हर किसी के जीवन में शादी का एक अलग महत्व होता है। लोग इस दिन का बेसब्री से इंतजार करते हैं, वहीं लोगों के मन में इसे लेकर कई ख्वाहिशें होती हैं। भारत में दो तरीके से शादी होती है लव मैरिज और अरेंज मैरिज। अरेंज मैरिज में जहां आपकी फैमिली आपके लिए परफेक्ट ढूंढती है। वहीं लव मैरिज में आप खुद अपने लिए पार्टनर को ढूंढती हैं, जो शादी से पहले ही एक दूसरे के साथ लव रिलेशनशिप में होते हैं। 

आज भी कई जगहों पर माता-पिता लव मैरिज के खिलाफ होते हैं, लेकिन समय के साथ लोगों में जागरुकता बढ़ी हैं। वहीं कई लड़कियां लव मैरिज पर अधिक भरोसा करती हैं। इसके साथ ही माता-पिता भी इस बात को समझ रहे हैं कि शादी के लिए लड़का और लड़की दोनों की सहमति होना जरूरी है। आइए जानते हैं लव मैरिज करने के फायदों के बारे में...

लव मैरिज का कॉन्सेप्ट

love marriage advantages

मानव सभ्यता में प्यार का कॉन्सेप्ट काफी पुराना है। पुराने समय में भी लोग प्यार में पड़ते थे, यही नहीं वास्तव में लव मैरिज ही शादी का स्वाभाविक रूप है जिसमें उसकी पसंद को ही देखते हुए वैवाहिक मिलन माना जाता था। अरेंज मैरिज का कॉन्सेप्ट बाद में लोगों ने खुद विकसित किया, जिसमें समय के साथ कई तरह के बदलाव किए गए।

मिलता है कम्पैटिबल पार्टनर

जिन लोगों की शादी अरेंज होती है, ऐसा जरूरी नहीं कि उन्हें कम्पैटिबल पार्टनर मिला हो। लेकिन जब आप लव मैरिज करती हैं तो आप अपने पार्टनर को अच्छी तरह से जानती होंगी और वह भी आपको अच्छी तरह समझते होंगे। लव मैरिज में एक दूसरे के बीच आपसी समझदारी देखने को मिलती है। लेकिन अरेंज मैरिज में ऐसा कम ही दिखने को मिलती है। वहीं अरेंज मैरिज में ऐसे कई रिश्ते देखने को मिल जाएंगे, जहां लोग एक दूसरे के लिए कम्पैटिबल ही नहीं होते।

नहीं होती सोशल बाउंडरी

no social boundaries

जब आप लव मैरिज करते हैं तो आप दोनों एक दूसरे को न सिर्फ पसंद करते हैं बल्कि प्यार भी कर रहे होते हैं। सामाजिक रस्मों-रिवाज के लिए कोई जगह नहीं है और आप अपने परिवार के सदस्यों के आशीर्वाद से अपनी लाइफ शुरू कर सकते हैं। लव मैरिज से आप समाज में दहेज जैसी प्रथा को कम कर सकती हैं। क्योंकि जब आप प्यार में होते हैं तो एक दूसरे को सम्मान भी बराबर देते हैं। ऐसे में आपका पार्टनर आपसे दहेज की उम्मीद नहीं कर सकता है।

Recommended Video

प्यार से सफल होती है शादी

प्यार में दो लोगों के बीच कॉमन फीलिंग होती है जैसे आप उनके लिए हैं और वो आपके लिए हैं। दोनों के बीच प्यार होने से रिश्ता मजबूत होता है। लव मैरिज करने वाले लोगों को एहसास होता है वे खुश और सफल लाइफ बिता सकते हैं। हालांकि लव मैरिज लाइफ की जर्नी एक जैसी नहीं होती है, लेकिन रिश्ते में उतार-चढाव आने पर भी बिना बोले म्यूचुअल अंडरस्टैडिंग से आप एक दूसरे का साथ दे सकते हैं। अगर आप दोनों को एक दूसरे पर भरोसा होगा तो दोनों साथ मिलकर रास्ता तय कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: पहली मुलाकात में लड़कियों में ये 7 चीजें नोटिस करते हैं लड़के

रिलेशनशिप में होती है मैच्योरिटी

maturity in relationship

लव मैरिज एक दूसरे को अच्छी तरह समझने के बाद ही की जाती है, ताकी रिश्ते में किसी तरह की कोई गलती न हो। आप सभी चीजों को समझते हैं और पार्टनर के साथ पॉजिटिव और नेगिटिव प्वाइंट को स्वीकार करने के बाद फैसला लेते हैं। आपकी शादी आप दोनों द्वारा लिया गया एक मैच्योर फैसला होता है, ऐसे में किसी भी चीज के लिए एक दूसरे को दोष नहीं दे सकते हैं जैसा की अक्सर अरेंज मैरिज में होता है।

इसे भी पढ़ें: अगर यह संकेत नजर आएं तो तुरंत लें रिलेशनशिप काउंसलर की मदद

लाइफ की जर्नी हो जाती है आसान

life journey

किसी भी रिश्ते में आने से पहले सेल्फ सैटिस्फैक्शन बहुत जरूरी है। शादी में जब आप लव मैरिज करती हैं तो आपको संतुष्टि रहती है कि आप जिससे प्यार करती थी, उसी से शादी कर रही हैं। अरेंज मैरिज में आपका पार्टनर अक्सर आपकी पसंद को नहीं जानता है, लेकिन अगर आप ने पार्टनर अपनी मर्जी से चुना है तो कहीं न कहीं खुद को ज्यादा खुश महसूस करती हैं। आप उनकी आदतों और मूड से अच्छी तरह वाकिफ होती है, जो कि शादी के सफर को आसान बना देता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।