महिलाओं को कई बार ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ा है, जहां उन्हें जिम्मेदारी और समाज द्वारा निर्धारित दकियानुसी बातों की वजह से जिंदगी में कई तरह के समझौते करने पड़ते हैं। इसकी वजह से वह कई बार इमोशनली और मेंटली कमजोर भी हो जाती हैं। हालांकि, कई ऐसी भी महिलाएं हैं, जिन्होंने कभी भी परिस्थितियों से हार नहीं मानी और जीवन में आई मुश्किलों का डट कर सामना किया। यही नहीं उन्होंने जब जागो तभी सवेरा जैसे मुहावरे को अपने जीवन का मूल मंत्र भी बनाया है। सोशल मीडिया इनफ्लुएंसर डॉक्‍टर चिन्‍ना दुआ का नाम भी ऐसी ही महिलाओं की लिस्‍ट में शुमार है। मगर कई महिलाओं को प्रेरित करने वाली चिन्‍ना दुआ अब हमारे बीच नहीं रहीं। 11 जून को कोविड-19 संक्रमण से जंग लड़ते हुए उन्‍होंने सदा के लिए आंखें मूंद लीं। 

चिन्‍ना दुआ हर उम्र की महिला के लिए प्रेरणा का स्रोत थीं। 60 वर्ष की उम्र में उन्‍होंने न सिर्फ अपने पैशन को फॉलो किया बल्कि उनकी कहानी हर किसी के लिए एक प्रेरणा है। इस उम्र में भी रेडियोलॉजिस्ट चिन्ना दुआ इंस्टाग्राम पर एक स्टाइल आइकन बन चुकी थीं। चिन्ना दुआ की कहानी उन महिलाओं को सोचने पर मजबूर करती है जो यह सोचती हैं कि उम्र के एक पड़ाव पर आने के बाद वह अपने सपने को पूरा नहीं कर सकती हैं। आइए जानें चिन्ना दुआ के जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें और उनके अचीवमेंट्स के बारे में। 

प्रारंभिक जीवन

chinna dua instagram

चिन्ना दुआ का जन्म 1960 में तमिल नाडु में हुआ था। माता-पिता शुरुआत से ही उन्हें पढ़ाई के लिए प्रेरित करते थे। घर का माहौल ऐसा था, जहां पढ़ाई को टॉप प्रॉयोरिटी दी जाती थी। वहीं उनका असली नाम डॉक्‍टर नटराजन पद्मावति था, नटराजन उनके पिता का नाम था, लेकिन शादी के बाद उन्होंने अपना नाम बदल लिया। चिन्ना दुआ ने बताया कि जब वह अपने पति से मिली और उन्हें अपना नाम बताया। उस दौरान उनका नाम काफी लंबा लगा, ऐसे में उन्होंने अपना नाम बदलने के बारे में सोचा।

यही नहीं शादी के बाद उन्होंने खुद ही अपना नाम नटराजन पद्मावति से बदलकर चिन्ना दुआ रख लिया था। ऐसे में शादी के बाद दोस्त, परिवार और हर कोई उन्हें चिन्ना दुआ नाम से ही पहचानने लगे। इसके अलावा इंस्टाग्राम पर भी लोग उन्हें चिन्ना दुआ के नाम से ही जानते हैं। (चिन्‍ना दुआ-मल्लिका दुआ)

इसे भी पढ़ें:  मिलिए प्लस साइज मॉडल नीलाक्षी सिंह से, बॉडी पॉजिटिविटी की हैं मिसाल

करियर और डॉक्टर बनने की जर्नी

chinna dua doctor

हजिंदगी से बात करते हुए डॉ. चिन्ना दुआ ने बताया था कि उन्होंने अपना करियर रोग विशेषज्ञ यानी गायनोकोलॉजिस्ट के तौर पर शुरू किया था। हालांकि बाद में जब वह प्रेग्नेंट हुईं तो अपने बच्चे की देखभाल के लिए उन्होंने नौकरी से ब्रेक ले लिया था। बाद में दोनों बच्चों के सेट हो जाने के बाद डॉ. चिन्ना दुआ ने एक बार फिर से अपने काम को शुरू किया। बता दें कि साल 2019 से वह रेडियोलॉजिस्ट के तौर पर लगातार काम कर रही हैं। इस बीच उन्होंने अपने करियर से हटकर काम का सोचा, जिसके बाद वह सोशल मीडिया और आर्ट पर फोकस करने लगीं। सोशल मीडिया की जर्नी में मदद उनकी बेटी मल्लिका दुआ करती थीं, जो एक पॉपुलर एक्ट्रेस होने के साथ-साथ कॉमेडियन भी हैं। 

इसे भी पढ़ें: Women's Day Special : जानें MissMalini की मालिनी अग्रवाल के जीवन से जुड़ी कुछ ख़ास बातें

Recommended Video

स्टाइल आइकन बनने का सफर

chinna dua sarees

चिन्ना दुआ सोशल मीडिया पर अक्सर अपने वीडियो और फोटो शेयर करती थीं। जिसमें वह कभी अपने फैशन गोल देती नजर आती थींं तो कभी फूड वीडियोज शेयर करती थींं। फैशन गोल की बात करें तो वह अक्सर साड़ी में डिफरेंट स्टाइल फॉलो करती नजर आती थीं। इतना ही नहीं इंस्टाग्राम पर उन्हें 38 हजार से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं। उनके वीडियो और तस्वीरों को फैंस काफी पसंद करते थें। (देश की पहली 'वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर)

अपने इस सफर को लेकर चिन्ना दुआ ने बताया था- ''अगर आप अपना सौ प्रतिशत देती हैं तो आपके सपने को पूरा होने से कोई नहीं रोक सकता है। उन सभी महिलाओं के लिए जो अपने को देखने के लिए तैयार हैं वास्तव में मैं उन्हें बताना चाहूंगी कि कोई भी आपको पकड़ नहीं सकता है। इसलिए किसी भी काम को आप अपना बेस्ट दें और परफेक्शन के साथ करें। बेईमानी से अपनी यात्रा को खराब न करें। ईमानदार रहें और किसी के लिए भी समझौता न करें, क्योंकि आप निश्चित रूप से इससे बेहतर कर सकती हैं।'' इसके अलावा उन्होंने कहा था कि आपको सिर्फ अपने गोल को क्लीयर रखना है और अपने मन और आत्मा को खुश रखने के लिए लगातार काम करते रहना है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।