चाहें पार्टी हो या फिर घर का कोई फंक्शन या फिर शादी-ब्याह, सिल्क की साड़ियां हर जगह बेहद खूबसूरत नजर आती हैं। इनसे महिलाओं को क्लासी लुक मिलता है, लेकिन गर्मियों में सिल्क की साड़ियां पहनना थोड़ा मुश्किल हो जाता है और इसीलिए मौसम बदलते ही इन्हें संभाल कर रखने की जरूरत होती है, ताकि मौका लगने पर जब इन्हें पहना जाए तो यह सही बनी रहें। लेकिन कई बार छोटी-छोटी गलतियों की वजह से सिल्क की महंगी साड़ियां खराब हो जाती हैं। अगर आप चाहती हैं कि आपकी सिल्क की साड़ियां सालों-साल खूबसूरत नजर आएं तो आपको इन 5 बातों का खास ख्याल रखना चाहिए।

साड़ी की तह समय-समय पर बदलें

anushka sharma in silk saree

सिल्की साड़ी को तह करके रख देने के बाद अगर लंबे समय तक वह न खोली जाए तो उसके कुछ हिस्से आपस में चिपक सकते हैं। इससे साड़ी खराब हो सकती है। अगर आप साड़ी को नए जैसा बनाए रखना चाहती हैं तो समय-समय पर उनकी तह को बदलती रहें। इससे साड़ी की परतें आपस में नहीं चिपकेंगी नहीं और आपको यह भी पता चल जाएगा कि उनमें किसी तेरे का कीड़ा तो नहीं लग रहा। इस बात का ध्यान रखें कि हर तीसरे महीने में साड़ी सिल्क की तह जरूर बदल दें।

इसे जरूर पढ़ें: ऑफिस के लिए मां की साड़ी को कुछ इस तरह करें स्टाइल

इस तरह साड़ी को कवर करें

साड़ी को आप किसी कॉटन या muslin कपड़े में लपेट कर रख सकती हैं। इसके लिए आप सॉफ्ट टॉवल का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। बाजार में साड़ी बैग भी उपलब्ध हैं, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि सिल्की साड़ी के लिए कॉटन बैग ज्यादा उपयुक्त रहते हैं। पॉलिएस्टर बैग दूसरे फाइबर वाली साड़ियों के लिए ज्यादा सही रहते हैं। ऐसा इसलिए, क्योंकि muslin और कॉटन कपड़े में साड़ी रखने से उनमें किसी तरह का रिएक्शन नहीं होता और उनमें हवा भी पास होती रहती है।

इसे जरूर पढ़ें: धक-धक गर्ल माधुरी दीक्षित के ये हैं लेटेस्ट साड़ी लुक्स

सिल्क साड़ी पहनने के बाद उसे हवा में जरूर सुखाए

सिल्क साड़ी पहनने के बाद उसमें पसीना हो सकता है। इसीलिए उसे पहनने के बाद हवा में जरूर सुखाएं। अगर आप चाहें तो इसे सुरक्षित तरीके से धो भी सकती हैं। इसके लिए आप पानी माइल्ड डिटर्जेंट जैसे कि ईजी और फिर शैंपू का इस्तेमाल कर सकती हैं। जब सिल्क के कपड़े धोएं तो उन्हें सीधे रस्सी पर डालने के बजाय एक मुलायम टावर पर डालें। इससे उसका पानी आसानी से एब्सॉर्ब हो जाएगा। 

सिल्क साड़ी के रंग रहेंगे नए जैसे

deepika padukone in silk saree

सिल्क साड़ी का रंग ना उड़े, इसके लिए घर पर वॉश करने के बाद उन्हें छाया में डालें। अगर आपको घर पर सिल्क के कपड़े धोने में मुश्किल लगें तो आप उन्हें ड्राई क्लीन के लिए भी दे सकती हैं। सिल्क की साड़ी बाहर रखने पर भी उसका रंग उड़ सकता है अगर आप चाहती हैं कि सिल्क साड़ी के ब्राइट कलर्स हमेशा नए जैसे नजर आए तो उसे ठंडी और अंधेरी जगह पर स्टोर करके रखें।

Recommended Video

 

एंब्रॉयडरी वाली साड़ी को ऐसे रखें

अगर आपकी सिल्क साड़ी में हैवी एंब्रॉयड्री वर्क है और नेट लाइनिंग भी है तो उसके धागे आपस में फंसने से बचाने के लिए उसकी तह धीरे-धीरे खोलें। बेहतर होगा कि आप साड़ी को पहनने के बाद इस तरह फोल्ड करें कि उसके धागे आपस में ना उलझें। इससे साड़ी की चमक बरकरार रहेगी। 

मेटल हैंगर का इस्तेमाल ना करें

सिल्की साड़ी को अगर आप रिंकल फ्री रखना चाहती हैं तो बेहतर होगा कि आप उससे हैंगर में टांग कर रखें। इससे वह मुड़ेगी नहीं और आप उसे आसानी से पहन सकेंगी, लेकिन इस बात का ध्यान रखें की हैंगर पर टांगने के बाद समय-समय पर उसके फोल्ड बदलती रहें। इससे साड़ी कटने की आशंका नहीं रहेगी। लेकिन इस बात का खास खयाल रखें कि हैंगर मेटल का ना हो, क्योंकि मेटल के संपर्क में आकर जरी का रंग उड़ सकता है।

नेप्थलीन बॉल्स की जगह नीम की पत्तियां करें इस्तेमाल

madhuri dixit in silk saree

बहुत ही महिलाएं सिल्की साड़ियों में कीड़ा लगने से बचाने के लिए उसमें नेप्थलीन बॉल्स रख देती हैं, लेकिन इससे साड़ी का जरी वर्क खराब हो सकता है और उनका रंग उड़ सकता है। बेहतर होगा कि आप साड़ी को कीड़ों से बचाने के लिए उसमें नीम की पत्तियां रखें। इससे साड़ी पूरी तरह से सुरक्षित रहेंगी। नए जूते, इलेक्ट्रॉनिक्स सामान या बोतल आदि लेने पर उसमें सिलिका जेल के सैशे मिलते हैं। इन्हें फेंकने के बजाय अपनी सिल्की साड़ी में रख सकती है। इससे साड़ी के आसपास हवा में अतिरिक्त मॉइश्चर एब्जॉर्ब हो जाता है, जिससे सिल्क साड़ी सुरक्षित रहती है।

Image Courtesy: Instagram(@madhuridixitnene, deepikapadukone, anushkasharma)