बेकिंग सोडा का इस्तेमाल बहुत तरीकों से किया जा सकता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसका सही इस्तेमाल पौधों के लिए भी किया जा सकता है। जी हां, पौधों को कीड़ों से बचाने के लिए बेकिंग सोडा एक घरेलू फंगीसाइड का काम कर सकता है। बेकिंग सोडा को हम तरह-तरह के घरेलू कामों में इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन सोडियम बायकार्बोनेट यानि बेकिंग सोडा एक सुरक्षित फंगीसाइड बन सकता है जो पौधों की कई फंगल बीमारियों और कीड़ों को दूर रख सकता है। 

फल, फूल और अन्य सभी पौधों के लिए ये बहुत अच्छा काम कर सकता है। बेकिंग सोडा को कई तरह से पौधों के लिए इस्तेमाल किया जाता है और ये कीड़ों पर वैसे ही असरदार होता है जैसे नीम ऑयल। बेकिंग सोडा का इस्तेमाल फंगल ग्रोथ को रोकने के लिए सबसे ज्यादा किया जाता है। पर अगर हम बेकिंग सोडा और फंगीसाइड की बात कर ही रहे हैं तो क्यों न उससे जुड़ी कुछ जानकारी ले लें। 

फंगीसाइड की तरह काम करने के अलावा बेकिंग सोडा गार्डन में करता है ये काम-

  • इससे पौधों की पत्तियां और फूल साफ रहते हैं। 
  • ये मिट्टी का पीएच लेवल बैलेंस करके रखता है।
  • अगर टमाटर उगाए हैं तो इससे उनके स्वाद को बेहतर बनाया जा सकता है।
  • ये चींटियों और टिड्डों आदि को दूर रखता है। 
baking soda and making pesticide

इसे जरूर पढ़ें- बेकिंग सोडा और बेकिंग पाउडर में क्या है अंतर, शेफ कुनाल कपूर से जानें पकोड़े या केक बनाते समय किसे करें USE

ये तो थे बेकिंग सोडा के इस्तेमाल, चलिए अब हम इसके फायदे और नुकसान की बात करते हैं कि आखिर कैसे बेकिंग सोडा फायदेमंद और नुकसानदेह दोनों हो सकता है।

फायदे-

  • ये ऑर्गेनिक और ईको-फ्रेंडली है।
  • ये फंगीसाइड और पेस्टिसाइड्स से ज्यादा सस्ता है और काम पूरा करता है। 
  • ये पौधों में कीड़ों के असर को काफी कम करता है। 

नुकसान- 

  • अगर ज्यादा डाला जाए तो बेकिंग सोडा का पहला कंपाउंड सोडियम जड़ों को कमजोर बना सकता है। ये पौधे के अन्य हिस्सों पर भी असर कर सकता है। 
  • अन्य मुश्किल ये होगी कि पौधों पर ज्यादा बेकिंग सोडा डाला जाए तो ये सोडियम बायकार्बोनेट को पौधों और मिट्टी में जमा देता है। ऐसे में मिट्टी के न्यूट्रिएंट्स कम हो जाते हैं और पौधों की ग्रोथ धीमी होती है।  

बेकिंग सोडा से कैसे बनाएं फंगीसाइड? 

फंगस जैसे रोगों को पौधों में फैलने से रोकने के लिए आप घर पर ही कुछ सॉल्यूशन बना सकते हैं। आप इसे फंगीसाइड और पेस्टिसाइड दोनों बना सकते हैं और ये हल्का और स्ट्रॉन्ग सॉल्यूशन होगा।  

baking soda use in garden

इसे जरूर पढ़ें- स्किन के निखार से लेकर दांतों की सफाई तक, बेकिंग सोडा से किए जा सकते हैं ये 10 काम

कॉमन मिक्स- 

  • 4 लीटर पानी 
  • 3 चम्मच बेकिंग सोडा 
  • इन्हें अच्छे से मिलाकर आप पौधों पर स्प्रे करें और सभी पत्तियों को कवर करें। फंगल डिजीज और कीड़ों पर ध्यान रखने की जरूरत है।  

बेकिंग सोडा से फंगीसाइड बनाना- 

  • 4 लीटर पानी
  • 1 चम्मच बेकिंग सोडा
  • 1 चम्मच तेल
  • 2 ड्रॉप डिशवॉश लिक्विड 

ये सॉल्यूशन पहले वाले सॉल्यूशन से बहुत ज्यादा असरदार है और इसमें तेल डालने से इस सॉल्यूशन का असर कीड़ों पर और भी ज्यादा होगा और इससे फंगस जल्दी खत्म होगी। पहले वाले सॉल्यूशन में सिर्फ बेकिंग सोडा था और ये अब फंगीसाइड बन गया है।  

pesticide for baking soda

बेकिंग सोडा से ऐसे बनाएं पेस्टिसाइड- 

अभी तक नॉर्मल कीड़ों और फंगस के लिए सॉल्यूशन हमने बना लिया है, लेकिन अगर देखा जाए तो अभी जिद्दी कीड़ों और पेस्ट्स का असर कम करना बाकी है। इसके लिए आप ये सॉल्यूशन इस्तेमाल कर सकते हैं।  

  • 4 लीटर पानी
  • 2 चम्मच बेकिंग सोडा
  • 1 चम्मच साबुन
  • 2 चम्मच नीम का तेल 

नीम ऑयल को वैसे भी कीड़ों को हटाने के काम लिया जाता है और ये तरह-तरह की फंगस को भी दूर रखता है। ऐसे में ये सॉल्यूशन महंगे केमिकल पेस्टिसाइड का काम करेगा। इसमें साबुन इसलिए डाला ताकि ये सभी इंग्रीडियंट्स को आसानी से बांध दे।  

कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है- 

  • बेकिंग सोडा ज्यादा न डालें।
  • इसे हमेशा स्प्रे ही करें सीधे पत्तियों को धोने या मिट्टी में न डालें। 
  • डालने से पहले पैच टेस्ट जरूर कर लें। 1 पत्ती पर डालकर देखें और 24 घंटे इंतज़ार करें कि कहीं कुछ और तो नहीं हो गया। 
  • इसे हमेशा शाम के समय डालें क्योंकि अगर आपने धूप में इसे डाल दिया तो पौधा सूरज और बेकिंग सोडा की गर्मी से जल भी सकता है।  

इसे 24 घंटे तक पौधों पर रहने दें उसके बाद पौधों पर सादा पानी स्प्रे कर दें। अगर आपके पौधों में कीड़े बहुत ज्यादा हो गए हैं तो आप इसे हफ्ते में 1 बार रिपीट कर सकते हैं। अगर आप बेकिंग सोडा का इस्तेमाल कर रहे हैं तो ध्यान रहे कि किसी और केमिकल का इस्तेमाल पौधों पर न करें।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।