मल्लिका दुआ एक एक्‍टर, कॉमेडियन, एंटरटेनर, सोशल मीडिया स्‍टार, डीवा और राइटर है और उनकी मां पद्मावति दुआ जिन्‍हें प्‍यार से लोग चिन्‍ना दुआ पुकारते हैं। वह रेडियोलॉजिस्ट, डॉक्‍टर, सिंगर, पैशेनेट कुक, साड़ी की शौकीन और सोशल मीडिया इनफ्लुएंसर भी है। इस जोड़ी को भला कौन नहीं जानता है यह मां-बेटी की यह जोड़ी सोशल मीडिया पर छाई हुई है। हर जिंदगी की कंटेंड हेड मेघ मामगेन ने मां-बेटी की इस अद्भुत जोड़ी से उनके बीच के स्‍पेशल बॉन्‍ड के बारे में चर्चा की। आइए हम भी इस बातचीत के कुछ अंश के बारे में जानें। 

मां-बेटी की खट्टी-मीठी नोक-झोक, प्‍यार और एक दूसरे को सपोर्ट करने की कहानी में मल्लिका और उनकी मां चिन्‍ना ने हमसे बहुत सारी मां-बेटी की बॉन्डिंग शेयर की। जहां चिन्‍ना ने मल्लिका के बचपन की बातों से लेकर उनके बड़े होने तक की सारी यादों को ताजा किया। साथ ही यह भी बताया कि मां बनने से अच्‍छी फिलिंग कुछ और हो ही नहीं सकती हैं। वहीं दूसरी ओर मल्लिका ने बताया कि कैसे उनकी मां चिन्‍ना ने हर कदम पर उनके साथ थीं।

इसे जरूर पढ़ें: पंकज भदौरिया और सोनालिका, मां-बेटी की इस जोड़ी ने अनोखी बातों से बनाया है अपने रिश्ते को खास

mallika dua and chinna dua Inside

बचपन की शरारत

मल्लिका दुआ अभी इतना चहकती हुई दिखाई देती हैं और उनका इंस्‍टाग्राम अकांउट देखकर कोई भी हंसने लगता हैं। लेकिन क्‍या वह बचपन में भी इतनी ही शरारती थी, इस बारे में बात करते हुए उनकी मां चिन्‍ना दुआ का कहना था कि ''वह शराराती थी लेकिन इतनी भी नहीं कि ऐसी शरारत करें कि किसी के लिए मुसीबत का कारण बनें। हां कभी-कभी दीवार पर पेटिंग बना दिया करती थीं।''  

 जी हां मल्लिका दुआ को हम आज कॉमेडी क्विन के रूप में जानते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि उनकी मां चिन्ना दुआ कभी भी उनके बारे में नहीं जानती थीं। उसने शेयर किया, "आज उसकी सहेलियां मुझे बताती हैं कि वे सभी उसे टीचर की नकल या जो भी कहते थे, वह करती थी, लेकिन मुझे इस बारे में कभी जानकारी नहीं थी।"

"ईमानदारी से कहूं तो, उन सभी चीजों पर नज़र रखना बहुत मुश्किल है जो वह करती हैं। कई बार हमें किसी और से पता चलता है। एक बार, अमेरिका के मेरे एक दोस्त ने मुझे एक वीडियो भेजा और कहा कि ये दोनों लड़कियां प्यारी हैं और तब मैंने उसने कहा, वह मेरी बेटी है।''

हर चीज नहीं करती हैं शेयर

मल्लिका दुआ ने परिवार के साथ अपने सभी काम शेयर करने के बारे में बात करते हुए कहा, "मेरे द्वारा किया गया हर वीडियो भेजना मुश्किल होता है। सामान्य तौर पर, मुझे अपने हर काम को पूरा करने की आदत नहीं है। ऑनलाइन खुद को लगातार बढ़ावा देना वास्तव में अजीब लगता है। हर समय खुद का प्रचार करना मुझे अच्‍छा नहीं लगता है। लोग क्रिएट कम करते हैं लेकिन अपना प्रचार ज्‍यादा करते हैं। वह मुझसे नहीं हो पाता है वह एक अलग ही जिम्‍मेदारी हैं। हमारे घर में मम्‍मी पापा भाई के साथ वैसा रिलेशन नहीं है कि तुम ऑनलाइन क्‍या कर रही हो। यहां तक कि मेरे मम्‍मी पापा ने कभी मेरे वेब सीरिज नहीं देखें। क्‍योंकि यह अपनी शूटिंग में इतना बिजी रहते हैं।''

सुपर एक्टिव

चिन्ना दुआ लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया पर सुपर एक्टिव हैं और वह अपने हैंडल पर दिलचस्प रेसिपी और खूबसूरत एथनिक लुक शेयर कर रही हैं। उसी के बारे में बात करते हुए, उन्‍होंने कहा, "मैं धन्य महसूस करती हूं कि मैं लॉकडाउन के दौरान कुछ करने में सक्षम हूं। यह सिर्फ साड़ी पहनने के बारे में नहीं है। जब आप अच्छे कपड़े पहनते हैं तो यह आपके मूड को बदल देता है। मैं हमेशा साड़ियों में रहती थी और जब मेरे मरीज मुझे कहते हैं कि डॉक्‍टर को इतना अच्‍छे से तैयार देखकर अच्‍छा लगता है। तो आपको लगता है कि आपको अगले दिन और अच्‍छे से तैयार होकर जाना है।'' 

mallika dua and chinna dua Inside

बचपन की डांट

हमने मां-बेटी की जोड़ी को उस समय पर वापस जाने के लिए कहा, जब मल्लिका बड़ी हो रही थी। मल्लिका ने कहा, "मैं पढ़ाई के लिए डांट पड़ती थी क्योंकि मैं पढ़ाई में अच्‍छी नहीं थी। मैं स्पष्ट रूप से बहुत स्‍मार्ट थी लेकिन मैं कभी भी याद नहीं कर सकती थी। मैं मैथ्‍स तो बिल्‍कुल नहीं समझ सकती थी। हालांकि मम्‍मी और उनकी फैमिली के लोग पढ़ाई के मामले में बहुत अच्‍छे थे। रोजाना इसी बात पर डांट पड़ती थी कि नंबर क्‍यों नहीं आ रहे और तुम पढ़ाई क्‍यों नहीं करती हो। इसके अलावा मुझे कभी किसी बात पर डांट नहीं पड़ती थी। यहां तक कि अगर कुछ हुआ या अगर हमसे कोई गलती हुई है, तो हम पहले अपने पेरेंट्स के पास जाते थे और उन्हें बताते थे। हम हमेशा जानते थे कि हमारे माता-पिता हमारे रक्षक हैं, न कि वे लोग जिनसे हम डरते हैं।" मिसमालिनी और मंजुलिका अग्रवाल, मां-बेटी ने समाज से ज्यादा एक दूसरे पर भरोसा कर बनाया अनोखा रिश्ता

'जो भी करो अच्‍छे से करो'

डॉक्टर चिन्ना दुआ ने यह भी शेयर किया कि पेरेंट्स के रूप में वे कभी हस्तक्षेप नहीं करते थे जब उनके बच्चों के करियर की बात आती था। उन्होंने उन्हें अपने लिए फैसला करने दिया। उनका कहना है कि ''बच्‍चों की लाइफ है उन्‍हें जो बनाना है वह उनकी अपनी मर्जी है। मेरे पेरेंट्स ने भी कभी इस मामले में हमारे साथ जबरदस्‍ती नहीं की। वही हमने अपने बच्‍चों को भी कहा, जो भी करना है उसे अच्‍छे से करो। यहां तक कि इनके पापा का तो यह भी कहना था कि फर्स्‍ट आना अच्‍छी बात है लेकिन नहीं आना भी कोई बुरी बात नहीं है।''  

 बातों-बातों में मल्लिका दुआ ने बताया कि ''उनके पेरेंट्स ने कभी पढ़ाई को लेकर उन पर कोई प्रेशर नहीं बनाया। मुझे याद है कि 12 क्‍लास में मेरे बहुत कम मार्क्‍स आए थे, ऐसे में मैं रोए जा रही हूं, उस समय मेरे पेरेंट्स ने मुझे बोला कि रिलैक्‍स करो अभी सब कुछ खत्‍म नहीं हुआ है।'' 

Recommended Video

'जैसा दिख रहे हैं उससे कहीं ज्‍यादा है'

यहां तक कि अगर आप सोशल मीडिया स्टार हैं, तो आपके पास समय होता है जब आप सचेत महसूस करें कि आप कैसे दिखते हैं। मल्लिका दुआ ने शेयर किया, "मैं यह नहीं कहूंगी कि मैं हमेशा जिस तरह से दिखती हूं, उसके बारे में आश्वस्त हूं। मुझे कभी-कभी कपड़े पहनने में लंबा समय लगता है। लड़कियों में आमतौर पर यह चेतना होती है, लोग हमेशा कमेंट करने के लिए तैयार होते हैं लेकिन यह आपकी फैमिली है, आपकी परवरिश है। आपके अनुभव जो आपको याद दिलाते हैं कि आप जो दिख रहे हैं उससे कहीं ज्‍यादा है। जैसे मेरी मां जो अपने बालों को कभी दूसरों की तरह डाई नहीं करती है लेकिन वह ऐसे ही बहुत खूबसूरत लगती हैं।'' 

मल्लिका के बारे में चिन्‍ना दुआ ने शेयर किया कि ''मल्लिका ऐसे लोगों में से नहीं हैं जो अच्‍छे से ड्रेसअप होकर बाजार जाते हैं। उसने और उसकी बहन ने कभी नहीं सोचा कि लोग क्या सोचेंगे। वह कभी भी अपने लुक को लेकर कॉन्शियस नहीं होती है। मुझे इस बात पर बहुत गर्व महसूस होता है।''

इसे जरूर पढ़ें: मां-बेटी नेहा भसीन-रेखा भसीन के रिश्‍ते में है प्‍यार, तकरार और भरोसे का अनोखा तड़का

mallika dua and chinna dua Inside

ट्रोलिंग पर हो जाती हैं परेशान   

सोशल मीडिया की दुनिया ट्रोलिंग के बिना अधूरी है। जब एक फैमिली में दो सोशल मीडिया स्टार होते हैं, तो क्या ट्रोल्स के हिट होने पर वे सुरक्षात्मक हो जाते हैं? उसी के बारे में बात करते हुए, चिन्ना दुआ ने शेयर किया, "ईमानदारी से कहूं तो मुझे इंस्टाग्राम पर इतनी नेगेटिविटी नहीं मिली। यह कभी-कभार होता है। ट्रोलिंग होती है, तो मैं परेशान हो जाती हूं और मैं उनसे कहती हूं कि उन्हें कोई जवाब न दें।"

मल्लिका दुआ ने इस बारे में कहा, "मैं ट्रोलिंग के विभिन्न स्‍टेज से गुजरी हूं। यह मेरे जीवन का एक हिस्सा रहा है लेकिन मैं इस पर ध्यान नहीं देने की कोशिश करती हूं या मैं लोगों को ज्‍यादा इन्गेज नहीं करती हूं।"

हमें तो से मां-बेटी की जोड़ी से बहुत पसंद हैं! अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया, तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसे ही अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हर जिंदगी से जुड़े रहें।