इस समय देश और दुनिया में कोरोना ने अपना कब्जा जमा रखा है। कई जगहों पर अभी भी लॉकडाउन है और लोग बाहर नहीं निकल रहे हैं। इस तरह के पैंडेमिक वैसे तो प्राचीन काल से चलते आए हैं, लेकिन जिस तरह से कोरोना ने पूरी दुनिया पर इतनी जल्दी काबू कर लिया है ये बात इस महामारी को और भी घातक बनाती है। ये मुख्यता सांस से जुड़ा इन्फेक्शन है जो शरीर पर ऐसा असर करता है कि दिल की बीमारी, सेप्टिक शॉक, लिवर, किडनी फेलियर आदि समस्याएं भी पैदा कर सकता है। 

क्योंकि ये बीमारी इतनी खतरनाक है इसलिए वो लोग जिन्हें पहले से ही गंभीर बीमारी या फिर समस्याएं हैं उनके लिए ये बहुत बड़ी समस्या हो सकती है। वैसे तो ये पहले ही पता चल गया था कि ऐसे लोग जिन्हें पहले से हेल्थ कंडीशन्स थीं उन्हें कोविड का खतरा ज्यादा है पर नई रिसर्च ने कोविड, डायबिटीज और वायु प्रदूषण को लेकर एक नया लिंक बताया है। इसके मुताबिक डायबिटीज वाले लोगों को वायु प्रदूषण के कारण कोविड-19 इन्फेक्शन भी हो सकता है। इस सिलसिले में हमनें डॉ. मनोज चावला, निदेशक और सलाहकार, डाईबटोलॉजिस्ट, लीना डायबिटीज केयर एंड मुंबई से बात की। उन्होंने डायबिटीज के रोगियों के लिए कुछ बहुत जरूरी बातें बताईं। 

इसे जरूर पढ़ें- अगर सुबह उठने के बाद करते हैं ये 5 काम तो सर्दियों में तेज़ी से बढ़ेगा वजन

expert on diabetes and covid

वायु प्रदूषण वाले इलाकों में लोगों को होगी ज्यादा समस्या-

डॉक्टर मनोज चावला के मुताबिक वो इलाके जो जरूरत से ज्यादा प्रदूषित हैं वहां सांस की बीमारी और इससे जुड़े इन्फेक्शन्स का खतरा ज्यादा होता है और ऐसी जगहों पर ये इन्फेक्शन बहुत घातक साबित हो सकते हैं। इसलिए कोविड-19 के बढ़ने का अहम कारण वायु प्रदूषण हो सकता है। इससे लड़ने का एक तरीका ये है कि उन लोगों की इम्यूनिटी बढ़ाई जाए जो या तो इससे संक्रमित हो गए हैं या फिर रिस्क में हैं। इसलिए डायबिटीज से ग्रसित लोगों की कंडीशन ज्यादा खराब है। 

diabetes and air pollution

क्यों डायबिटीज से ग्रसित लोगों को है कोविड-19 का ज्यादा खतरा-

डायबिटीज से ग्रसित लोगों में खराब ग्लाइसेमिक कंट्रोल के कारण उनकी इम्यूनिटी कम हो जाती है जिससे उन्हें इन्फेक्शन का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। कई मामलों में इन्फेक्शन से आगे चलकर अन्य समस्याएं भी हो जाती हैं जैसे फेफड़ों में बैक्टीरियल संक्रमण आदि। इसलिए डायबिटीज से ग्रसित लोगों के लिए ये ज्यादा मुश्किल है खुद को कोविड-19 के खतरे से बचाना। हाल ही में दिल्ली मे जिस तरह से वायु प्रदूषण बढ़ा है वो खराब इम्यूनिटी वाले लोगों के लिए सांस संबंधित बीमारियों का कारण बन सकता है। 

covid diabetes

इसे जरूर पढ़ें- प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए क्यों जरूरी है NIPT टेस्ट, बच्चे के स्वास्थ्य पर पड़ता है ये असर  

Recommended Video

डायबिटीज से ग्रसित लोग कैसे करें अपनी सुरक्षा- 

कोविड-19 से बचने के लिए सबसे पहले इसकी गंभीरता को समझना जरूरी है। डॉक्टर मनोज चावला ने कुछ बातों का खास ध्यान रखने की सलाह दी है- 

1. जिस दिन एयर क्वालिटी खराब हो उस दिन घर से बाहर जाने से बचें। 

2. अपनी डाइट को लेकर खास ख्याल रखना जरूरी है। हमेशा हेल्दी डाइट लें जिससे इम्यूनिटी में सुधार हो। 

3. फिजिकल एक्टिविटी को कम न करें, ये इम्यूनिटी के लिए बहुत जरूरी होती है। 

4. स्मोकिंग और ड्रिंकिंग जैसी आदतों से बचें।  

ये सभी टिप्स उन लोगों के काम आएंगे जो डायबिटीज से ग्रसित हैं और उनकी समस्या बढ़ गई है। ये ध्यान रखना जरूरी है कि अगर आपकी इम्यूनिटी पहले से ही वीक है तो आपको हर मुमकिन कोशिश करनी चाहिए कि आप कोरोना से बचें। अपनी सेहत अपने हाथ है और इसका ध्यान रखना जरूरी है। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।