बदलाव प्रकृति का नियम है। एक वक्त में बाद हर चीज में बदलाव आता ही है, भले ही वह आपका रिश्ता ही क्यों न हो। अमूमन देखने में आता है कि रिश्ते की शुरूआत में व्यक्ति के मन में अपने पार्टनर को लेकर प्यार व जुनून होता है, लेकिन समय के साथ-साथ वह जुनून भी कम होने लगता है। साथ ही एक वक्त के बाद व्यक्ति की जिम्मेदारियां बढ़ने लगती हैं और वह अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करने में इस कदर व्यस्त हो जाता है कि उसका स्वभाव बदलने लगता है और उसे इसका पता ही नहीं चलता। पुरूष को भले ही इस बात का अहसास न हो, लेकिन उनमें आने वाले बदलावों का असर न सिर्फ रिश्ते पर पड़ता है, बल्कि इसके कारण महिला के मन में भी कई तरह की उथल-पुथल होने लगती है। अगर आप भी अपने पार्टनर के बदलते स्वभाव के कारण बैचेन हैं, तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। इन आसान उपायों को अपनाकर आप बेहद आसानी से इसे मैनेज कर सकती हैं-

इसे भी पढ़ें: Relationship Tips: इन 7 बातों से समझें कि रिलेशनशिप में क्या चाहते हैं पुरुष

न हों परेशान

handle the changing personality of your partner inside

अगर आपको अपने पार्टनर में बदलाव नजर आ रहे हैं तो उसके लिए पैनिक न हों। दरअसल, कई बार व्यक्ति अपने कामों में इस कदर उलझ जाता है कि उसका स्वभाव थोड़ा बदल जाता है। यह बिल्कुल सामान्य है और इसमें परेशान होने की कोई बात नहीं होती। आप इसे सहजता से लें, अगर आप ऐसा करेंगी तो इससे आपके रिश्ते पर असर नहीं पड़ेगा।

खुद से करें सवाल

handle the changing personality of your partner inside

अपने पार्टनर के व्यवहार को लेकर परेशान होने या झगड़ा करने से पहले आप खुद से भी सवाल करें और पूछे कि क्या आपका स्वभाव भी अब पहले जैसा ही है। क्या अब भी आप अपने पार्टनर के साथ वैसा ही व्यवहार करती हैं, जैसा पहले किया करती थीं। यकीनन आपको जवाब ना में ही मिलेगा, जिस तरह समय बीतने और जिम्मेदारियों के बढ़ने के बाद आपका स्वभाव बदल गया है, उसी तरह आपके पार्टनर के व्यवहार में परिवर्तन आना स्वाभाविक है।

करें बात

handle the changing personality of your partner inside

अगर आपको लग रहा है कि आपके पार्टनर के स्वभाव में परिवर्तन के पीछे कोई परेशानी है। मसलन, अगर आपके पार्टनर के चेहरे पर आपको चिंता नजर आती है, उनके खाना खाने का तरीका भी बदल गया है और वह ज्यादातर चुप-चुप रहते हैं तो इसका अर्थ है कि वह मन ही मन किसी बात को लेकर चिंतित हैं। ऐसे में आप उनसे बात जरूर करें और यह जानने का प्रयास करें कि किस बात की वजह से उनका स्वभाव बदला है। जब आपको कारण पता चल जाए तो आप अपनी परेशानी जरूर साझा करें।

लाएं नयापन

handle the changing personality of your partner inside

जीवन जब एक ही ढर्रे पर चलने लगता है तो उसमें एक बोरियत छा जाती है और इस बोरियत का असर आपके स्वभाव पर भी पड़ता है। ऐसे में अपने रिश्ते में नयापन लाने के लिए आपको ही कुछ कदम उठाने होंगे। जैसे आप अपने पार्टनर के लिए सरप्राइज डिनर डेट या वेकेशन प्लान कर सकती हैं। जब आप दोनों को अपनी रोजमर्रा की जिन्दगी से छुट्टी मिलेगी तो आपको अपने रिश्ते को रिजुविनेट करने का मौका मिलेगा।

इसे भी पढ़ें: बिजी लाइफ में अपने रिश्ते के लिए समय निकालने के लिए अपनाएं यह आसान उपाय

खतरे की घंटी

handle the changing personality of your partner inside

कई बार पार्टनर का बदलता स्वभाव आपके रिश्ते के लिए खतरे की घंटी हो सकता है और आपको समय रहते ही इस दस्तक को सुन लेना चाहिए। जैसे अगर आपके पार्टनर का व्यवहार एकदम से काफी बदल गया हो और वह आपसे बातें छिपाने लगें या फिर अपने फोन में लॉक रखें। आपसे छिपकर दूसरों से बात करें। इस तरह के बदलते व्यवहार को बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें और अपने पार्टनर से इस बारे में साफ-साफ बात करें।