सुबह उठकर ब्रश करना सबकी आदत में शुमार होता है। ओरल हाइजीन का ये सबसे जरूरी है कि आप दांतों को ठीक से साफ करें और कम से कम दिन में दो बार दांतों के अच्छे से ब्रश करें, लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि ब्रश करने के तरीके को लेकर भी बहुत सारी समस्याएं हो सकती हैं। दरअसल, दांतों की सफाई का तरीका अगर गलत हुआ तो ये मसूड़ों की समस्या भी पैदा कर सकता है। 

आज हम आपको एक ऐसी गलती के बारे में बताएंगे जो बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी लोग करते हैं और ये ओरल हाइजीन के लिए अच्छी नहीं होती। 

दांतों को ब्रश करने को लेकर क्या कहती है रिसर्च?

National Center for Biotechnology Information (NCBI) की एक स्टडी के अनुसार सिर्फ 7% बच्चे ही सही तरीके से ब्रश कर पाते हैं और यही हाल वयस्कों का भी है जो हाई क्वालिटी ब्रशिंग की जगह सिर्फ स्क्रबिंग पर ध्यान देते हैं। यही स्टडी कहती है कि ब्रश करते समय 40% समय सिर्फ दांतों को घिसने में लगता है और ओरल हाइजीन को बच्चे और बड़े दोनों ही नजरअंदाज कर देते हैं। 

brushing and mistakes

इसे जरूर पढ़ें- प्रेग्नेंसी में अगर नहीं की दांतों की सही देखभाल तो जल्द टूट सकते हैं आपके दांत 

क्या है दांतों को ब्रश करने की सही तकनीक?

  • इसी रिसर्च के अनुसार दांतों को ब्रश करने की सही तकनीक है-
  • दांतों के अंदरूनी हिस्से में वर्टिकल मूवमेंट्स में ब्रश किया जाए।
  • दांतों के बाहरी हिस्से में सर्कुलर मूवमेंट्स किए जाएं। 
  • ब्रश करने का 90% हिस्सा इन्हीं दोनों मूवमेंट्स पर निर्धारित होना चाहिए जो अंदर और बाहर दोनों की तरफ अच्छे से सफाई करे।
  • हॉरिजॉन्टल मूवमेंट्स में ब्रश करने से ओरल कैविटी दूर नहीं होती है।  

Recommended Video

ब्रश करते समय कौन सी अहम गलती नहीं करनी चाहिए- 

ब्रश करते समय एक बहुत आम गलती लोग ये करते हैं कि वो बहुत तेज़ी से ब्रश करने लगते हैं। यानि लोग दांतों और मसूड़ों को झटका देते हैं और यही कारण है कि आपको आगे चलकर कैविटी होती हैं और दांतों में दर्द या तकलीफ शुरू हो जाती है। ये ब्रशिंग तकनीक न तो ठीक से गंदगी को निकाल पाती है और साथ ही इस तकनीक से हमारे दांतों को मसूड़ों को नुकसान भी होता है। ये वयस्कों और बच्चों दोनों में एक जैसा ही होता है।  

different brushing mistakes

इसे जरूर पढ़ें- दांतों में बार-बार होता है दर्द तो ये 10 आसान घरेलू नुस्खे आएंगे काम 

अन्य गलतियां जो ब्रश करते समय नहीं करनी चाहिए- 

  • अपना ब्रश हर 3 महीने में न बदलना एक बड़ी गलती हो सकती है। हमारे टूथ ब्रश में कुछ एन्जाइम्स होते हैं जो समय के साथ-साथ मुंह में आने लगते हैं। 
  • बहुत हार्ड या बहुत सॉफ्ट टूथब्रश न लें। उसकी जगह मिड ब्रिसल्स वाला टूथब्रश लेने की कोशिश करें। 
  • 2 मिनट से कम ब्रश करना ठीक नहीं होगा। अधिकतर लोग ब्रश करते समय जल्द बाज़ी करते हैं जो यकीनन अच्छा नहीं होता। 
  • हॉरिजॉन्टल मूवमेंट्स में ब्रश करना सही नहीं होगा। जिस तरह की तकनीक बताई गई है आप उसे ही चुनें।
  • ब्रश करते समय जुबान भी साफ करें। ये साफ करने से ही आपको मुंह की दुर्गंध से पूरी तरह छुटकारा मिल पाएगा। 
  • जरूरत से ज्यादा देर ब्रश को मुंह में रखना। ब्रश करते समय पेपर पढ़ना, बात करना, मुंह में देर तक ब्रश रखना ये सब कुछ सही नहीं होता।  

ये सारे टिप्स आपकी ओरल समस्याओं को कम करने में मदद करेंगे। अगर आपको बहुत ज्यादा दांतों की समस्या हो रही है या मसूड़ों से खून निकल रहा है तो आप डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरीज पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।  

रिसर्च का सोर्स: 

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6194646/

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6489256/ 

फोटो क्रेडिट: Shutterstock, Freepik