जिन घरों में छोटे बच्चे होते हैं, वहां पर पैरेंट्स को उनका अतिरिक्त ख्याल रखना होता है। बच्चे की सुरक्षा के मद्देनजर वह अपने घर से लेकर लाइफस्टाइल में कई बदलाव करते हैं। लेकिन अगर आपके घर में पालतू जानवर है तो आपकी जिम्मेदारी और भी ज्यादा बढ़ जाती है। आप पर एक छोटे बच्चे और पेट्स दोनों की देखभाल का जिम्मा होता है। इसलिए आप किसी भी तरह की कोताही नहीं बरत सकतीं। अगर दोनों की ही देखरेख में चूक हो जाए तो इससे काफी विपरीत परिणाम देखने को मिल सकते हैं।

वैसे तो बच्चों का पालतू के साथ समय बिताना कई मायनों में लाभकारी होता है, हालांकि ऐसा करने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें आपको बच्चे व पालतू दोनों की देखभाल करते समय बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए-

पालतू को दें ट्रेनिंग

inside , animal care at home

अगर आपके घर में एक न्यू बॉर्न बेबी है तो उसकी देखरेख करने का सबसे पहला स्टेप है कि आप पहले पालतू को इसके लिए ट्रेन करें। मसलन, आप बच्चे के स्वागत से पहले ही घर में कुछ बदलाव करें और पालतू को इस बदलाव का आदी बनाएं। इसके अलावा, आप बच्चे के लिए एक अलग से कमरा या स्पेस तैयार करें। साथ ही पालतू को यह भी सिखाएं कि वह उस स्पेस में ना आए। दरअसल, छोटे बच्चों का संक्रमण का खतरा बहुत अधिक रहता है और पालतू के कारण उसके बीमार होने की संभावना बढ़ जाती है। वहीं, बच्चे के आने के बाद आप यकीनन काफी बिजी होने वाली हैं, लेकिन फिर भी कुछ वक्त पालतू के लिए अलग से निकालें ताकि वे भी हैप्पी रहें।

इसे ज़रूर पढ़ें-   इन 5 टिप्स की मदद से, घर पर अपने Pet को आसानी से दें ट्रेनिंग

दें जिम्मेदारी

inside , dog care tips

अगर बच्चा उम्र में थोड़ा बड़ा है। मसलन, वह पालतू के साथ खेल सकता है तो ऐसे में उसे छोटी-छोटी जिम्मेदारी देना अच्छा आईडिया है। आप बच्चे को पालतू का वाटर बाउल भरने या उसे नहलाने की जिम्मेदारी दे सकती हैं। इसमें बच्चों को बेहद मजा भी आएगा, साथ ही उनमें एक जिम्मेदारी का भाव भी पैदा होगा। आप देखेंगी कि बच्चा कुछ ही दिनों में अधिक जिम्मेदार हो गया है।

Recommended Video

सिखाएं जरूरी बातें 

inside , pet and child care

यकीनन बच्चों को पालतू के साथ खेलना काफी अच्छा लगता है। लेकिन जब आपके घर में दोनों मौजूद हैं तो यह जरूरी है कि आप बच्चे को कुछ जरूरी बातें जरूर सिखाएं। खासतौर से, हाईजीन से जुड़ी बातें। मसलन, अगर बच्चा बाहर से आता है तो सीधे पालतू के साथ खेलने की जगह वह पहले अपने हाथों को व खुद को क्लीन करे। इसी तरह, पालतू के साथ खेलने के बाद भी हाथों व चेहरे आदि को क्लीन करना बेहद आवश्यक है। इस तरह आप बच्चे को छोटी-छोटी बातें सिखाकर दोनों की सेहत का अच्छी तरह ख्याल रख सकती हैं।

इसे ज़रूर पढ़ें-   कैट को पालने से पहले जान लें ये 5 जरूरी बातें 

जरूर करें मॉनिटर

inside , pet dog

बच्चों व पेट्स को आपस में इंटरेक्ट करना काफी अच्छा है, लेकिन जब बच्चे और पेट्स आपस में एक-दूसरे के साथ कनेक्ट हो रहे हैं तो यह बेहद जरूरी है कि आप उसे जरूर मॉनिटर करें। दरअसल, कई बार ऐसा होता है कि बच्चे अनजाने ही या खेल-खेल में पेट्स को नुकसान पहुंचा सकते हैं, जिससे वह कभी-कभी उग्र हो जाते हैं। कई बार निगरानी ना करने से डॉग बच्चे पर भौंक या काट भी सकता है, जिससे बच्चा भी उसके साथ मिसबिहेव कर सकता है। इसलिए जब आपके घर में पेट्स व किड्स हैं तो उन्हें मॉनिटर करना बेहद जरूरी है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- freepik.com