अगर आज के समय में रिश्तों के टूटने का कारण पूछा जाए तो अधिकतर लोगों का यही जवाब होगा धोखा। यकीनन वर्तमान युग में ऐसे कई कपल्स होते हैं, जो अपने पार्टनर के प्रति वफादार नहीं होते। जब इस धोखे के बारे में उनके पार्टनर को पता चलता है तो इससे रिश्ते में एक दरार आ जाती है। कई बार रिश्ता टूट भी जाता है। एक रिश्ता सिर्फ प्यार से ही नहीं चलता, एक-दूसरे के प्रति भरोसा होना भी उतना ही जरूरी है। लेकिन अगर आप अपने पार्टनर के प्रति वफादार हैं और यह सोचती हैं कि इससे आपका रिश्ता ताउम्र चलेगा, तो आप गलत हैं। दरअसल, रिश्ते में रहते हुए हम सभी कई बार कुछ ऐसी चीजें करते हैं, जो धीरे-धीरे रिश्ते को कमजोर बनाती चली जाती हैं।  इतना ही नहीं, लगातार ऐसा करने से आपका रिश्ता टूटने की कगार पर पहुंच जाता है। इस लिहाज से अगर देखा जाए तो कुछ छोटी-छोटी मिसटेक्स आपके रिश्ते को धोखा देने से भी ज्यादा नुकसान पहुंचाती हैं। तो चलिए जानते हैं ऐसी ही कुछ बातों के बारे में-

साथी से बातें छिपाना या झूठ बोलना

harmful and cheating in relationship inside

रिलेशन में एक पर्सनल स्पेस होना जरूरी है, लेकिन इसका अर्थ यह कतई नहीं है कि आप अपने पार्टनर से हर बात छिपाने लग जाएं या फिर उन्हें झूठ बोलें। अगर आप ऐसा करती हैं तो इससे आप दोनों के बीच विश्वास का धागा कभी मजबूत नहीं होता। इतना ही नहीं, जब बाद में आपके पार्टनर को सच्चाई का पता चलता है तो इससे उन्हें काफी दुख भी होता है। बार-बार बातें छिपाने या झूठ बोलने से आपका इमोशनल बॉन्ड कभी भी मजबूत नहीं हो पाता।

इसे भी पढ़ें: रिलेशनशिप को रखना है मजबूत तो अपने पार्टनर को इन स्थितियों में बिल्कुल मैसेज ना करें

चुपचाप नाराजगी जताना

cheating in a relationship with partner inside

दुनिया में शायद ही कोई ऐसा कपल होगा, जिनके बीच आपसी मतभेद ना होते हों, लेकिन जब आप अपनी नाराजगी को चुपचाप जताती हैं, तो यह रिश्ते के लिए बेहद हानिकारक होता है। क्योंकि इस तरह ना तो आप अपने मन के गिले-शिकवे कह पाती हैं और ना ही वह आपके मन की बात समझ पाते हैं। (आप बन सकती हैं एक अच्छी पार्टनर) इससे रिश्ता कहीं ना कहीं कमजोर होना शुरू हो जाता है, क्योंकि धीरे-धीरे आपके  बीच का इमोशनल बॉन्ड टूटने लगता है।

Recommended Video

आपसी बातचीत की कमी

cheating in a relationship inside

यकीनन आज के समय में हर व्यक्ति अपने काम में बेहद बिजी रहता है, लेकिन इसका अर्थ यह कतई नहीं है कि आप आपस में बातचीत ना ही करें। जब आप ऐसा करने लग जाती हैं तो इससे दोनों की पार्टनर अपनी परेशानियों के साथ अकेले झूझते हैं और फिर उन्हें पार्टनर के होने के बाद भी उसके होने का अहसास ही नहीं होता। जो किसी भी लिहाज से आपके रिश्ते के लिए बिल्कुल भी उचित नहीं है। (रिश्ते में होती है इनसिक्योरिटी, ऐसे करें इसे हैंडल)

इसे भी पढ़ें: Relationship Tips: ऐसे निभाएंगी अपना रिश्ता तो रिलेशनशिप हमेशा रहेगी मजबूत

सिर्फ फिजिकल इंटिमेसी पर ध्यान देना

harmful than cheating in a relationship inside

एक रिश्ते के लिए शारीरिक अंतरंगता महत्वपूर्ण है, लेकिन भावनात्मक, बौद्धिक और आध्यात्मिक अंतरंगता भी उतनी ही जरूरी है। शारीरिक इंटिमेसीस कुछ वक्त के लिए होती है, जबकि  इमोशनल इंटिमेसी आप दोनों तो ताउम्र जोड़कर रखती है। आप अपने साथी के प्रति वफादार हो सकती हैं, लेकिन अगर आप एक-दूसरे के साथ नहीं जुड़ती हैं और इन अंतरंगताओं को साझा नहीं करती हैं, तो वास्तव में आप अपने रिश्ते को कमजोर बना रही हैं और कमजोर नींव के बलबूते पर रिश्तों का मजबूत पेड़ खड़ा नहीं किया जा सकता। (रिलेशनशिप की शुरूआत में यह चीजें करने से ताउम्र चलेगा आपका रिश्ता)

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@freepik)