पौधे की उचित देखभाल न कर पाना, पौधों में पानी की अधिक मात्रा का होना, किसी संक्रमित पौधे से या प्रतिकूल मौसम जैसे कई कारक होते हैं जो पौधों में फंगस का कारण बन सकते हैं। पौधों का फंगस काफी हद तक उन बीमारियों की तरह है जो हमें परेशान करके लंबे समय के लिए बीमार कर देती हैं। ठीक उसी तरह फंगस पौधों की पत्तियों और ऊपरी हिस्से की तो नुकसान पहुंचाता ही है और ये पौधे की जड़ों को भी खोखला कर देता है। इस पूरी प्रक्रिया में पौधा बीमार होकर पूरी तरह ख़त्म हो जाता है। 

पौधों में फंगस रोग अक्सर हल्के आर्द्र या नम मौसम की स्थिति के कारण या कुछ रोगजनकों के कारण होते हैं जो मिट्टी को भी खराब कर देते हैं। हर फंगस को नमी पसंद होती है इसलिए अपने पौधों की देखभाल करते समय आपको अपने बगीचे या उस जगह के तापमान के स्तर की जांच करनी चाहिए जहां आपने पौधों को लगाया है। पौधों को फंगस से बचाने के लिए आप यहां बताए कुछ आसान उपायों को अपना सकते हैं।

पौधों का फंगस क्या है 

what is plant fungus

फंगस एक ऐसा रोग है जो विभिन्न पौधों और वनस्पतियों को प्रभावित करता है। मुख्य रूप से पौधों में सफ़ेद फंगस लगता है। यह सफेद फंगस इनडोर और आउटडोर पौधों की पत्तियों और तनों को कवर कर सकता है और कुछ मामलों में ये पूरे पौधे को, फूलों और कलियों सहित प्रभावित करता है। सफेद और भूरे रंग के फंगस पौधों में अन्य बीमारियों का कारण भी बनते हैं। यह अन्य पौधों में जल्दी फैल सकता है। जबकि कुछ फंगस हानिरहित होते हैं। लेकिन फंगस एक बड़ी समस्या बन सकता है यदि ये ज्यादा फ़ैल जाता है।  फंगस पौधों के लिए प्रकाश संश्लेषण को कठिन बना सकता है, जिससे वे धीरे-धीरे कमजोर हो जाते हैं और समय के साथ मुरझा जाते हैं, जिससे आपकी फसलों की उपस्थिति और स्वाद भी प्रभावित होता है।

इसे जरूर पढ़ें:Gardening Tips: गुड़हल के पौधे में लग जाएं सफ़ेद कीड़े तो ये 3 ट्रिक्स आएंगे काम

पौधों में फंगस का कारण 

उच्च आर्द्रता और कम वायु प्रवाह पौधों में किसी भी तरह की फंगस का कारण होता है। इसके अलावा पर्याप्त जगह के बिना अपने पौधों को रोपना, जहां उसे उचित वायु परिसंचरण नहीं मिलता है तब भी पौधों में फंगस लगने लगता है। कई बार हम अपने गमले या गार्डन के पौधों को जरूरत से ज्यादा पानी दे देते हैं जिसकी वजह से पौधों में नमी बढ़ जाती है और ये फंगस का कारण बनती है। सूरज की पर्याप्त रोशनी न मिल पाने से भी फंगस लग सकता है। 

पौधों पर फंगस से कैसे पाएं छुटकारा 

पौधों में फंगस कुछ घरेलू तरीके अपनाकर और पौधों की उचित देखभाल व् पर्याप्त मात्रा में पानी देकर रोकी जा सकती है। आइए फंगस को हटाने के कुछ तरीकों के बारे में जानें -

नीम के तेल का प्रयोग 

neem oil in plant

नीम का तेल एक प्रभावी कीटनाशक की तरह प्राकृतिक रूप से काम करता है। ये पौधों से फंगस को हटाने में मदद करता है। इसके इस्तेमाल के लिए लगभग 2 लीटर पानी में 2 चम्मच नीम का तेल डालकर अच्छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण को एक स्प्रे बोतल में भर लें और फंगस संक्रमित पौधे पर इस मिश्रण का स्प्रे पौधे के हर एक प्रभावित हिस्से पर करें। इसके इस्तेमाल से बहुत जल्द ही फंगस दूर होने लगता है। 

इसे जरूर पढ़ें:अगर कम स्पेस में बनाया है होम गार्डन, तो सब्जियों से लेकर फूल उगाने तक ये 5 टिप्स आएंगे काम

एप्पल साइडर विनेगर का इस्तेमाल करें

सिरका पौधों की फंगस  को नष्ट करने और पौधों की पत्तियों से सफेद धब्बे को खत्म करने का एक सिद्ध तरीका है। एक लीटर पानी के साथ दो बड़े चम्मच एप्पल साइडर विनेगर मिलाएं और पौधे के संक्रमित पत्तों और तनों पर स्प्रे करें। इस प्रक्रिया को कुछ दिनों में दोहराएं जब तक कि फंगस के सभी निशान पौधे से गायब न हो जाएं।

Recommended Video

माउथवॉश का करें इस्तेमाल 

पौधों में सफेद फंगस से बचने के लिए इथेनॉल आधारित माउथवॉश एक प्रभावी उपचार हो सकता है। एक भाग माउथवॉश को तीन भाग पानी में मिलाकर प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं। हालांकि माउथवॉश सफेद फंगस के लिए एक प्रभावी उपाय है, लेकिन यह नए पौधों के विकास के लिए हानिकारक हो सकता है और अगर बहुत बार इस्तेमाल किया जाए तो यह पत्तियों को जला भी सकता है। इसलिए इसका इस्तेमाल सीमित मात्रा में ही करें। 

बेकिंग सोडा का इस्तेमाल 

spray in plants

पौधों से फंगस हटाने के लिए दो लीटर पानी में आधा चम्मच लिक्विड सोप और एक बड़ा चम्मच बेकिंग सोडा मिलाएं। सुनिश्चित करें कि इसे तुरंत इस्तेमाल करें और इसे कहीं स्टोर न करें। बेकिंग सोडा के इस स्प्रे को एक स्प्रे बोतल में डालें और फंगस लगे पौधे के हर एक हिस्से पर डालें। इस मिश्रण का इस्तेमाल तब तक पौधों में नियमित रूप से करें जब तक कि फंगस पूरी तरह दूर न हो जाए। जब पौधा पूर्ण सूर्य के प्रकाश के संपर्क में हो तो मिश्रण न डालें।

पौधों को फंगस से बचाने के लिए ध्यान रखें ये बातें 

  • पौधों को ओवर वॉटरिंग से बचाएं। जरूरत पड़ने पर ही पौधों को पानी दें। 
  • पौधे गमले में हों या गार्डन में बीच-बीच में इनके आस-पास की नमी को चेक करते रहें। ज्यादा नमी फंगस का कारण बनती है। 
  • बाजार से नए पौधे लाते समय उनकी अच्छी तरह से जांच करें कि उनमें कहीं फंगस न लगा हो। 
  • घरेलू किसी भी नुस्खे को आजमाने से पहले पौधे के किसी एक हिस्से में पैच टेस्ट जरूर करें। 

उपर्युक्त सभी टिप्स अपनाकर आप पौधों को फंगस से बचा सकती हैं और उनकी खूबसूरती बनाए रख सकती हैं। लेकिन किसी भी उपाय को पौधों में आजमाने से पहले प्लांट विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik