कभी-कभी छोटी-छोटी चीजें आपकी किस्मत बदल सकती हैं। वास्तु शास्त्र आपको दिखाता है कि कैसे घर में चीज़ों को रखना आपके लिए लाभकारी साभित हो सकता है। यही नहीं न जाने कितनी बार घर में फैली हुई अशांति का कारण वास्तु ही होता है। कहा जाता है कि यदि घर की हर एक चीज़ वास्तु के अनुसार सही दिशा में रखी गई हो तो वो आपकी अच्छी किस्मत का कारण भी बन सकती है और सुख समृद्धि लाती है। उसी प्रकार बेडरूम में भी आप अपने बेड की सही दिशा निर्धारित करके और बेडरूम में बदलाव करके सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ा सकते हैं और यही नहीं कई बार बेड की सही दिशा पति और पत्नी के बीच में सामंजस्य बनाए रखने में भी मदद करती है।

आप बहुत से ऐसे लोगों से जरूर मिले होंगे जो वास्तु शास्त्र के सिद्धांतों का पालन करते हैं और वे कहते हैं कि वास्तु आपके रहने की जगह और जीवन को अनुकूलित करने में मदद कर सकता है और आपको सकारात्मक रहने में भी मदद कर सकता है। आइए विश्व के जाने माने ज्योतिर्विद पं रमेश भोजराज द्विवेदी जी से जानें कि घर में किस दिशा पर बेड रखना आपके घर को सुख समृद्धि से भर सकता है और आपकी किस्मत को बदल सकता है। 

किस दिशा में हो सिर 

placement ofhead at bed

मास्टर बेडरूम में बेड का स्थान बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होता है क्योंकि यह परिवार के मुखिया की नींद की गुणवत्ता और स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। मास्टर बेडरूम में सोते समय सिर रखने की दिशा या तो दक्षिण या पश्चिम होनी चाहिए। बिस्तर को हेडबोर्ड के साथ दक्षिण या पश्चिम में दीवार के खिलाफ रखा जाना चाहिए ताकि लेटते समय आपके पैर उत्तर या पूर्व की ओर हों।

इसे जरूर पढ़ें:Vastu Tips: घर में किस दिशा में रखें तिजोरी, कभी नहीं होगी धन की हानि

कमरे के कोनों में बेड रखने से बचें

room at corners

घर में किसी भी कमरे में बेड रखते समय ध्यान रखें कि इसे किसी भी दीवार से सटाकर न रखें। खासकर छोटे बेडरूम में, कमरे के कोने में दीवारों के पास बेड रखने से बचें  क्योंकि यह सकारात्मक ऊर्जा को क्षेत्र के माध्यम से बहने से रोकता है। बिस्तर को दीवार के मध्य भाग के साथ रखा जाना चाहिए ताकि कमरे में घूमने और साफ करने के लिए पर्याप्त जगह हो और पूरे कमरे में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह हो सके।

उत्तर दिशा की ओर न रखें सिर 

वास्तु के अनुसार उत्तर दिशा की ओर सिर करके सोना अशुभ माना जाता है और माना जाता है कि इससे नींद की गुणवत्ता कम हो जाती है, जो गंभीर बीमारियों का कारण बनती है। यदि बेडरूम का लेआउट आपको किसी अन्य दिशा में सिर रखने से रोकता है, तो आप इस बेडरूम की तरह एक विभाजन पर विचार कर सकते हैं या फिर सोते समय अपने तकिए की स्थिति दक्षिण की ओर करें। भूलकर भी उत्तर दिशा की ओर सिर न रखें और पैर दक्षिण दिशा की तरफ न हों। दक्षिण दिशा को पितरों की दिशा माना जाता है और ऐसा करने से पितृ दोष होता है। 

पूर्व दिशा में रखें बच्चों का बेड 

kids bed direction

सिर को पूर्व दिशा में रखने से याददाश्त, स्वास्थ्य और एकाग्रता बढ़ती है। यही कारण है कि बच्चों के बेडरूम में बेड का सिरा पूर्व दिशा में रखना उत्तम होता है। दक्षिण या दक्षिण-पूर्व भी ठीक दिशा है, ताकि पैर उत्तर या पश्चिम की ओर हों। यह स्थिति उस व्यक्ति के लिए भी उपयुक्त है जो आध्यात्मिकता की ओर झुकाव रखता है या युवा वयस्कों के लिए जो अपने करियर की शुरुआत कर रहे हैं।

पश्चिम दिशा से मिलती है प्रसिद्धि

west direction of bed

जो लोग प्रसिद्धि और समृद्धि प्राप्त करना चाहते हैं, उनके लिए पश्चिम में दीवार के विपरीत बिस्तर रखना सबसे अच्छा विकल्प है। पूर्व दिशा की ओर पैर करके सोने से धन और मान-सम्मान में वृद्धि होती है।

इसे जरूर पढ़ें:Feng Shui Tips: एक्सपर्ट के बताए इन 9 फेंग शुई टिप्स से धन धान्य से भर जाएगा घर, जरूर करें फॉलो

बाथरूम के दरवाजे से दूर हो बेड 

आदर्श रूप से बेड को बाथरूम के दरवाजे के सामने नहीं रखा जाना चाहिए। यदि आप इससे नहीं बच सकते हैं, तो सुनिश्चित करें कि नकारात्मक ऊर्जा को बेडरूम में आने से रोकने के लिए बाथरूम का दरवाजा सोते समय हमेशा बंद रखा जाए।

बेडरूम में शीशे से बेड न दिखे 

mirror in bedroom

यदि आपके बेडरूम में दर्पण है, तो सुनिश्चित करें कि यह बिस्तर को प्रतिबिंबित नहीं करता है। लेटते समय आईने में शरीर के किसी भी अंग के प्रतिबिम्बित होने से बीमारियों की संभावना बढ़ सकती है।

Recommended Video

दम्पति के लिए सिंगल गद्दे का करें इस्तेमाल 

बेडरूम एक ऐसी जगह है जो एक शादीशुदा जोड़े के बीच सौहार्दपूर्ण संबंध का पोषण करता है। दंपत्ति के बीच सामंजस्य बनाए रखने के लिए जरूरी है कि उनके कमरे में अलग -अलग बेड न हों। यहां तक कि बेड में गद्दा भी सिंगल होना दोनों के बीच सामंजस्य को बढ़ाता है। 

यहां बताई गयी वास्तु टिप्स के अनुसार यदि घर में बेड की दिशा निर्धारित की जाए तो घर में सुख शांति तो आती ही है और मन व्यर्थ की समस्याओं में नहीं उलझता है। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik, pixabay  and unsplash