भारत में खाने की थाली रोटी के बिना कभी भी कंप्लीट नहीं होती। आपने भले ही कितनी भी सब्जियां या चावल आदि थाली में रखे हों, लेकिन तृप्ति का अहसास तो केवल रोटी खाकर ही होता है। वैसे आमतौर पर घरों में गेंहू के आटे से बनने वाली रोटी ही सर्व की जाती है और लोग इसे खाना भी बेहद पसंद करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि सिर्फ गेंहू के आटे से ही रोटी या परांठा नहीं बनाया जाता। बल्कि भारत के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग तरह की रोटियां बनाई जाती हैं। इतना ही नहीं, किसी विशेष अवसर या त्योहार पर भी कुछ विशेष तरह की रोटियों को बनाया जाता है। भारत में इतनी विविधता है कि रोटियों की पसंद मौसम के अनुसार भी बदल जाती है। आपने भी यकीनन सर्दियों में कई तरह की अलग-अलग रोटियों का स्वाद चखा होगा। तो चलिए आज हम आपको भारत में बनाने और सर्व की जाने वाली कुछ डिफरेंट रोटियों के बारे में बता रहे हैं, जिनके बारे में जानने के बाद आप भी उन्हें यकीनन खाना चाहेंगी-

अक्की रोटी 

Akki roti

आपने शायद अक्की रोटी के बारे में पहले ना सुना हो, लेकिन अक्की रोटी को कर्नाटक में हर घर में लोग बनाना व खाना पसंद करते है। यह वहां का एक पापुलर नाश्ता है। इस रोटी को गेंहू के आटे की जगह चावल के आटे की मदद से तैयार किया जाता है। कन्नड़ में अक्की का अर्थ होता है चावल। इतना ही नहीं, रोटी का स्वाद और भी ज्यादा बढ़ाने के लिए इसमें कई तरह की सब्जियों को भी शामिल किया जाता है।

मक्की रोटी

makhni roti

मक्की की रोटी यूं तो पंजाब में बहुत फेमस है और यह रोटी विशेष रूप से सर्दियों में बनाई जाती है। पंजाब में लोग इसे सरसों के साग के साथ बड़े ही चाव से खाते हैं। वैसे मक्की की रोटी अब केवल पंजाब में ही नहीं, बल्कि देश के अलग-अलग राज्यों में भी बनाई जाती है। इसे बनाने के लिए मक्की के आटे का इस्तेमाल किया जाता है। पारंपरिक रूप से रोटी को बेलने के लिए बेलन नहीं, बल्कि हाथों का इस्तेमाल किया जाता है।

थालीपीठ रोटी

Thalipit roti

यक एक फेमस महाराष्ट्रीयन चपाती है, जिसमें गेंहू के आटे की जगह बाजरा और ज्वार के आटे का इस्तेमाल किया जाता है। इतना ही नहीं, इसे बनाते समय इसमें आटे के साथ इसमें चावल, चना और अन्य मसाले भी मिलाए जाते हैं, जो इसके स्वाद को और भी ज्यादा बढ़ा देते हैं। कुछ लोग रोटी को एक कंप्लीट भोजन के रूप में तैयार करते समय इसमें कुछ सब्जियां भी मिलाते हैं। आमतौर पर, थालीपीठ को दही के साथ सर्व किया जाता है।

इसे ज़रूर पढ़ें- दिल्ली में लजीज समोसे खाने हों, तो इन ठिकानों का करें रुख

कुट्टू की रोटी

kuttu roti

कुट्टू की रोटी किसी विशेष राज्य से नहीं, बल्कि एक त्योहार से जुड़ी है। भारत में नवरात्रि का त्योहार बेहद ही धूमधाम से बनाया जाता है और नवरात्रि के नौ दिन व्रत रखने वाले लोग सामान्य गेंहू की रोटी के स्थान पर कुट्टू के आटे का इस्तेमाल करते हुए उससे रोटी बनाते हैं। इस रोटी को आलू की सब्जी व दही के साथ खाया जाता है। कुट्टू के आटे से बनी रोटी आपको बहुत लंबे समय फुलर होने का अहसास करवाती है।

Recommended Video

रागी रोटी

rogi roti

रागी सेहत के लिए बेहद ही लाभदायक माना जाता है और दक्षिण भारत में लोग रागी की रोटी खाना काफी पसंद करते हैं। यह वहां का एक लोकप्रिय व्यंजन है, जिसे रोगी के आटे के अलावा सब्जियों, मसालों, मिर्च और प्याज के साथ तैयार किया जाता है। कई जगहों पर इसे रागी अडाई भी कहा जाता है। यह भरवां रोटी आपको सेहतमंद बनाती है, जिसे आप लंच या डिनर में आसानी से खा सकते हैं।  

इसे ज़रूर पढ़ें-7 सिस्टर स्टेट्स की इन 7 अनोखी डिशेज को आप भी जरूर करें ट्राई

तो आप सबसे पहले किस रोटी को खाना पसंद करेंगी? यह हमें फेसबुक पेज के कमेंट सेक्शन में जरूर बताइएगा। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (Freepik)