आमतौर पर लोग घर में शोपीस वाले पौधे या फिर फूलों को लगाना पसंद करते हैं, क्योंकि यह घर की खूबसूरती को बढ़ाते हैं। हालांकि, अगर आपको गार्डेनिंग में दिलचस्पी है तो कुछ ऐसे पौधों को भी घर में जगह दी जा सकती है जो बेहद काम के हैं। हम बात कर रहे हैं इलायची की, जिसे आप घर के एक गमले में आसानी से उगा सकती हैं। यह बहुत बड़ा नहीं होता, इसलिए इसे उगाने के लिए गमले का भी उपयोग किया जा सकता है। हालांकि, हम यहां छोटी इलायची लगाने की प्रक्रिया के बारे में बात करेंगे। छोटी इलायची का इस्तेमाल हम अक्सर खाने या फिर माउथ फ्रेशनर के तौर पर करते हैं।

कुछ लोग इलायची का पौधा मार्केट से लेकर उगाते हैं तो कुछ इसके बीजों से। हालांकि, किराने की दुकान पर मिलने वाले बीज सूखे हुए होते हैं, जिससे पौधा नहीं उगाया जा सकता है। अगर आप बीजों के इस्तेमाल से पौधा उगाना चाहती हैं तो नए बीज खरीदकर लाने होंगे। नए बीज आसानी से मिट्टी के अंदर जाने के बाद अंकुरित हो जाते हैं, लेकिन सूखे हुए बीजों में ऐसा नहीं होगा। इसलिए अगर आप बीज से पौधा उगाना चाहती हैं तो किसी नर्सरी से या फिर ऑनलाइन बीज खरीद सकती हैं, लेकिन ऑनलाइन में क्वालिटी का ध्यान रखें।

गमले में मिट्टी के साथ इन चीजों को मिलाएं

cardamom seeds

अगर आपको मार्केट से बीज मिल जाते हैं तो आपको गमले में पौधा लगाना आसान होगा। कई लोग बीज एयरटाइट कंटेनर में पैक कर रातभर सोक होने के लिए छोड़ देते हैं। इसके बाद उसे गमले में पौधा उगाने के लिए इस्तेमाल करते हैं। हालांकि, अगर आप पहली बार इस तरह का कोई पौधा लगा रही हैं तो मार्केट से बीज लेकर आएं और उसे एक चम्मच पानी में सोक होने के लिए रखें। अब एक गमले में लाल और काली मिट्टी मिक्स कर दें। अगर आपके पास लाल मिट्टी नहीं है तो गोबर और कोको पीट का इस्तेमाल कर सकते हैं। इन चीजों को अच्छी तरह मिक्स करें। इस दौरान ध्यान रखें कि मिट्टी साफ हो उसमें कीड़े-मकोड़े ना हों। मिट्टी में पानी का छिड़काव करें और फिर बीज को अंदर डाल दें। अब ऊपर से थोड़ी मिट्टी और कोको पीट मिक्स करें, फिर पानी छिड़कें।

इसे भी पढ़ें: Gardening Tips: गुड़हल के पौधे में लग जाएं सफ़ेद कीड़े तो ये 3 ट्रिक्स आएंगे काम

पौधा उगाने में लगता है समय

catdamom plant

पौधा अंकुरित होने में 4 से 6 दिन लग जाते हैं, यह बीज पर निर्भर करता है। पौधा जब अंकुरित हो जाए तो उससे छेड़छाड़ ना करें, बल्कि सुबह और शाम सीमित मात्रा में पानी का छिड़काव करते रहें। वहीं जब तक बीज अंकुरित होकर बाहर नहीं निकल आता तब तक इसका खास ध्यान रखना होगा। एक महीने बाद इलायची का पौधा अच्छी तरह निकल आता है।

  • रोजाना सुबह के वक्त इसको 2 या 3 घंटे तक धूप में रखें। ऐसा तब करना है जब गमले में बीज अंकुरित होकर पौधे के रूप में निकल आए। अगर अभी भी बीज है तो उसे बाहर छांव में ही रखें।
  • शुरुआत में खाद के तौर पर गमले में गोबर के अलावा किसी अन्य चीजों का इस्तेमाल ना करें। वहीं पौधा थोड़ा बड़ा हो जाए तो होममेड चीजों को खाद के तौर पर इस्तेमाल करें।
  • गर्मियों में इसे सुबह-शाम नियमित पानी देने की आवश्यकता होती है। वहीं इस बात का ध्यान रखें कि इलायची का पौधा बीज से लगाना काफी मुश्किल होता है, इसलिए खास ध्यान देने की आवश्यकता होती है।
  • इलायची उगाने के लिए मीडियम साइज का गमला लें, जो ना ज्यादा बड़ा हो और ना ज्यादा छोटा। अब मिट्टी में एक उंगली के बराबर गड्ढा करें और फिर बीज डाल दें। इसके बाद कुछ दिन तक इंतजार करें।

Recommended Video

जल्दबाजी न करें

अगर आप सोच रही हैं कि इलायची का पौधा लगाने के बाद फल तुरंत मिलने लगेगा तो ऐसा नहीं है। इसके लिए आपको इंतज़ार करना होगा, अगर पौधा सही तरीके से ग्रो कर रहा है तो उसमें फल आने में 3 से 4 साल लग जाएंगे। यह आपकी देखरेख पर निर्भर करता है। बता दें कि इलायची का पौधा लंबे वक्त तक जीवित रहता है। मुख्य तौर पर केरल में इसकी खेती की जाती है, क्योंकि यहां की जमीन छायादार होती है जो इलायची की खेती के अनुकूल होती है। बारिश के मौसम में इलायची का पौधा उगाना बेस्ट माना जाता है। इसके बेहतर विकास के लिए छायादार जगह ही चुनें।

आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।