कोविड-19 ने हमारी जिंदगी को थाम सा दिया है और इस कारण हमारे लिए बहुत सारी समस्याएं पैदा हो गई हैं। बाहर जाना और नॉर्मल लाइफ जीना तो जैसे रुक ही गया है और साथ ही साथ कोविड-19 के डर ने भी हमे परेशान कर रखा है। सबसे पहली बात तो बुखार आते ही लोग परेशान हो जाते हैं, लेकिन दूसरी तरफ रोज़ाना ही इस बीमारी से जुड़े नए लक्षणों के बारे में पता चल रहा है। 

कोविड-19 के नए लक्षण सीजनल बीमारियों से काफी मिलते जुलते दिख रहे हैं और यही कारण है कि ये बीमारी इतना विकराल रूप लेती चली जा रही है। जहां एक ओर कोविड-19 को सिर्फ सर्द-जुकाम, बुखार और सांस लेने में तकलीफ जैसी दिक्कतों से जोड़कर देखा जा रहा था पर अब कोविड-19 के लक्षणों में बहुत ज्यादा वृद्धी हो गई है। 

कोविड-19 से जुड़े हैं ये सारे लक्षण-

कोविड-19 से जुड़े सभी लक्षण बहुत ही अलग हैं और इनमें अब मानसिक समस्याएं, एंग्जाइटी, सिरदर्द, गले का दर्द आदि भी जुड़ गया है। WHO की तरफ से बताए गए कोविड-19 के लक्षण की लिस्ट में लगातार वृद्धि हो रही है और अब एक नई रिपोर्ट सामने आई है जो कोविड-19 से जुड़े कुछ नए लक्षणों की ओर इशारा कर रही है। 

covid new symptom eyes

कोरोना वायरस को लेकर लगातार नई स्टडी हो रही है जो हमें बता रही है कि ये वायरस किस तरह से शरीर में घुसता है और अलग-अलग हिस्सों पर कैसे असर करता है। 

इसे जरूर पढ़ें- जानें क्‍या मां से बच्‍चे में पहुंच सकता है कोविड-19 इन्‍फेक्‍शन 

Recommended Video

आंखों से जुड़ा कोविड-19 का लक्षण-

यूके की Anglia Ruskin University (ARU) के रिसर्चर्स ने एक नई खोज की है। उन्होंने कोविड-19 से जुड़े लोगों पर शोध कर ये बताया है कि कोविड-19 होने पर कई मरीज़ों की आंखों में समस्याएं होती हैं और ये कंजक्टिवाइटिस जैसे लक्षणों की ओर बढ़ता है। 

इस रिसर्च में उन लोगों को सब्जेक्ट के तौर पर रखा गया जिन्हें कोविड-19 हो चुका था और उनसे क्वेशनएयर भरवाए गए और लक्षणों के बारे में पूछा गया। इसके नतीजों से पहले कोरोना से संक्रमित हुए मरीज़ों के नतीजों को मिलाया गया। 

sore eyes covid

इस रिसर्च में सामने आए ये नतीजे- 

- ये कोविड-19 और आंखों की समस्याओं को लेकर की गई पहली स्टडी है जिसने इन दोनों के बीच रिश्ता साबित कर दिया है। 

- BMJ Open Ophthalmology जर्नल में पब्लिश की गई स्टडी बताती है कि कोविड-19 के मरीजों के बीच आंखों से जुड़ी समस्याएं अपेक्षाकृत तौर पर ज्यादा हैं। 

- लगभग 16 प्रतिशत कोविड मरीज़ों ने इस तरह के लक्षणों की शिकायत की है जो आंखों की समस्याओं में होते हैं। 

- 18 प्रतिशत लोगों ने फोटोफोबिया या फिर लाइट सेंसिटिविटी को भी एक लक्षण बताया है। ये उनकी प्री-कोविड स्थिति से करीब 5 प्रतिशत ज्यादा था। 

- स्टडी में सामने आया कि 83 पार्टिसिपेंट्स में से 81 प्रतिशत लोगों को कोविड-19 के दो हफ्तों के अंदर ही आंखों से जुड़ी परेशानियां होने लगीं।  

इसे जरूर पढ़ें- डॉक्टर से ऑनलाइन परामर्श लेते समय रखें इन बातों का ध्यान  

हालांकि इनमें भी अधिकतर लोगों को बुखार, थकान और सूखी खांसी की समस्या हुई है, लेकिन ये साफ होता जा रहा है कि आंखों से जुड़ी समस्याएं भी कोविड-19 से जुड़ी हुई हैं। कंजक्टिवाइटिस न भी हो तो भी आंखों में दर्द और जलन आम हो सकती है। WHO के नए लक्षणों की सूची में भी कम कॉमन लक्षणों में कंजक्टिवाइटिस शामिल है, लेकिन ये पूरी तरह से कंजक्टिवाइटिस नहीं बल्कि आंखों में दर्द और जलन से जुड़ा हुआ है।  

बहरहाल, ये साबित हो चुका है कि अगर आपको आंखों में दर्द या जलन हो रही है और उसके साथ कोविड का कोई और लक्षण है तो इसे नजरअंदाज़ नहीं करना चाहिए।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।