सर्दियों के मौसम में ऐसा कई बार होता है, जब 3 से 4 दिन तक धूप नहीं निकलती। इसकी वजह से आउटडोर प्लांट्स मुरझाने शुरू हो जाते हैं। यही नहीं कई बार ठंडी हवाओं की वजह से पेड़-पौधे हरे-भरे नहीं रह पाते। सर्दियों के मौसम में कई बार अधिक ठंड की वजह से पौधों के पत्ते से टूटकर गिरने लगते हैं। यह सब कुछ मौसम का प्रभाव होता है, जिसे हम शुरुआत में नजर अंदाज कर देते हैं। गार्डन में रखे पेड़-पौधों की देखभाल करने का तरीका मौसम के अनुसार होना चाहिए।

कई बार सुबह कोहरे की वजह से आउटडोर प्लांट्स पूरी तरह से खराब हो जाते हैं। ऐसे मौसम में पौधों की देखरेख अधिक करनी पड़ती है। इसके अलावा मौसम के अनुसार इनमें खाद-पानी देने की आवश्यकता होती है। वहीं आपके भी गार्डन के पेड़-पौधे खराब हो रहे हैं तो यहां बताए गए टिप्स को आजमा सकती हैं। 

नया पौधा लगाने की गलती ना करें

plants care in winter
 
तापमान में जैसे-जैसे गिरावट आती हैं पौधों का सरवाइव करना उतना ही मुश्किल हो जाता है। इसलिए सर्दियों में उन्हीं पेड़-पौधों को लगाएं, जो मौसम के हिसाब से उपयुक्त है। कई बार हम गर्मियों में लगने वाले पौधों को सर्दियों में लगाते हैं। ऐसे पेड़-पौधे लगाने से कोई फायदा नहीं होगा, उल्टा आपका समय बर्बाद होगा। इसलिए गार्डन में अगर कोई समर प्लांट्स खराब हो रहा तो नया लगाने के बजाय किसी ऐसे पेड़ पौधों को लगाएं जो सर्दियों में आसानी से लग सकता है। इस तरह के पेड़-पौधों को सरवाइव करने में दिक्कत नहीं होगी।
 

खराब पत्तों और टहनियों को हटाए

कोहरे या फिर ठंडी हवाओं की वजह से पत्ते ना सिर्फ मुरझा जाते हैं बल्कि यह बार यह पूरी तरह से खराब भी हो जाते हैं। ऐसी स्थिति में पत्ते और टहनियों को काटकर हटा दें। कोशिश करें कि मिट्टी के ऊपर मौजूद पत्तों को भी हटाकर साफ कर दें। पत्तों को काटने से पहले पौधों को अच्छी तरह देख लें कि समस्या सिर्फ कुछ ही पत्तों में है या सभी पत्तों में है। इसके बाद कटिंग करना शुरू कर दें। सूखे और मुरझाए हुए पत्ते पौधे से पोषण खींचने का काम करते हैं और इसी वजह से दूसरे पत्ते भी खराब होने लगते हैं।

नहीं होती खाद आवश्यकता

plants in winter

सर्दियों के मौसम में पेड़-पौधों को बिना बात के खाद देने की आवश्यकता नहीं है। कुछ पेड़-पौधे और वेजिटेबल प्लांट्स को छोड़कर अन्य किसी प्लांट्स में खाद की आवश्यकता नहीं होती। इसलिए बिना बात के खाद का इस्तेमाल ना करें। वहीं कुछ पौधों में आपको लगता है कि खाद डालने की आवश्यकता है तो पहले किसी विशेषज्ञ से पूछें और फिर मात्रा का ध्यान रखते हुए इस्तेमाल करें। वहीं अगर आप खाद के तौर पर मिट्टी में कुछ मिक्स करना चाहती हैं तो राख का इस्तेमाल कर सकती हैं। यह ठंडी हवाओं और कोहरे से पत्तों को बचाने का काम करता है। वहीं खाद का इस्तेमाल स्प्रिंग सीजन के शुरुआत में करें।

पौधों को दें घर में जगह

dying plants
 
सभी प्लांट्स को घर के अंदर जगह देना पॉसिबल नहीं है। ऐसे में गमले में मौजूद पौधों को घर के बालकनी या फिर अंदर खुली जगह पर रख दें। भले ही यह मुश्किल काम है, लेकिन गमले के पौधों को जीवित रखने के लिए यह करना जरूरी है। जब भी धूप निकले इन पौधों को बाहर निकालकर कुछ देर के लिए छोड़ दें। इसके अलावा जिन पौधों को आप घर के अंदर नहीं ला सकती, उसे कवर कर दें। कुछ ऐसी व्यवस्था बनाएं, जिससे आप पेड़-पौधों को कवर कर सकती हैं। कुछ लोग पौधों को प्लास्टिक से कवर कर देते हैं। इसके लिए पौधों के आसपास लंबे-लंबे डंडे लगा दें और उसके सहारे प्लास्टिक लगा लें, ताकि सारे पेड़-पौधे कवर हो जाए। इसके अलावा जिप बैग का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।
 

Recommended Video

सूखे हुए घास का करें इस्तेमाल

सर्दियों में पौधों को बचाने के लिए आप सूखे घास-पात का इस्तेमाल कर सकती हैं। आप चाहें तो लकड़ियों के बारीक टुकड़ों का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। यह पौधों में मौजूद एक्सट्रा नमी को अब्सॉर्ब कर लेते हैं। इसके लिए पेड़-पौधों के गमले में मिट्टी को ऊपर इसकी परत बिछा दें। पौधों में पानी रोजाना डालने के बजाय एक दिन बीच कर कर डालें। ध्यान रखें कि पौधों में पानी अधिक नहीं होना चाहिए, इससे पेड़-पौधे खराब हो सकते हैं।

उम्मीद है कि आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी। साथ ही, आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें कमेंट कर बताएं। साथ ही, इसी तरह के अन्य आर्टिकल को पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हर जिंदगी के साथ।