• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

अस्थमा है तो इनके ट्रिगर्स के बारे में भी जानिए

अगर आप अस्थमा को मैनेज करना चाहती हैं तो ऐसे में आपको इसके ट्रिगर्स के बारे में भी पता होना चाहिए। 
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial
Published -20 Sep 2022, 20:30 ISTUpdated -21 Sep 2022, 19:19 IST
Next
Article
know about asthma triggers

अस्थमा सांस से जुड़ी एक ऐसी समस्या है, जिसमें व्यक्ति को अक्सर सामान्य रूप से सांस लेने में समस्या होती है। जब ऐसा होता है, तो व्यक्ति का सांस फूलना, खांसी और घरघराहट जैसे कई लक्षण दिखाई देते हैं।

आमतौर पर, अस्थमा का दौरे तब अधिक ट्रिगर होते हैं, जब व्यक्ति अस्थमा ट्रिगर या एलर्जी के संपर्क में आता है। इसलिए, अस्थमा की समस्या को मैनेज करने का सबसे आसान तरीका है कि आप आप अपने आसपास मौजूद अस्थमा के ट्रिगर्स की पहचान करें। जब आप इन ट्रिगर्स को पहचान लेते हैं तो ऐसे में उनसे बचने या प्रबंधित करने में काफी आसानी मिलती है। हालांकि, मौसमी परिवर्तनों के आधार पर अस्थमा के ट्रिगर अलग-अलग हो सकते हैं क्योंकि मौसम के आधार पर एलर्जी पूरे वर्ष में बदल सकती है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको अस्थमा से जुड़े ट्रिगर्स के बारे में बता रहे हैं-

हवा में मौजूद हो सकते हैं अस्थमा ट्रिगर

is air can trigger asthma

हम जिस हवा में सांस लेते हैं, वह आपके अस्थमा के लिए ट्रिगर हो सकता है। दरअसल हवा में सिगरेट के धुएं से लेकर पॉल्यूशन आदि अस्थमा के दौरे की वजह बन सकते हैं। इनमें भी पोलन अर्थात् पराग मुख्य ट्रिगर होते हैं। इसलिए कोशिश करें कि जब पराग के चरम का समय हो आप अपना अधिक समय घर पर बिताएं। वहीं, अगर आप घर से बाहर निकल रहे हैं तो मास्क का इस्तेमाल करंे, ताकि धूल के कण सांस के जरिए सीधे शरीर में प्रवेश ना करें।  

मोल्ड से हो सकता है अस्थमा का दौरा

ashthma triggersमोल्ड में सांस लेने से भी व्यक्ति को अस्थमा का दौरा पड़ सकता है। इसलिए, अगर आपको अस्थमा की समस्या है तो आपको महीने में कम से कम एक बार अपने घर में फफूंदी को चेक अवश्य करना चाहिए। खासतौर से, अगर आप किसी ह्यूमिड क्लाइमेट में रहते हैं तो यह और भी अधिक आवययक है। इस ट्रिगर से बचने का सबसे अच्छा तरीका यह होगा कि मोल्ड की जांच की जाए और पाए जाने पर उसे तुरंत हटा दिया जाए।  (कैंसर के खतरे को कम कैसे करें)

इसे भी पढ़ें: महिलाएं ये 10 टिप्‍स अपनाएंगी तो हार्ट डिजीज से नहीं होगीं परेशान

पालतू जानवर बढ़ा सकते हैं अस्थमा की समस्या

is pet animal good for asthmaअगर किसी घर में कोई अस्थमा का मरीज है, तो ऐसे घरों में पालतू जानवरों को ना पालने की सलाह दी जाती है। दरअसल, पालतू जानवरों की रूसी अस्थमा के दौरे के लिए एक ट्रिगर है। इसके अलावा, उनके बाल भी एलर्जी और अस्थमा की समस्या को बढ़ा सकते हैं। इसलिए, कोशिश करें कि आपके घर में पालतू ना हो। (डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए टिप्स)

यदि यह एक इनडोर पालतू जानवर है, तो उसे नियमित रूप से जानवर को नहलाना चाहिए। साथ ही, यह भी सुनिश्चित करें कि पालतू हर समय आपके बेडरूम से बाहर रहे।

इसे भी पढ़ें: World Asthma Day: अस्थमा मरीज का डाइट प्लान कैसा होना चाहिए, जानें किन चीजों से करें परहेज

कॉकरोच

कॉकरोच कई तरह की बीमारियों की वजह बनते हैं और यह अस्थमा के ट्रिगर में से एक हैं। यह कई तरह की एलर्जी को ट्रिगर करते हैं। इसलिए, अगर आपको घर में कॉकरोच दिखाई दे तो तुरंत इन्हें भगाने के उपाय अपनाएं। साथ ही, अपने घर की क्लीनिंग पर ध्यान दें।

तो अब आप भी ट्रिगर्स से बचने का प्रयास करें और अपनी अस्थमा की समस्या को मैनेज करें। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकीअपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।  

Image Credit- freepik

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।