष्टम भाव में केतु के होने से आपके लिए स्थितियां बेहतर बनेंगी। कुछ समस्याएं भी आ सकती हैं, मगर वह गंभीर नहीं होंगी। 

  • क्या होगा नुकसान- त्वचा संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। 
  • क्‍या होगा फायदा-नौकरी में प्रमोशन मिलेगा। 

यह जानकारी आपको पसंद आई हो तो इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें। इसी तरह और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।  

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।