घर एक ऐसा स्थान है, जहां हर किसी को सुकून मिलता है। इन दिनों घर का स्वच्छ और स्वस्थ पर्यावरण होना बहुत जरूरी है इसलिए प्लांटिंग करना अधिक घरों में पसंद किया जाने लगा है। प्लांटिंग के जरिए घर को ना सिर्फ फ्रेश हर्ब्स मिलती हैं, बल्कि यह होम डेकोर का भी एक अहम हिस्सा बन गए हैं, जो आपके घर को ब्यूटीफुल बनाते हैं। इसके अलावा, घर में प्लांटिंग करने के लिए बहुत अधिक पैसे भी खर्च नहीं होते हैं, इसलिए प्लांट्स को हर वर्गीय परिवार प्राथमिकता देने लगे हैं। 

अगर आप भी कुछ इसी तरह का शौक रखती हैं, तो आज इस आर्टिकल में हम आपको आयुर्वेदिक पौधे इन्सुलिन को लगाने के बारे में बताने जा रहे हैं। इन टिप्स को अपनाकर आप आसानी से गमले में घर पर इन्सुलिन का पौधा उगा सकती हैं, तो आइए जानते हैं-

क्या होता है इन्सुलिन का पौधा? 

insulin plant in hindi

उम्र के साथ लोगों को शुगर, ब्लड प्रेशर, दमा आदि की शिकायत होने लगती है। कुछ लोगों को दवाइयां और इन्सुलिन इंजेक्शन पर निर्भर रहना पड़ता है। हालांकि, कई शोध के मुताबिक शुगर के मरीज प्राकृतिक तरीकों से अपने रक्त में ग्लूकोस की मात्रा को कम कर सकते हैं। इसलिए इन दिनों लोगों के बीच ‘इन्सुलिन’ नामक पौधे को लेकर थोड़ी जागरूकता बढ़ी है क्योंकि इसकी आयुर्वेदिक पत्तियों को चबाने से रक्त में ग्लूकोस (शुगर) की मात्रा कम हो जाती है।

आपको बता दें कि भारत में इसे ‘इन्सुलिन’ या ‘स्पाइरल फ्लैग’ के नाम से भी जाना जाता है। यह पौधा शुगर के मरीजों के लिए बहुत लाभकारी है। इसके अलावा, इस पौधे की बनावट और पत्ते बहुत ही खूबसूरत होते हैं। यही कारण है कि इसे बहुत से घरों में ऑर्नामेंटल पौधे के रूप में भी लगाया जाता है। आप भी इन्सुलिन पौधे को आसानी से अपने घर में लगा सकती हैं, पर कैसे? चलिए हम बताते हैं.... 

सामग्री की ज़रूरत

insulin plant

पौधे को लगाने के लिए आपको कुछ चीजों की ज़रूरत पड़ेगी। अगर आपके पास कुछ चीजें नहीं हैं, तो आप बाज़ार से भी खरीद सकती हैं। तो आइए जान लेते हैं... 

  • इन्सुलिन पौधे की राइजोम या कटिंग
  • गमला
  • मिट्टी
  • खाद
  • पानी

कैसे लगाएं  

tips to grow

  • इन्सुलिन की कटिंग या राइजोम को गमले में लगाने के लिए सबसे पहले आप मध्यम या बड़ा आकार का अपनी इच्छानुसार गमला लें। 
  • अब आप 50% कोको-पीट और 50% वर्मीकम्पोस्ट (केंचुआ खाद) लें और दोनों को अच्छी तरह से मिला लें। फिर इसे गमले में भर दें। 
  • पॉटिंग मिक्स हो जाने के बाद राइजोम या कटिंग लें। कटिंग लेते समय टहनी को तिरछा काटें और गमले में लगा दें। 
  • कटिंग को लगाने के बाद अब बारी आती है गमले में पानी डालने की। तो अब आप उचित मात्रा में गमले में अच्छी तरह से पानी डाल दें। 

अब आपका गमला पूरी तरह से तैयार है लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि कल ही इसमें पौधा बड़ा हो जाएगा। पौधा की ग्रोथ होने में काफी टाइम लगता है, तो आप थोड़ा सब्र करें। अगर आपको इन्सुलिन पौधे की कटिंग नहीं मिल रही है, तो आप नर्सरी से भी पौधा खरीदकर ला सकती हैं।

Recommended Video

अन्य टिप्स 

insulin plant at home

  • आप रोजाना गमले में नियमित रूप से पानी डालें। 
  • गमले में लगे कटिंग को आप लगभग 20 दिनों के बाद चेक कर सकती हैं। साथ ही, अगर आपकी कटिंग पूरी तरह से अंकुरित (फैलाव आना) हो गई है, तो समझ लीजिए आपका पौधा सही उगा है। 
  • इस गमले की थोड़ी ग्रोथ लगभग 20 से 25 दिनों के बाद होना शुरू होगी। 
  • ध्यान रहे कि गमले पर सीधी धूप न पड़े।  
  • इस पौधे को बहुत ज्यादा देखभाल की जरूरत नहीं होती है। आप महीने में एक बार खाद डाल सकती हैं। 

इन टिप्स को अपनाकर आप आसानी से इन्सुलिन का पौधा घर में ही उगा सकती हैं। आपको ये लेख पसंद आया हो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। साथ ही जुड़ी रहें हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (Freepik and shutterstock)