• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

हाथों में छोटे-छोटे दानों में हो रही है खुजली तो हो सकते हैं ये कारण, जानें इलाज

क्या आपके हाथों में अचानक से छोटे-छोटे पानी वाले दाने निकल आते हैं? ये दाने क्यों होते हैं और इसका क्या कारण है, चलिए आपको बताएं। 
author-profile
Published -22 Sep 2022, 18:50 ISTUpdated -22 Sep 2022, 19:05 IST
Next
Article
hand blisters treatment

यह समस्या अधिकतर बारिश के मौसम होती है। यह जो समस्या है जिसकी बात यहां हो रही है वो 'हैंड ब्लिस्टर' है। इसका मतलब है हाथों में लाल छोटे-छोटे पानी वाले दाने, जिस पर खुजली होती है। यह आपकी हाथ और पैरों की उंगलियों पर नजर आने लगते हैं। इसमें एक पस भरने लगता है, जिसमें कई बार दर्द भी होता है।

यह कई कारणों से हो सकते हैं, जिनमें फ्रिक्शन, खुजली, इन्फेक्शन आदि कई स्थितियां जिम्मेदार होती है। इनमें कई बार सिर्फ खुजली होती है मगर स्थिति गंभीर हो तो दर्द का सामना भी कई लोगों को करना पड़ता है। 

हाथ के फफोले के प्रकार

types of hand blisters

फफोले का नाम आमतौर पर उनके कारण के नाम पर रखा जाता है। तीन मुख्य प्रकार हैं:

  • हीट ब्लिस्टर जिसे बर्न ब्लिस्टर भी कहा जाता है
  • कोल्ड ब्लिस्टर्स (चिलब्लेन्स)
  • फ्रिक्शन ब्लिस्टर्स

इन ब्लिस्टर्स के होने का क्या कारण है?

हाथों पर छाले होने के कई कारण हो सकते हैं। इनमें फ्रिक्शन, एग्जेमा, इंफेक्शन, डायबिटीज की बीमारी आदि कारण शामिल हैं।

डाइशिड्रॉटिक एग्जेमा

आपके हाथों पर फफोले एक त्वचा की स्थिति के कारण हो सकते हैं जिसे डाइशिड्रॉसिस या डाइशिड्रॉटिक एक्जिमा कहा जाता है। इस स्थिति वाले लोगों को हाथों की हथेलियों और उंगलियों के किनारों पर छोटे, खुजली वाले छाले दिखाई देंगे। फफोले आपके पैरों के तलवों पर भी दिखाई दे सकते हैं। इस स्थिति का कोई इलाज नहीं है। यह आता है और दो से तीन सप्ताह के भीतर साफ भी हो जाता है।

फ्रिक्शन

अगर किसी खराब फैब्रिक या अन्य किसी वस्तु से त्वचा का फ्रिक्शन होता है, तो भी छाले या फफोले पड़ सकते हैं। कई बार बिना दस्ताने के घर के काम करना, बर्तन धोना आदि के कारण भी ऐसा हो सकता है। 

इसे भी पढ़े: हाथ जल जाने पर भूल से भी ना करें ये पांच मिसटेक्स

ठंडा

जी हां, अत्यधिक ठंड से आपकी हथेलियों, उंगलियों और फोरआर्म्स पर छाले पड़ सकते हैं। जब कोई व्यक्ति कई घंटों तक ठंड के संपर्क में रहता है, तो उंगलियों के पीछे और किनारों पर चिलब्लेन्स दिखाई देते हैं। ये खुजली वाली लाल सूजन केवल गंभीर मामलों में ही फफोले में विकसित हो सकती है।

इरिटेशन

कुछ रसायनों या एलर्जी के संपर्क में आने पर त्वचा में छाले हो सकते हैं। कई अध्ययनों से पाया गया है कि निकेल युक्त खाद्य पदार्थों से भी किसी को एलर्जी हो सकती है और इसके कारण हाथों में फफोले हो सकते हैं (स्किन एलर्जी की रेमेडी)। 

how to treat hand blister

क्या है इसका ट्रीटमेंट?

कई बार इन फफोले को किसी खास ट्रीटमेंट की जरूरत नहीं होती, क्योंकि यह होकर कुछ दिनों में ठीक हो जाते हैं। अगर आपकी स्थिति थोड़ा ज्यादा खराब है तो उसे विशेष उपचार की आवश्यकता होती है। सबसे पहली बात ध्यान रखें कि इन्हें कभी फोड़े नहीं। अगर यह फट गया है तो इसे साफ करके, गर्म पानी से साफ कर लें। इस पर बैंडेज लगा लें। गंभीर स्थिति में तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। वो इसके लिए आपको एंटी-इच क्रीम, इम्यून-सप्रेसिंग ओइंटमेंट्स आदि प्रिस्क्राइब करेंगे। 

इसे भी पढ़े: मुंह के छालों से पाना है छुटकारा तो डाइट में जरूर शामिल करें ये 7 फूड्स

डॉक्टर को कब दिखाएं?

जैसा कि हमने बताया कि अधिकांश छाले/फफोले अपने आप ठीक हो जाएंगे। हालांकि, आपको कुछ स्थितियों में डॉक्टर से परामर्श करने की आवश्यकता हो सकती है।

  • आपको अगर आखिरी टिटनेस इंजेक्शन 10 साल पहले लगा हो।
  • फफोले के बाद से आपके लिम्फ नोड्स सूज गए हैं।
  • आपके प्रभावित क्षेत्र में सूजन और दर्द बढ़ जाए।
  • आप संक्रमण के लक्षण देखें जैसे मवाद की उपस्थिति, छाले के आसपास वॉर्म और लाल त्वचा या बुखार।

अगर आप भी हाथों में इस तरह के दाने, छाले या फफोले देखें तो एहतियात बरतें। खुद ही घर पर इन चीजों का इलाज न करें, इसके लिए डॉक्टर की सलाह लें। 

हमें उम्मीद है यह जानकारी आपके काम आएगी। इसे लाइक और शेयर करना न भूलें। ऐसे आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: Freepik & Google Searches

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।