हमारे देश में कई ऐसी महिलाएं हैं जो दूसरों के लिए उदाहरण हैं। ऐसी ही प्रभावशाली महिलाओं में से एक हैं मालिनी अग्रवाल। इतनी छोटी सी उम्र में बुलंदियों को छूने वाली MissMalini और Malini's Girl Tribe की क्रिएटिव डायरेक्टर वास्तव में दूसरों से अलग हैं। आइए जानें मालिनी के जीवन से जुड़ी कुछ ख़ास बातों और उनके अचीवमेंट्स के बारे में। 

प्रारंभिक जीवन 

malini life story

मालिनी अग्रवाल का जन्म 26 मई 1977 को प्रयागराज, भारत में हुआ था। उनके माता-पिता इंडियन फॉरेन सर्विस में कार्यरत थे इसलिए मालिनी शुरुआत से ही विभिन्न देशों में पली बढ़ी थीं। मालिनी ने मैत्रेयी कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि प्राप्त की और मुंबई चली गईं। 

इसे जरूर पढ़ें:HZ Exclusive: मिसमालिनी और मंजुलिका अग्रवाल, मां-बेटी ने समाज से ज्यादा एक दूसरे पर भरोसा कर बनाया अनोखा रिश्ता

कैसा रहा करियर 

मालिनी ने अपने रेडियो करियर की शुरुआत मुंबई में विन 94.6 के साथ रेडियो जॉकी के रूप में की, जो बाद में गो 92.5 और फिर रेडियो वन 94.3 बन गया। उनके द्वारा होस्ट किए गए कुछ शो में हॉर्न ओके प्लीज, 225, टाइगर टाइम विद मालिनी, ओवरड्राइव और मालिनी मिडनाइट तक शामिल थे। अग्रवाल ने चैनल वी इंडिया के डिजिटल कंटेंट के प्रमुख बनने से पहले डिजिटल टीवी में बदलाव का फैसला करने से पहले प्रोग्रामिंग डायरेक्टर का काम किया। मालिनी अब अपने स्वयं के शो की मेजबानी नहीं करती है, लेकिन वो रेडियो शो के लिए नियमित रूप से योगदान देती हैं। 

MissMalini.com की फाउंडर

malini.com founder 

मालिनी अग्रवाल ने MissMalini.com को 2008 में एक शौक ब्लॉग के रूप में स्थापित किया गया था और धीरे-धीरे जैसे ही उनके रीडर्स बढ़ने लगे उन्होंने ब्लॉग पर पूर्णकालिक ध्यान केंद्रित करने के लिए चैनल वी को छोड़ने का फैसला किया। यह ब्लॉग बॉलीवुड और सेलिब्रिटी जीवन के सभी पहलुओं को कवर करने वाले पेरेसहिल्टन और पॉपसुगर जैसी अंतर्राष्ट्रीय साइटों से प्रेरणा लेता है। यह भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय फैशन रुझानों में नवीनतम के साथ-साथ यात्रा, भोजन और नाइटलाइफ़ जैसी जीवन शैली सामग्री को भी कवर करता है।

Recommended Video

MissMalini का सफर 

MissMalini एंटरटेनमेंट मीडिया लाइफस्टाइल ब्रांड को लगातार बदल रहा है जो भारत के इंटरनेट जेनरेशन की ओर अत्यधिक आकर्षक, बहु-मंच सामग्री तैयार करता है। मालिनी भारत की पहली और सबसे प्रसिद्ध डिजिटल इन्फ्लुएंसर हैं, जिसने 2008 में अपनी वेबसाइट MissMalini.com के साथ भारतीय जीवन शैली ब्लॉगिंग का बीड़ा उठाया है। आज MissMalini Entertainment की सामग्री उनके स्वामित्व वाले चैनलों में हर महीने 30 मिलियन लोगों तक पहुँचती है, जिसमें 10 मिलियन से अधिक प्रत्यक्ष सामाजिक कार्यकर्ता हैं।

Ignore No More online कैम्पेन चलाया 

online caimpaign mailini

मालिनी ने ऑनलाइन हैरेस्मेंट के खिलाफ  IgnoreNoMoreOnline कैम्पेन चलाया। मालिनी ने ये कैम्पेन इसलिए चलाया था क्योंकि वो लगातार हो रहे ऑनलाइन सेक्शुअल हैरेसमेंट, बुलिंग और ट्रोलिंग को खत्म करना चाहती थीं। मालिनी इस कैम्पेन से  लोगों तक ये बात पहुंचाना चाहती थीं कि किसी को ट्रोल करके कोई भी बच नहीं सकता है। जो लोग इसका शिकार हो रहे हैं मालिनी  उन्हें ये बताना चाहती थीं कि इसके खिलाफ क्या नियम और कायदे और कानून हैं। उनका लक्ष्य हरेक को शिक्षित करना था और महिला सशक्तिकरण के लिए काम करना भी था। वो ट्रोल्स को ये बताना चाहती थीं कि उन्हें उनके किए की सजा भी मिल सकती है। मालिनी के #IgnoreNoMoreOnline कैम्पेन में न केवल महिलाओं को बल्कि पुरुषों को भी ऑनलाइन ट्रोल से बचाने में मदद मिलती है।

इसे जरूर पढ़ें:ऑनलाइन हैरेस्मेंट के खिलाफ मालिनी अग्रवाल का IgnoreNoMoreOnline कैम्पेन, जानिए इसकी पूरी कहानी उनकी जुबानी

Malini Girl Tribe की शुरुआत 

malini girl tribe

2018 में महिलाओं के बीच सकारात्मकता, सहानुभूति और दयालुता फैलाने के लिए मालिनी अग्रवाल ने Malini Girl Tribe की शुरुआत की। 100 महिलाओं से शुरू हुई ये कम्युनिटी अब एक असाधारण समुदाय में प्रवेश कर चुकी है, जो 55 हजार से अधिक महिलाओं को मजबूत बनाए का प्रयास करती है। 

हासिल किया एक बड़ा मुकाम 

malini agarwal story

43 साल की उम्र में ही मालिनी ने बहुत से मुकाम हासिल किए हैं। महिलाओं के लिए किए गए मालिनी के प्रयासों को नकारा नहीं जा सकता है सांस्कृतिक परिवर्तन को सुविधाजनक बनाने वाली सामाजिक पहल शुरू करने के लिए मालिनी के जुनून और प्रयासों का उपयोग अब उसकी पहुंच और प्रभाव के लिए किया जाता है। इनमें से सबसे प्रमुख हैं Malini's Girl Tribe जो 50,000 से ज्यादा महिलाओं का एक सहायक समुदाय है, साथ ही साथ उनका सकारात्मक पुरुषत्व समुदाय, एक सह-एड समूह भी है। इस कम्युनिटी में महिलाओं के लिए सुरक्षित स्थान बनाकर, हर दिन विषयों और आधुनिक मुद्दों पर कई तरह की चर्चाएं की जाती हैं। जनवरी 2021 से एंड्रॉइड और आईओएस स्टोर्स पर 'गर्ल ट्राइब ऐप' को भी उपलब्ध कराया है।

वास्तव में मालिनी अग्रवाल हम सभी के लिए एक प्रेरणा की स्रोत हैं। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit: Instagram.com (@maliniagarwal)