एलोवेरा का छोटा सा पौधा आपको अनेक लाभ पहुंचा सकता है। फिर चाहे वजन कम करना हो या फिर त्‍वचा का सौंदर्य बढ़ाना हो, एलोवेरा हर तरह से शरीर को लाभ पहुंचाता है। इतना ही नहीं यह आपके गार्डन की खूबसूरती में भी चार-चांद लगा देता है। आमतौर पर लोग एलोवेरा जैल और इसके जूस का बहुत इस्‍तेमाल करते हैं। यह दोनों ही चीजें बाजार में आपको बहुत ही आसानी से मिल जाती हैं, मगर आप यदि घर पर ही एलोवेरा का पौधा लगा लें तो आप फ्री में इसके लाभ उठा सकते हैं। 

एलोवेरा का पेड़ लगाने का एक तरीका होता है। अगर आप सही तरह से एलोवेरा का पेड़ लगाते हैं तो यह बहुत अच्‍छी तरह से ग्रो करता है। चलिए हम आपको बताते हैं घर में एलोवेरा पेड़ लगाने का सही तरीका। 

इसे जरूर पढ़ें: 'मनी प्‍लांट' की इस तरह करेंगी देखभाल तो हमेशा रहेगा हरा-भरा

कैसे लगाएं एलोवेरा का पौधा 

एलोवेरा को आप घर में 3 तरह से उगा सकते हैं। इसकी पत्तियों के टुकड़ों, जड़ों और पौध के आस-पास निकली छोटी-छोटी पत्तियों के जरिए यह पौधा घर पर उगाया जा सकता है। मगर बेस्‍ट तरीका है कि आप एलोवेरा के पौधे की 3 से 4 छोटी पत्तियां लें और उन्‍हें नीचे की ओर से मिट्टी में अच्‍छी तरह से दबा दें। इसे आप स्‍टेप्‍स में समझ सकते हैं। 

  • सबसे पहले एलोवेरा की 3-4 पत्तियों को अच्‍छी तरह से साफ कर के अलग-अलग कर लें। 
  • इसके बाद प्‍लास्टिक के एक डिस्पोजल गिलास में साधारण मिट्टी लें। इस मिट्टी के बीच में हाथ से गहरी जगह बनाएं और एलोवेरा (एलोवेरा जैल बनाने का तरीका जानें) की पत्तियों के निचले हिस्‍से को मिट्टी में अच्‍छी तरह से दबा दें। 
  • इसके बाद आपको गिलास के निचले हिस्‍से में 3-4 छेद करने हैं ताकि पानी जमा न हो। यदि पानी जमा होगा तो एलोवेरा का पौधा ग्रो नहीं करेगा बल्कि यह सूख जाएगा। 
  • अब इस पौधे को लगभग 50 दिनों के लिए शेड में रखें। जब नई पत्तियां निकलने लग जाएं तो आप इसे 6 इंच के गमले में ट्रांसफर कर सकते हैं। 
  • इसके लिए गमले में पानी को बाहर निकालने के लिए अच्‍छा ड्रेनेज सिस्टिम होना चाहिए। इसलिए गमले में मिट्टी भरने से पहले उसमें 4-5 छोटे छेद बनाएं। इसके बाद उसमें पत्‍थर डालें और फिर मिट्टी डालें। 
  • इसके बाद एलोवेरा के पौधे को डिस्‍पोजल गिलास से निकालें और गमले में लगा दें। 
  • कछ दिन बाद आप इस पौधे को डायरेक्‍ट सन लाइट में भी रख सकते हैं। 

इन बातों का रखें ध्‍यान 

एलोवेरा के पेड़ को सही तरह से लगाने के साथ-साथ उसकी देख-रेख करना भी बहुत जरूरी है वरना वह खराब हो कर सूख जाता है। एलोवेरा के पौधे की देख-रेख में इन तीन बातों का विशेष ध्‍यान रखें। 

कब लगाएं 

एलोवेरा का पौधा कभी भी गर्मियों के मौसम में न लगाएं। हमेशा मॉनसून या सर्दियों के मौसम में जब तापमान 20 से 35 डिग्री के बीच में हो तब ही इस पौधे को लगाएं। ऐसे में आपका एलोवेरा का पौधा अच्‍छी तरह से ग्रो करता है। (घर में तुलसी के पौधा उगाने का सही तरीका जानें)

पानी कब डालें 

एलोवेरा के पेड़ में ज्‍यादा पानी की जरूरत नहीं होती है। अब एलोवेरा के पेड़ में पानी तब ही डालें जब उसकी मिट्टी सूख गई हो। ज्‍यादा पानी डालने से एलोवेरा का पौधा खराब हो जाता है। 

Recommended Video

किस तरह की खाद डालें 

वैसे तो एलोवेरा के पौधे (एलोवेरा के इस्‍तेमाल में न करें ये गलती) को ग्रो करने के लिए किसी भी तरह की खाद की जरूरत नहीं होती है। साधारण मिट्टी में ही इसे उगाया जा सकता है। मगर फिर भी आपको खाद डालनी हैं तो ध्‍यान रखें कि एलोवेरा में पड़ने वाली खाद में फास्फोरस की मात्रा अधिक होनी चाहिए। 

पेड़ों की देखभाल और उनकी अच्‍छी ग्रोथ से जुड़ी और भी आसान टिप्‍स जानने के लिए पढ़ती रहें हरजिंदगी।

Image Credit: Freepik