आज के समय में स्मार्ट वुमन अपने काम को अधिक आसान बनाने के लिए कई तरह के अप्लाइंस का इस्तेमाल करना पसंद करती हैं। इन्हीं होम अप्लाइंसेंस में से एक है वैक्यूम क्लीनर। इसके इस्तेमाल से ना केवल घर की सफाई में अपेक्षाकृत कम समय लगता है, बल्कि यह अधिक आसान भी बनती है, जिसके कारण घर और ऑफिस के काम करते हुए आपको क्लीनिंग में अलग से मेहनत करने की आवश्यकता नहीं है। आज के समय में यह हर स्मार्ट वुमन की पहली पसंद बन गया है।

इतना ही नहीं, वैक्यूम क्लीनर की पॉपुलैरिटी को देखते हुए आज मार्केट में स्टिक वैक्यू क्लीनर से लेकर पोर्टेबल रोबोटिक वैक्यूम क्लीनर तक इनकी एक वाइड वैरायटी अवेलेबल है। हालांकि, इनकी पॉपुलैरिटी के बढ़ने के साथ-साथ उनसे जुड़े कुछ मिथ्स में भी काफी इजाफा हुआ है और इसलिए महिलाएं इसे इस्तेमाल करते हुए कुछ गलतियां कर बैठती हैं। तो चलिए आज हम आपको वैक्यूम क्लीनर से जुड़े कुछ ऐसे ही मिथ्स के बारे में बता रहे हैं, जिनकी सच्चाई के बारे में आपको जरूर जानना चाहिए-

मिथ 1- हैवी वैक्यूम क्लीनर अधिक बेहतर तरीके से काम करते हैं

Myths Vacuum Cleaner

सच्चाई- कुछ समय पहले तक केवल हैवी वैक्यूम क्लीनर ही मार्केट में अवेलेबल थे। लेकिन आज के समय में कई अलग-अलग साइज व वजन के वैक्यूम क्लीनर मिलते हैं। लेकिन कुछ महिलाएं मानती हैं कि बड़े व भारी वैक्यूम क्लीनर अच्छी तरह से काम करते हैं और इसलिए वह लाइटवेट वैक्यूम क्लीनर की तरफ ध्यान ही नहीं देती। जबकि यह एक बहुत बड़ा मिथक है। वास्तव में, वैक्यूम क्लीनर के वजन या आकार का उसकी परफार्मेंस से कोई लेना-देना नहीं है। आपको यह समझना चाहिए कि एक मशीन अपना वजन उस तकनीक से प्राप्त करती है जिससे इसे बनाया गया है। आज के समय में ऐसे बहुत सारे लेटेस्ट और शक्तिशाली वैक्यूम क्लीनर मौजूद हैं जो हल्के होते हैं।

मिथ 2- वैक्यूम क्लीनर को कारपेट पर जितना नीचे सेट किया जाता है, यह उतना ही बेहतर तरीके से काम करता है।

Vacuum Cleaner clean tips

सच्चाई- जी नहीं, इस बात में कोई सच्चाई नहीं है। अधिकतर महिलाएं अपने कारपेट में वैक्यूम क्लीनरको बेहद नीचे रखती हैं और उन्हें लगता है कि इससे उनका वैक्यूम क्लीनर अच्छी तरह काम करेगा। वैक्यूम को कार्पेट से थोड़ा ऊंचा सेट किया जाना चाहिए, हालांकि, आपको इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि यह इतना ऊंचा हो कि ब्रश कार्पेट से टच हो। यह सेटिंग सबसे अधिक मात्रा में एयर फ्लो को वैक्यूम नोजल में जाने देता है, जिससे वैक्यूम क्लीनर बेहद ही प्रभावशाली तरीके से काम करता है। 

इसे ज़रूर पढ़ें- इन आसान तरीकों से मिनटों में साफ़ करें आर्टिफिशियल ग्रास कारपेट 

मिथ 3- वैक्यूम क्लीनर को सर्विस करने की आवश्यकता नहीं है। आपको उन्हें लंबे समय तक ऐसे ही इस्तेमाल कर सकती हैं।

cleanning tips

सच्चाई- यह भी वैक्यूम क्लीनर से जुड़ा एक पॉपुलर मिथक है। एक वैक्यूम क्लीनर सामान्य तौर पर आपके घर के अन्य अप्लाइंस जैसे टीवी, फ्रिज या वॉशिंग मशीन से काफी अलग है। दरअसल, एक वैक्यूम क्लीनर लगातार गंदगी, धूल, बाल और मलबे के संपर्क में आता है और इसलिए इसे क्लीन करने के अलावा मेंटेन करने की भी जरूरत है। बेहतर होगा कि आप वैक्यूम क्लीनर को 12-24 महीनों में एक बार सर्विस अवश्य करवाएं। ऐसा करने से आप अपने वैक्यूम क्लीनर की लाइफ को दोगुना या तिगुना कर सकती हैं।

Recommended Video

मिथ 4- बैगलेस वैक्यूम क्लीनर, बैग वाले वैक्यूम क्लीनर से बेहतर होते हैं

cleanning about vaccum cleaner

सच्चाई- बहुत सी महिलाएं यह भी मानती हैं कि बैगलेस वैक्यूम क्लीनर अधिक मॉडर्न हैं और इसलिए दूसरों की तुलना में बेहतर हैं। हालांकि, यह भी पूरी तरह से एक मिथ ही ही है। यहां आपको यह समझने की आवश्यकता है कि हर वैक्यूम क्लीनर के अपने फायदे हैं। वैसे बैग वाले वैक्यूम क्लीनर के अपने फायदे होते हैं। सबसे पहले तो इनका प्राइस कम होता है, इसलिए आप अपने बजट में इसे आसानी से खरीद सकती हैं। इसके अलावा, वैक्यूम बैग को हटाना और अटैच करना भी आसान है। जिससे उनका ख्याल रखना अपेक्षाकृत आसान होता है।

इसे ज़रूर पढ़ें-चोक टॉयलेट बाउल को मिनटों में करें ठीक, अपनाएं ये आसान ट्रिक्स

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (Freepik)