नवरात्रि में अधिकतर लोग व्रत रहते हैं क्योंकि व्रत रखने से शरीर के पाचन तंत्र को आराम तो मिलता ही है साथ ही शरीर का शुद्धिकरण भी हो जाता है। इसलिए अगर आपने  भी व्रत रखा हुआ है, तो इन बातों का जरूर ध्यान रखें ताकि 9 दिनों के बाद आपको सेहत से जुड़ी किसी किसी भी तरह की समस्या का सामना ना करना पड़े। एक्सपर्ट सूचि बंसल बता रही है, कुछ खास बातें। 

कहा जाता है कि नवरात्रि व्रत के दौरान आप जितना हल्का खाना खाएंगे आपके लिए उतना ही फायदा होगा। इससे ना सिर्फ आप स्वस्थ रहेंगे बल्कि आपको नवरात्र के उपवास के दौरान कोई खास परेशानी भी नहीं होगी। पर इस समय ऐसा  बिल्कुल नहीं होता क्योंकि लोग इस दौरान कई ऐसी चीज़ें खा लेते हैं, जो उनके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होती हैं। क्या हैं वो चीज़ें। 

आइए एक नज़र डालें 

तला-भुना आलू 

navratri inside

बहुत से लोग व्रत में आलू की बनी फ्राई चीजें खाना पसंद करते हैं जो कि सेहत के हिसाब से गलत है, क्योंकि आलू खाने से मोटापा बढ़ता है और इसके अलावा फ्राइड आलू, आलू के चिप्स में वसा और कैलोरी में अधिक होती है। आलू का ज्यादा सेवन गैस, पेट के दर्द और ब्लोटिंग की समस्या बढ़ा सकता है।

इसे भी पढ़ें: आलू चाप बनाने की बंगाली रेसिपी जानिए 

चाय-कॉफी का सेवन अधिक

navratri inside

एक्सपर्ट सुचि बंसल कहती हैं कि व्रत के दौरान अकसर लोगों को सिर दर्द की परेशानी होती है, जिसके चलते वो चाय-कॉफी का सेवन अधिक करते हैं, जोकि सही नहीं होता। चाय-कॉफी के सेवन से कब्ज, गैस्ट्रिक और एसिडिटी जैसी समस्याएं हो सकती है। सिर्फ इतना ही नहीं इससे आपको नींद न आने की प्रॉब्लम का सामना भी करना पड़ सकता है।

कुट्टू के आटे का सेवन 

कुट्टू का आटा प्रोटीन से भरपूर होता है पर कोशिश करें कि कुट्टू के आटे की पूरी, हलवा व  पकोड़े तलने की बजाय रोटी बनाएं आप कुट्टू के आटे से इडली भी बना सकती है। सिर्फ इतना ही नहीं समक के चावल का उपयोग करके आप स्वादिष्ट डोसा बना सकती है,  क्योंकि पूरी, हलवा व पकोड़े में घी और तेल अधिक लगता है, जो हेल्थ के लिए नुकसानदायक है ।

शुगर की बढ़ती मात्रा

navratri inside  

सुचि कहती हैं कि व्रत के दौरान मीठे का सेवन अधिक हो जाता है वो इसलिए क्योंकि नमक का इस्तेमाल इस टाइम कम होता है इसलिए ऐसे में  बहुत अधिक मीठी चीज़ों को  ना खाएं । अगर आप मीठे खाद्य पदार्थों का सेवन कर रहे हैं तो बेहतर है कि आप प्रोसेस्ड शुगर की जगह कुछ स्वस्थ चीज़ों  जैसे गुड़ या शुद्ध शहद का उपयोग करें। इससे आपके भोजन में स्वाद तो बढ़ेगा ही साथ ही यह आपको वजन नियंत्रित रखने में भी मदद मिलेगी।

इसे भी पढ़ें: व्रत के लिए छुहारे का हलवा कैसे बनाएं, जानें इसकी रेसिपी

बैलेंस डायट ना लेना

नवरात्रि में लोगों के व्रत रखने के अलग-अलग तरीके होते हैं, जहां  कुछ लोग नमक नहीं खाते, वहीं कुछ लोग सेंधा नमक खाते हैं, कुछ लोग रात में एक बार ही खाते हैं, तो कुछ लोग केवल पानी पर ही नौ दिनों तक रह जाते हैं । सुचि कहती हैं कि सबका व्रत रखने का अपना अलग-अलग तरीका होता है। इसलिए  इसमें सबसे बड़ी मुश्किल यह होती है कि लंबे समय तक चलने वाले व्रत में सिर्फ फलों और सब्जियों को खाने से बॉडी को पूरा न्यूट्रीशन नहीं मिल पाता है, जोकि गलत है।

हर किसी को अपनी  बॉडी की जरूरत के अनुसार ही इस  दौरान डायट लेनी चाहिए, ताकि  बॉडी को प्रॉब्लम ना हो ।