हमारे किचन में कई ऐसी चीज़ें होती हैं जिनका इस्तेमाल कुछ खास नहीं होता और हम उन्हें कचरा समझ कर फेंक भी देते हैं। यकीनन किचन का कचरा बहुत ज्यादा निकलता है और अक्सर इसे हम ऐसे ही फेंक देते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि किचन के कचरे में मौजूद 5 चीज़ों से हम अपने पौधों को नया जीवन दे सकते हैं और साथ ही साथ अपने गार्डन को एक ऐसा फर्टिलाइजर दे सकते हैं जो किसी भी महंगे और केमिकल वाले फर्टिलाइजर से ज्यादा बेहतर काम करेगा। 

अगर आपने घर पर ही गार्डन बनाया हुआ है या फिर बालकनी में पौधे लगाए हैं या छत पर कुछ गमले रखे हैं आपको यकीनन उन पौधों को पोषण देने के लिए फर्टिलाइजर की जरूरत पड़ती होगी। ऐसे में क्यों न किचन के कचरे को ही गार्डन का फर्टिलाइजर बना लिया जाए? हम आपको कुछ ऐसे कचरे के बारे में बताने जा रहे हैं जो बहुत ही अच्छे फर्टिलाइजर के तौर पर इस्तेमाल किए जा सकते हैं। 

1. केले के छिलके-

क्यों बन सकता है अच्छा फर्टिलाइजर- इसमें पोटैशियम की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। 

केला न सिर्फ खाने और खूबसूरती को बेहतर करने के लिए इस्तेमाल हो सकता है बल्कि इससे फर्टिलाइजर भी बहुत अच्छा बन सकता है। इसे छोटे और फूल वाले पौधों के आस-पास गाड़ दीजिए और उनमें पानी बराबर मात्रा में डालते रहिए। आप ऐसा भी कर सकते हैं कि केले के छिलके को छोटे-छोटे हिस्सों में तोड़कर उसमें पानी डालकर 24 घंटे के लिए रख दें और फिर उसी पानी का इस्तेमाल पौधों में करें। दोनों ही तरह से इसकी मदद से भरपूर पोटैशियम पौधों को मिलेगा। 

garden compost

इसे जरूर पढ़ें- घर में तुलसी के पौधे को हमेशा रखें हरा भरा, बस ये आसान तरीका आएगा काम

2.  अंडों के छिलकों से करें गार्डनिंग-

क्यों बन सकता है अच्छा फर्टिलाइजर- कैल्शियम की जरूरत को पूरा करने के लिए अंडे बहुत उपयोगी हो सकते हैं। 

अगर आपके घर की मिट्टी में बहुत ज्यादा कैल्शियम नहीं होता है तो फिर आप अंडों के छिलकों का इस्तेमाल कर सकते हैं। कई लोग तो अंडे को छिलकों में ही मिट्टी डालकर नए पौधे उगाते हैं। अगर सब्जियां बार-बार गार्डन में उगाने पर भी अच्छे से नहीं उग पाती हैं और खराब ग्रोथ होती है तो अंडे के छिलके गार्डनिंग के लिए करें इस्तेमाल। इससे आपकी ये बड़ी समस्या दूर हो जाएगी।  

3. कॉफी से करें गार्डनिंग-

क्यों बन सकता है अच्छा फर्टिलाइजर- पिसे हुए कॉफी के बीज मिट्टी का pH लेवल ठीक कर सकते हैं।  

कॉफी ग्राउंड्स यानी कॉफी के पिसे हुए बीज मिट्टी का pH लेवल ठीक कर उसे ज्यादा एसिडिक बनाते हैं। कांटे वाले पौधे या बेल वाले पौधे जैसे गुलाब का पौधा या टमाटर आदि के लिए ये बहुत अच्छे फर्टिलाइजर का काम कर सकते हैं। अगर आपके घर कॉफी मशीन है तो कॉफी ग्राउंड्स से स्क्रब बनाने के साथ-साथ उन्हें फर्टिलाइजर की तरह मिट्टी में छिड़क दें।  

garden and scarps

4. ग्रीन टी बैग्स-

क्यों बन सकते हैं अच्छे फर्टिलाइजर- ग्रीन टी से बन सकते हैं मिट्टी को मिल सकता है खूब सारा पोषण।  

ग्रीन टी जिस तरह से हमारे लिए फायदेमंद होती है उसी तरह से वो गार्डन के पौधों के लिए भी फायदेमंद हो सकती है। एक टीबैग को अगर दो लीटर पानी में घोलकर वो पानी पौधों में डाला जाए तो मिट्टी में भी फायदा होता है। ये ज्यादा उपजाऊ बनती है। इसे आप दो-तीन दिन में एक बार इस्तेमाल कर सकते हैं और बाकी रोज़ाना नॉर्मल पानी डालें।  

इसे जरूर पढ़ें- Kitchen Garden Tips: घर में आसानी से ऐसे उगाएं करी पत्ते का पौधा  

5. प्याज और लहसुन के छिलके-

क्यों बन सकते हैं अच्छे फर्टिलाइजर- मिट्टी में पोटैशियम, आयरन और कैल्शियम देने के लिए इस्तेमाल करें ये छिलके। 

रोज़ाना अगर कोई कचरा हमारे किचन में निकलता है तो वो प्याज और लहसुन के छिलके जरूर होते हैं। ये किचन में रोज़ाना मिलते हैं और ये पोटैशियम, आयरन और कैल्शियम का खजाना होते हैं। अगर आपको लगता है कि आप इन छिलकों का इस्तेमाल गार्डनिंग में कर सकते हैं तो इन्हें जरूर करें। आप इन्हें सीधे कॉम्पोस्ट में डाल सकते हैं या फिर आप इन्हें पानी में रख सकते हैं और 3-4 दिन के लिए उस पानी को ऐसे ही छोड़ सकते हैं। इसके बाद छिलकों वाले पानी को छानकर उसमें थोड़ा सादा पानी मिलाकर उसे पौधों में डालें। ये तरीका भी गार्डनिंग के लिए काफी आसान हो जाता है।  

तो अगली बार आप गार्डनिंग के लिए कुछ ऐसा ही तरीका आजमाएं। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।