विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार अच्छी सेहत का मतलब हेल्थ प्रॉब्लम्स से छुटकारे से बढ़कर है। इसका मतलब है इमोशन्स की पॉजिटिविटी, कम्यूनिटी की फीलिंग और खुशहाली। इसीलिए अगर आपको प्रकृति से प्यार है, आप नेचर के करीब रहना चाहती हैं तो आपको गार्डनिंग जरूर करनी चाहिए। बागवानी में सुंदर फूलों और खूबसूरत पौधे लगाकर आप घर को ही खूबसूरत नहीं बनाते, बल्कि आप बागवानी करते हुए स्वयं भी खुशी महसूस करते हैं। बागवानी करते हुए मिट्टी की गुड़ाई करना, घास साफ करना, जमीन में बीज डालना और पौधे लगाना सिर्फ काम भर नहीं है, इससे आपको भीतरी खुशी का अहसास होता है। आपको यह जानकर खुशी होगी कि बागवानी करते हुए आपको कई तरह के फायदे हो सकते हैं। आइए जानते हैं इन फायदों के बारे में-

बढ़ता है आत्मविश्वास

gardening benefits inside

हमारे आसपास रहने वाले बहुत से लोग हमारी बुराई करते हैं, काम में कमी निकालते हैं या बिना-सोचे-समझे हमें दुख पहुंचा देते हैं। इन चीजों से हमारा आत्मविश्वास भी प्रभावित होता है। अगर आप इस तरह के व्यवहार से दुखी हो जाती हैं और यह सोचती हैं कि आमतौर पर लोग बुराई ही देखते हैं तो गार्डनिंग करते हुए आपको नया नजरिया मिलता है। गार्डनिंग के दौरान जब आपके लगाए पौधे बड़े होते हैं, उनमें फूल आते हैं तो आपको सृजनकर्ता होने की अनुभूति होती है। आपको यह महसूस होता है कि आप एक पॉजिटिव काम कर रहे हैं और उसके सुखद परिणाम मिल रहे हैं। इससे आपके भीतर की नेगेटिविटी और स्ट्रेस भी खत्म हो जाते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: कामयाब और खुश रहने के लिए जरूर पढ़ें ये इंस्पायरिंग विचार

बनी रहती है दिल की सेहत

बागवानी करते हुए शरीर की एक्सरसाइज भी होती है और मेंटली भी अच्छा महसूस होता है। इससे दिल की सेहत बनी रहती है और हार्ट डिजीज और स्ट्रोक जैसी गंभीर समस्याओं का जोखिम कम हो जाता है। 

 

कम हो जाता है तनाव

gardening for healthy heart inside

एक Dutch Study में पाया गया कि गार्डनिंग से तनाव में राहत मिलती है। इस स्टडी में लोगों को दो समूह में बांटा गया। एक को तनाव भरे काम दे दिए गए और एक को 30 मिनट के लिए बागवानी का काम दिया गया। पाया गया कि जो लोग बागवानी का काम कर रहे थे, उनका कार्डिसोल लेवल कम था।

इसे जरूर पढ़ें: खुद को खुश रखिए, क्योंकि आप हैं अपने लिए सबसे ज्यादा इंपॉर्टेंट: सोहा अली खान

कार्डिसोल हार्मोन स्ट्रेस से जुड़ा हुआ है। इसे देखते हुए अगर आपका दिन तनाव भरा गया है तो आपको बगीचे में शाम को कुछ वक्त जरूर बिताना चाहिए। 

मिट्टी में रहने से मिलती है खुशी

gardening for relieving from stress inside

वैज्ञानिक अध्ययनों में पाया गया है कि बागवानी करने से खुशी मिलती है। अध्ययनों में पाया गया है कि बागवानी करते हुए  M. vaccae नाम का बैक्टीरिया शरीर में जाता है, जो सरटॉनिन (खुशी महसूस कराने वाला हार्मोन) हमारे शरीर में चला जाता है। यह हार्मोन आप हरे-भरे माहौल में वॉक करके भी पा सकती हैं। 

अच्छी नींद आती है

यूनिवर्सिटी ऑफ पेंसिलवेनिया के एक अध्ययन में पाया गया कि बागवानी करने से दिमाग रिलैक्स हो जाता है। फिजिकल एक्टिविटी से शरीर की सभी प्रक्रियाए सही तरीके से काम करती हैं। इसीलिए दिन में बागवानी करने से रात में अच्छी नींद आती है।