हिंदू धर्म में पितृ पक्ष का विशेष महत्व है, मान्यता है कि इन दिनों पितरों और मृत पूर्वजों के लिए पूजा-पाठ करने और तर्पण करने से पितर प्रसन्न होते हैं और हमारी सभी मनोकामनाओं को पूरा करते हैं। इस दौरान पितरों को प्रसन्न करने के लिए लोग कई तरह के प्रयास करते हैं और ऐसी मान्यता है कि पितर प्रसन्न होकर घर को धन-धान्य से परिपूर्ण कर देते हैं। ऐसे प्रयासों से पितरों की आत्मा को शांति भी मिलती है और हमारे कर्मों का अच्छा फल पितृ पक्ष में मिलता है। ऐसी ही कई मान्यताएं हैं जिन्हे पूरा करने से पूर्वज प्रसन्न होकर कृपा दृष्टि बरसाते हैं। कहा जाता है पितृ पक्ष के दौरान कुछ विशेष पौधे लगाने से पितरों की कृपा सदैव बनी रहती है। आइए जानें कौन से हैं वो पौधे -

पीपल का पौधा 

शास्त्रों में कई जगह ये बताया गया है कि पीपल का वृक्ष अत्यंत फलदायी वृक्षों में से एक है। इसलिए यदि पितृ पक्ष में घर में किसी पवित्र स्थान पर पीपल का वृक्ष लगाया जाता है तो निश्चय ही रुके हुए काम भी बन जाते हैं। पितृ पक्ष में यदि आप ये वृक्ष अपने घर पर नहीं लगा पा रही हैं तब भी इस पर नियमित रूप से जल चढाने से पूर्वज प्रसन्न होते हैं। इसके अलावा पीपल के वृक्ष पर दीया जलाना भी लाभकारी होता है। 

Recommended Video

Pitru Paksha 2020: पितृ दोष के लक्षण और उसके निवारण के उपाय पंडित जी से जानें

तुलसी का पौधा 

pitra paksh

वैसे तो तुलसी का पौधा घर में जरूर होता है क्योंकि इस पौधे की पूजा करने से लाभ मिलता है। तुलसी हमारे स्वास्थ्य के लिए भी गुणकारी है। मान्यतानुसार यदि मृतक के मुख में तुलसी दल रख दिया जाता है तो उसे सीधे स्वर्ग की प्राप्ति होती है। इसलिए यदि पितृ पक्ष में तुलसी का पौधा घर में लगाया जाए और नियमित इस पर जल चढ़ाया जाए तो इससे हमारे पितर प्रसन्न होकर आशीर्वाद देते हैं। 

शमी का पौधा 

शमी के पौधे को शनि देव का पौधा माना जाता है। कहा जाता है कि ये पौधा घर में जरूर लगा होना चाहिए। जिस घर में शमी का पौधा होता है उस घर में कभी भी नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश नहीं हो सकता है। ऐसा कहा जाता है कि शमी का पौधा सारी नकारात्मक ऊर्जाओं को अपने आप में प्रविष्ट कर लेता है। इसलिए पितृ पक्ष के दौरान शमी का पौधा घर में जरूर लगाएं, इससे पितर अवश्य प्रसन्न होते हैं। 

बरगद का पौधा

pitra paksh  ()

बरगद का वृक्ष सबसे ज्यादा आयु तक चलने वाला वृक्ष है और मान्यता है कि ये एक आयु प्रदान करने वाला वृक्ष है, साथ ही ये मोक्ष का द्वार भी प्रशस्त करता है। यदि आपको ऐसा लगता है कि पितरों को किसी कारणवश मुक्ति नहीं मिली है तो घर में बरगद का पौधा अवश्य लगाएं और इसके पास बैठकर पितरों की मुक्ति हेतु आराधना करें। 

इसे जरूर पढ़ें:पितृपक्ष में की गई ये गलतियां कर सकती हैं पितरों को नाराज़

बेल का पौधा 

pitra paksh

कहा जाता है बेल पत्र शिव जी को अत्यंत पसंद है और बेल पत्र चढाने से भगवान् शिव अत्यंत प्रसन्न होते हैं। इसलिए पितृ पक्ष के दौरान बेल के पौधे का घर में रोपण करने से शिव जी तो प्रसन्न होते ही हैं साथ ही पूर्वजों की मुक्ति का मार्ग भी प्रशस्त होता है। यही कारण है कि बेल का पौधा घर में पितृ पक्ष के दौरान जरूर लगाना चाहिए।

 

ऐसा माना जाता है कि इन पौधों को पितृ पक्ष के दौरान लगाना अत्यंत लाभकारी होता है। इसलिए इस बार पितरों को प्रसन्न करने के लिए ये पौधे जरूर लगाएं। ऐसा करने से आपको जीवन में हर कार्य में सफलता अवश्य मिलेगी।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik and pixabay