बच्चे आमतौर पर स्वभाव से काफी नटखट होते हैं। कभी-कभी उनकी हरकतें आपके चेहरे पर स्माइल लेकर आती हैं तो कभी काफी परेशानी भी होती है। बच्चे खेल-खेल में चीजों को तोड़ देते हैं या फिर नुकसान कर देते हैं। ऐसे में अक्सर पैरेंट्स काफी शर्मिन्दा हो जाते हैं और अपनी झुंझलाहट निकालने के लिए बच्चों पर चिल्लाते हैं। हो सकता है कि आपने भी कभी ना कभी बच्चों पर चिल्लाया हो और बाद में आपको मन ही मन काफी दुख हुआ हो कि आपने आखिरकार ऐसा क्यों किया। यह एक ऐसी स्थिति है, जिसका सामना अधिकतर पैरेंट्स ने किया ही है। दरअसल, जब बच्चे शरारतें करते हैं तो पैरेंट्स का आपा खो देते हैं। लेकिन इस सिचुएशन में आपको समझदारी का परिचय देने की जरूरत है। ऐसे कई टिप्स हैं, जिन्हें अपनाकर आप खुद को बेहद आसानी से शांत कर सकती हैं और बच्चों पर चिल्लाने की आदत को बदल सकती हैं। तो चलिए आज हम आपको ऐसे ही कुछ आसान टिप्स के बारे में बता रहे हैं-

लें गहरी सांस

 parent hood inside

यह गुस्से को शांत करने का एक त्वरित और प्रभावी तरीका है। अगर आपको बच्चे की किसी शरारत पर बेहद गुस्सा आ रहा है तो आप उसे कुछ भी कहने से पहले गहरी सांस लें और छोड़ें। इससे आप कुछ ही पलों में यह महसूस करेंगे कि आपका गुस्सा काफी हद तक कम हो गया है। इसके बाद जब आप बच्चे से बात करेंगे तो यकीनन वह चिल्लाकर नहीं होगा।

इसे जरूर पढ़ें: जानते हैं दुनिया की कुछ मशहूर पेंटिंग्स के बारे में

रखें सॉफ्ट टोन

 parent hood inside

आमतौर पर माता-पिता बच्चों को रोकने के लिए उन पर चिल्लाते हैं। उस समय के लिए भले ही बच्चे रूक जाएं, लेकिन आपके चिल्लाने पर वह आपकी बात को कभी नहीं समझते और एक ही गलती को बार-बार दोहराते हैं। इतना ही नहीं, कभी-कभी बच्चों को यह भी लगता है कि उनके पैरेंट्स तो सिर्फ चिल्लाते ही रहते हैं और ऐसे में वह उन्हें सीरियस नहीं लेता। लेकिन वहीं अगर आप सॉफ्ट टोन को यूज करती हैं तो ऐसे में वह अपने पैरेंट्स को अधिक गौर से सुनता है। इसलिए भले ही आपको अपने बच्चे की कोई बात अच्छी नहीं है तो ऐसे में उस पर चिल्लाने की जगह सॉफ्ट टोन रखें।

इसे जरूर पढ़ें: सर्दियों में कुछ इस तरह सजाएं शादी वाला घर, अपनाएं ये DIY तरीके

 

जानें कारण

 parent hood inside

कई बार बच्चे बार-बार तोड़-फोड़ करते हैं या फिर शरारतें करते हैं, तो ऐसे में पैरेंट्स बच्चों पर चिल्लाते हैं। लेकिन वास्तव में यह समस्या का समाधान नहीं है। अगर आप सच में स्थिति को बेहतर करना चाहती हैं तो बच्चों पर चिल्लाने की जगह पहले उन कारणों को जानने की कोशिश करें, जिसकी वजह से वह ऐसा करता है। जब आप कारणों को जानकर उसे दूर कर पाएंगी तो इससे बच्चे भी गलत हरकतें करना बंद कर देंगे और फिर आपको भी उन पर गुस्सा करने की कोई वजह ही नहीं मिलेगी। यह एक ऐसा उपाय है, जो लॉन्ग टर्म में काम आता है।

Recommended Video

तय करें कुछ रूल्स

 parent hood inside

अगर आप सच में चाहती हैं कि आपके चिल्लाने के कारण बच्चे पर विपरीत प्रभाव ना पड़े तो ऐसे में आप घर के लिए कुछ रूल्स सेट करें। साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि घर का हर सदस्य उन रूल्स को फॉलो करें। इससे बच्चे भी बेहतर तरीके से व्यवहार करते हैं। साथ ही अगर बच्चे उन रूल्स को तोड़ते हैं तो ऐसे में आप उन्हें सजा दे सकती हैं। मसलन, आप उनसे दो-तीन दिन के लिए बिल्कुल भी बात नहीं करेंगी। आप अपनी दी गई इस सजा पर कायम रहें। इससे बच्चा खुद में सुधार करने की कोशिश करता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik