Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    कहीं आप मेडिसिन लेने के एडिक्ट तो नहीं, पहचानें कुछ इस तरह

    अगर कोई व्यक्ति मेडिसिन एडिक्ट होता है तो ऐसे में कुछ संकेत नजर आ सकते हैं।
    author-profile
    • Mitali Jain
    • Editorial
    Updated at - 2022-10-29,09:00 IST
    Next
    Article
    drug addiction

    दवाएं व्यक्ति को बीमारी से उबरने में मदद करती हैं। जब भी कोई व्यक्ति बीमार होता है तो वह सबसे पहले दवाओं का सेवन करता है और इससे उसे जल्द ठीक होने में मदद मिलती है। हालांकि, यही दवाएं तब आप पर नेगेटिव असर डालने लगती हैं, जब आप इसके आदी हो जाएं। जी हां, आपको शायद पता ना हो, लेकिन मेडिसिन का एडिक्शन आपके शारीरिक व मानसिक तौर पर नुकसान पहुंचा सकता है। 

    अधिकतर लोगों को यह पता नहीं होता है, लेकिन वे वास्तव में मेडिसिन एडिक्ट होते हैं। जिसके कारण वे लगातार दवाओं का सेवन करते जाते हैं और मेडिसिन का ओवरडोज उनकी सेहत को विपरीत तरीके से प्रभावित करना शुरू कर देते हैं। किसी भी समस्या के इलाज से पहले उसकी पहचान करना बेहद आवश्यक होता है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको मेडिसिन एडिक्शन के कुछ संकेतों के बारे में बता रहे हैं-

    बीमार ना होने पर भी दवाओं का सेवन करना

    headache problem

    आमतौर पर व्यक्ति दवा का सेवन तब करता है, जब उसे किसी तरह की स्वास्थ्य समस्या होती है। लेकिन जो लोग दवा लेने के आदी हो जाते हैं, वह बीमार ना होने पर भी दवा लेते रहते हैं। यहां तक कि जब वह दवा लेना बंद करते हैं, तो उन्हें अजीब लगने लगता है। आप कांप सकते हैं, उदास हो सकते हैं, पेट खराब होना, पसीना आना या सिरदर्द की समस्या हो सकती हैं। हो सकता है कि आपको थकान का भी अहसास हो। 

    इसे भी पढ़ें-टाइम पर दवाई लेना नहीं रहता याद, तो इन पांच हैक्स की लें मदद

    खुद पर काबू ना होना

    जो लोग मेडिसिन एडिक्ट होते हैं, वे चाहकर भी खुद को दवा के सेवन से नहीं रोक पाते हैं। उन्हें पता होता है कि अब वह बीमार नहीं हैं और अब उन्हें दवा लेने की कोई जरूरत नहीं है। लेकिन फिर भी वे दवा का सेवन करते हैं। यहां तक कि दवाओं के अधिक सेवन से होने वाले दुष्प्रभाव नजर आने के बाद भी वह खुद पर काबू नहीं कर पाते हैं।  

    अधिक दवा की आवश्यकता 

    Medicine addict

    किसी भी स्वास्थ्य समस्या के इलाज के लिए दवा की एक निर्धारित मात्रा दी जाती है। लेकिन जब कोई व्यक्ति मेडिसिन एडिक्ट होता है तो उस निर्धारित मात्रा में उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता। बीमारी से उबरने के लिए उन्हें अधिक मात्रा में दवा लेने की जरूरत महसूस होती है। ऐसा इसलिए होता है,क्योंकि उनकी बॉडी पहले से उस मात्रा की आदी हो चुकी होती है और फिर उन्हें कोई अंतर नजर नहीं आता है।(पेट में दर्द की समस्या से राहत दिला सकते हैं ये फूड्स)

    डेली लाइफ जीने में समस्या होना

    जो लोग मेडिसिन एडिक्ट होते हैं, उनका कमरा दवाओं से भरा हुआ होता है। इतना ही नहीं, उन्हें अपनी डे टू डे लाइफ को सामान्य रूप से जीने में समस्या होती है। वे उन चीजों में रुचि खो देते हैं, जिन्हें करना उन्हें हमेशा से पसंद था। यहां तक कि खाना पकाने या ऑफिस का काम करने में भी परेशानी होती है।

    इसे भी पढ़ें-कैसे सुधारें अपनी आंतों की सेहत? सही डाइजेशन के लिए करें ये काम

    नींद व खान-पान के पैटर्न में बदलाव

    change of eating pattern

    मेडिसिन एडिक्शन का एक नुकसान यह भी होता है कि इससे आपके नींद व खान-पान पर भी असर नजर आता है। ऐसे लोग पहले की तुलना में बहुत अधिक या बहुत कम सोते हैं। इसी तरह, वे पहले की तुलना में बहुत अधिक या बहुत कम खाते हैं।(बेहतर नींद के लिए अपनाएं ये 20 उपाय)

    तो अब अगर आपको भी यह संकेत नजर आएं तो तुरंत एक्सपर्ट से मिलें और अपनी इस लत से बाहर निकलने का प्रयास करें।

      

    अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकीअपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।  

    Image Credit- freepik 

     

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।