शक्कर खाना सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है ये हम सभी जानते हैं। कई बार आप बाकी चीज़ों में शक्कर को कम कर भी लें तो भी चाय में शक्कर का इस्तेमाल तो जरूरी होता है। कई लोगों के लिए फीकी चाय पीना अच्छा नहीं होता है, लेकिन शक्कर न सिर्फ डायबिटीज को ज्यादा बढ़ाएगी बल्कि इससे वजन भी बढ़ेगा। ऐसे में क्यों न कुछ ऐसी चीज़ों का इस्तेमाल किया जाए जिससे चाय मीठी भी हो जाए और हमें बहुत ज्यादा समस्या भी न हो।

आज हम आपको कुछ ऐसी चीज़ों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकती हैं और चाय में नेचुरल स्वीटनर का काम भी करेंगी। जानिए कौन सी हैं ये चीज़ें। 

1. शहद

टिप- शहद को चाय में तब मिलाएं जब चाय को आपने गैस पर से हटा दिया हो। शहद घुलने में 2 मिनट लेगा और ऐसे में वो चाय के साथ उबलेगा नहीं। 

जैसे कि हमें पता है कि शहद को गर्म करना या उबालना सही नहीं होता वैसे ही हमें ये भी पता है कि शहद असल में हमारे स्वास्थ के लिए कितना अच्छा साबित हो सकता है। शहद का इस्तेमाल आयुर्वेद में कई तरह से किया जा सकता है और ये नेचुरल स्वीटनर का काम करेगा। शक्कर की तुलना में शहद बहुत ही अच्छा साबित हो सकता है। बस शक्कर के जितना ही शहद चाय में मिलाएं। 

sweetness and tea

इसे जरूर पढ़ें- मेडिटेशन से कम करें शक्कर की क्रेविंग, एक्सपर्ट के बताए ये टिप्स आएंगे काम

2. गुड़ 

टिप- गुड़ को आप शक्कर से थोड़ा ज्यादा इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन गुड़ डालने के बाद चाय को ज्यादा खौलाना सही नहीं होगा। 

आज भी गांव में शक्कर से ज्यादा गुड़ वाली चाय पीने का चलन है। गुड़ की मिठास यकीनन चाय का स्वाद बदल देती है। इसी के साथ, गुड़ में काफी मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट्स भी होते हैं और साथ ही साथ ये केमिकल्स से दूर रहता है इसलिए इसे आप पसंद कर सकते हैं। गुड़ वाली चाय आपकी रेगुलर चाय से थोड़ी अलग जरूर होगी, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि इस तरह की चाय में आप जरूरत से ज्यादा गुड़ डाल दें। आपको गुड़ की मात्रा का ध्यान रखना है।  

Recommended Video

3. मुलेठी 

टिप- मुलेठी के साथ चाय में दालचीनी डालना भी बेहतर होता है। ये औषधीय गुण देने वाले हर्ब्स होते हैं।  

मुलेठी का इस्तेमाल सदियों से आयुर्वेदिक औषधियों में किया जा रहा है और आपको जानकर शायद आश्चर्य हो कि ये प्राकृतिक तौर पर मीठी होती है और इसका इस्तेमाल भी ऐसे ही किया जाता है। आप मुलेठी वाली चाय बनाने के लिए उसमें थोड़ी सी लौंग की कलियां और दालचीनी का इस्तेमाल भी कर सकती हैं। ये हर्बल चाय का काम करेगी और अगर आपको सर्दी और खांसी है तो मुलेठी की जड़ को चाय में डालना बहुत ही अच्छा साबित हो सकता है। 

sweetness of tea 

4. खजूर का सिरप 

टिप- ये बहुत गाढ़ा होता है और इसका टेस्ट बहुत ज्यादा मीठा होता है तो इसे उसी हिसाब से डालें।  

खजूर को शक्कर की जगह काफी लंबे समय से इस्तेमाल किया जा रहा है और इसलिए ये अच्छा स्वीटनर हो सकता है। वैसे आप खजूर को सीधे चाय में नहीं डाल सकते हैं, लेकिन खजूर के सिरप का इस्तेमाल किया जा सकता है। ये बहुत ही स्वादिष्ट होगा और इससे चाय थोड़ी गाढ़ी टेक्सचर वाली भी बनेगी। अगर आप ब्लैक टी पीते हैं तो खजूर का सिरप बहुत ही अच्छा साबित हो सकता है।  

इसे जरूर पढ़ें- ज्‍यादा मीठा खाने से स्किन को हो सकते हैं ये 5 नुकसान 

5. ड्राई फ्रूट्स 

टिप- किशमिश और छुआरा सबसे अच्छा हो सकता है जिसे पहले से ही दूध में उबाल कर फिर चाय पत्ती डाली जा सकती है।  

अगर आप बहुत ही पौष्टिक चाय पीना चाहते हैं (हालांकि, चाय पत्ती के साथ ये उतना हेल्दी नहीं रह जाएगा) और ज्यादा मीठी चाय अच्छी नहीं लगती है तो ड्राई फ्रूट्स का इस्तेमाल भी चाय के लिए किया जा सकता है। इस तरीके से आप बहुत ही अच्छी चाय बना सकते हैं।  

ये पांचों चीज़ें शक्कर की तुलना में ज्यादा अच्छी होती हैं और साथ ही साथ इन्हें आप चाय में मिठास के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।