चावल तो हर घर में ही पकाए जाते हैं। चावल पकाते वक्‍त आमतौर पर हर घर में उसे पहले साफ पानी से 2 से 3 बार धोया जाता है। इसके बाद इस पानी को फेक दिया जाता है। इसी तरह चावल को पकाने के बाद उसे निकला माढ़ भी महिलाएं बिना सोचे-समझे फेक देती हैं। मगर आपको जानकर हैरानी होगी कि चावल का पानी न केवल त्‍वचा और बालों को पोषित करता है बल्कि यह पेड़-पौधों को भी हरा-भरा रखता है। 

आप चावल के पानी से पेड़-पौधों के लिए इनसेक्टिसाइट और खाद बनाई जा सकती है। चलिए हम आपको बताते हैं कैसे-  

इसे जरूर पढ़ें: फूलों को लॉन्ग लास्टिंग बनाने के लिए इस तरह करें उसकी केयर

rice  starch  water benefit   pic

तीन तरह से बनाए चावल का पानी 

इनसेक्टिसाइट या चावल के पानी के खान बनाने के लिए आपको सबसे पहले चावल से माढ़ निकालना होगा। इसकी तीन आसान विधि हैं। 

  • जब आप चावलों को पानी से वॉश करती हैं तो उससे निकलने वाले पानी को फेक देती हैं। मगर आपको उसे फेकना नहीं है बल्कि आपको उसे प्रिजर्व करके रखना होगा। इससे आप इनसेक्टिसाइट और पेड़ों के लिए खाद बना सकती हैं। 
  • अगर आप चावल को पहले बार वॉश करने पर पानी को प्रिजर्व करना भूल गई हैं तो आप चावल को 15-20 मिनट तक जिस पानी में भिगो कर रख रही हैं, उस पानी का इस्‍तेमाल भी इनसेक्टिसाइट और पेड़ों के लिए खाद बनाने में कर सकती हैं।
  • चावल के पानी से इनसेक्टिसाइट और पेड़ों के लिए खाद बनाने का एक तरीका और भी है। चावल के पकने के बाद आप जो पानी या माढ़ चावल से निकलता है उसे भी पेड़ों में डाल सकती हैं। 
 
benefits  of starch water  for  plants

चावल के पानी के फायदे

चावल का पानी पेड़ों के लिए इसलिए फायदेमंद होतो है क्‍योंकि यह पेड़-पौधों की जड़ों में बहुत ही महत्‍वपूर्ण बैक्‍टीरिया Lacto Bacilli को पहुंचाता है। चावल के पानी में 7 प्रोटीन 30 फाइबर और 15 अमीनो एसिड होते हैं। इसमें 25 % कैल्शियम, 45 % फासफोरस, 45% आयरन,आयरन, 11% प्रतिशत जिंक, 41% पोटेशियम भी होता है। इसमें कई तरह के विटामिंस भी होते हैं। यह सभी तत्‍व पेड़-पौधों को हरा-भरा रखने के साथ-साथ उनमें कीड़े नहीं लगने देते। आप चावल के पानी को किसी भी पेड़-पौधे में डाल सकती हैं। 

चावल के पानी की खाद केसे बनाएं 

चावल का पानी आपको कुछ दिन तक इक्‍ट्ठा करना होगा। इस पानी को प्‍लास्टिक की बाल्टि में कलेक्‍ट करें और ऐसी जगह पर रखें, जहां धूप नहीं आती हो। जिस बाल्टि में आपने चावल का पानी इनसेक्टिसाइट या पेड़ों के लिए खाद बनाने के लिए रखा है, उसे इस तरह से ढाकें कि उसमें हवा लग सके। इस पानी को आप 10 से 15 दिन तक ऐसे ही रखे रहने दें। पानी में से जब खमरी उठने लगेगा तो आप इसे पेड़ों में डाल सकती हैं। 

Recommended Video

अगर आपके घर में भी गार्डन है तो बाजार से पेड़-पौधों के लिए महंगे इनसेक्टिसाइट और खाद खरीदने के स्‍थान पर चावल का खमीर उठा हुआ पानी डालना शुरू करें। इससे आपके पेड़-पौधे कभी भी मुर्झाएंगे नहीं। 

यह लेख आपको अच्‍छा लगा हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें। गार्डनिंग से जुड़ और भी रोचक टिप्‍स जानने के लिए पढ़ती रहें हरजिंदगी। 

Image Credit:freepik