अच्छा, आपको भी लेट नाइट खाने की आदत तो नहीं है? अच्छा, आपको नहीं है, तो घर में किसी अन्य को ये आदत ज़रूर होगी। खैर, आज के समय में किसी एक को नहीं बल्कि कई लोगों की आदत होती है कि आधी रात को उठकर फ्रिज की तरफ भागते हैं और खाने के लिए स्नैक्स आदि चीजों की तलाश करते हैं।

कई लोग देर रात तक टीवी देखते हैं और एक साइड खाना रखकर खाते रहते हैं लेकिन, शायद आपको नहीं मालूम है कि आयुर्वेद के अनुसार इस आदत से आपको कई परेशानियां भी हो सकती हैं। इस लेख में आयुर्वेद की डॉक्टर Varalakshmi Yanamandra लेट नाइट खाने के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी देने जा रही है, तो आइए जानते हैं।

एसिडिटी की हो सकती है समस्या

late night eating tips as per ayurveda inside

शायद आपको भी ये ज़रूर मालूम होगा कि देर रात खाने से कभी भी एसिडिटी की समस्या हो सकती है। अगर नहीं मालूम है, तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डॉक्टर वारालक्ष्मी के अनुसार लेट नाइट खाने से एसिडिटी के साथ-साथ हार्टबर्न की समस्या भी हो सकती है। कई बार अन्य पेट संबंधी समस्या होने का भी डर रहता है। इसलिए आयुर्वेद के अनुसार शाम को सात बजे से पहले खाने का सबसे अच्छा समय माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: क्या कहता है इवनिंग में एक्सरसाइज करने के बारे में आयुर्वेद, आप भी जानें

नींद की समस्या

late night eating tips as per ayurveda inside

लेट नाइट खाने की आदत नींद की समस्या में भी कारण बन सकती है। उनके अनुसार कई लोग ऐसे होते हैं, जो लेट नाइट कुछ अधिक ही खाना खा लेते हैं, जिसकी वजह से सोने में दिक्कत होने लगती है। ऐसे में डॉक्टर लक्ष्मी के अनुसार अगर आप लेट नाइट खाना खाते भी है, तो आपको कुछ हल्का भोजन करना चाहिए और खासकर तले हुए भोजन का सेवन करने से बचाना चाहिए। 

Recommended Video

पाचन तंत्र पर पड़ सकता है बुरा असर

late night eating tips as per ayurveda in

शायद आप नहीं करती हो लेकिन, ऐसी बहुत सी महिलाएं हैं जो हेवी खाना खा लेती है और बाद में परेशान होने लगती है। ऐसे में आपको ये गलती करने से बचना चाहिए। डॉक्टर के अनुसार, हेवी भोजन करने के साथ-साथ, जल्दी-जल्दी खाने से भी बचाना चाहिए। अगर आपको जल्दी-जल्दी खाने की आदत है तो पाचन तंत्र पर बुरा असर पड़ सकता है।

इसे भी पढ़ें: एप्पल जूस या ऑरेंज जूस, जानिए दोनों में से कौन सा है अधिक हेल्दी

इन बातों का भी रखें ध्यान 

late night eating tips as per ayurveda inside

डॉक्टर वारालक्ष्मी के अनुसार आठ बजे के बाद भोजन करने से बचाना चाहिए। अगर आप आठ बजे के बाद भोजन करते हैं, तो आपको लाइट भोजन करना चाहिए। इसके अलावा रात को मुंग दाल के साथ चावल को आप भोजन में शामिल कर सकती हैं। 

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@blog.myfitnesspal.com,cdn-prod.medicalnewstoday.com)