क्या रात को खाना खाने के बाद आपको ब्लोटिंग की समस्या रहती है? पेट अक्सर फूल जाता है और फिर नींद भी डिस्टर्ब होती है। दरअसल, हमारी बिगड़ी हुई स्लीप साइकल, स्ट्रेस और गलत टाइम पर खाना खाने की वजह से ऐसा होता है। जब से लोग वर्क फ्रॉम होम करने लगे हैं, तब से यह समस्या और भी ज्यादा बढ़ गई है। अब या तो आप अपनी खराब आदतों को बदल सकती हैं या फिर रात में अच्छी और सुकून भरी नींद के लिए थोड़ी कसरत कर सकती हैं।

इतनी जल्दी इन आदतों को बदलना आसान नहीं होता, तो फिर क्यों न आप कसरत का रास्ता ही अपना लें। रात को अच्छी नींद पाने के लिए आप हमारे बताए गए इन योगासन को ट्राई कर सकती हैं। हमें उम्मीद है कि इससे आपकी स्लीप, गुड नाइट स्लीप में तब्दील हो जाएगी। चलिए जानते हैं, ऐसे ही कुछ योगासनों के बारे में।

अधोमुखश्वानासन 

adhomukhasana for good sleep

यह सबसे लोकप्रिय योग आसनों में से एक है। इस आसन को दिन में किसी भी समय किया जा सकता है। इसे करने से आपके बाउल मूवमेंट्स में सुधार होता है और यह पेट को प्रभावित करता है। इसे करने से ब्लड सर्कुलेशन में भी सुधार आता है।

अधोमुखश्वानासन करने का तरीका 

  • सबसे पहले आप पेट के बल लेट जाएं और फिर पैरों और हाथों के बल आ जाएं।
  • सांस को बाहर छोड़ते हुए धीरे-धीरे हिप्स को ऊपर की तरफ उठाएं। 
  • अपनी कोहनियों और घुटनों को टाइट करके ऐसे आकार में ले आएं, जिससे उल्टा 'V' बनें।
  • आपके कंधे और हाथ एक सीध में, पैर हिप्स की सीध में और टखने बाहर की तरफ होने चाहिए।    
  • हाथों को जमीन पर रखकर थोड़ा दबाव बनाएं और गर्दन को स्ट्रेच करने की कोशिश करें। 
  • इसी मुद्रा में कुछ सेकेंड्स तक रुकें और फिर घुटने जमीन पर टिका दें। 

शवासन

shavasana for good sleep

शवासन श्वास को नियमित और बैलेंस करता है और गहरी और धीमी गति से श्वास लेने पर आपका दिमाग भी शांत होता है। सही तरीके से किया गया शवासन हमें 4 घंटे की नींद जितना आराम प्रदान कर सकता है।

शवासन करने का तरीका

  • सबसे पहले पीठ के बल लेट जाएं और आरामदायक स्थिति में आ जाएं। अपने पैरों को बाहर की तरफ फैला लें।
  • हाथों को शरीर के पास थोड़ी दूरी पर ढीला छोड़ दें। आपकी हथेलियां आसमान की तरफ खुली होनी चाहिए और आंखें बंद कर लें।
  • अब अपना पूरा ध्यान अपने ब्रीदिंग पैटर्न पर लगाएं।
  • इस पोजीशन में 10-15 मिनट रहने के बाद, नॉर्मल पोजीशन में आ जाएं।

बालासन

balasana for good sleep

यह आसन करने से आपके पेट की समस्याओं में राहत मिलती है। ब्लोटिंग और अपच को भी इस आसन से दूर किया जा सकता है।  नींद न आने का एक अन्य कारण स्ट्रेस, चिंता और एंग्जायटी हो सकती है। इस मुद्रा का नियमित अभ्यास मन को तनाव से छुटकारा दिलाता है और सकारात्मक ऊर्जा को सक्रिय करता है।

बालासन करने का तरीका

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले वज्रासन में बैठ जाएं। 
  • अपनी कमर बिल्कुल सीधी रखें और गहरी सांस लेते हुए शरीर के ऊपरी हिस्से को आगे की ओर झुकाएं। 
  • दोनों हाथों को पीछे रखें और कोशिश करें कि सिर सामने जमीन को छुए।
  • इस पोजीशन में लगभग 15 सेकेंड रहने की कोशिश करें। 
  • सांस छोड़ते हुए शरीर के ऊपरी भाग को उठाएं और वज्रासन की पोजीशन में वापस आ जाएं।

उष्ट्रासन

camel pose asana for good sleep

उष्ट्रासन को कैमल पोज भी कहते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें आपकी बॉडी की शेप उंट की तरह बन जाती है। इस मुद्रा के नियमित अभ्यास से आपके कंधे और कमर के दर्द में राहत मिलती है। कैमल पोज करने से आपकी पेट फूलने की समस्या से भी छुटकारा मिलता है।

उष्ट्रासन करने का तरीका

  • इस योग को करने के लिए वज्रासन में बैठ जाएं।
  • अब अपने कूल्हों और शरीर को ऊपर की तरफ उठाएं और अपनी चेस्‍ट को खोलें और पीछे की तरफ मुड़ जाएं।
  • फिर अपने कंधे को पंजे तक लेकर जाएं जिससे आपके कंधे स्ट्रेच होंगे।
  • अब धीरे-धीरे सिर को पीछे की तरफ लेकर जाएं।
  • जितनी देर हो सके इस पोजीशन में रहें और साथ ही गहरी सांस लेते रहें। 

Recommended Video

उत्तानासन

uttanasana for better sleep

उत्तानासन या आगे की ओर झुकने की मुद्रा, गैस्ट्रोइंटेस्टिनल ट्रैक्ट के लिए अच्छा होता है। यह कब्ज और ब्लोटिंग की समस्या को दूर करता है। इसके नियमित अभ्यास से दिमाग में रक्त और ऑक्सीजन का प्रवाह अच्छे से होता है।

उत्तानासन करने का तरीका

  • योग मैट पर सीधे खड़े हो जाएं और दोनों हाथ हिप्स पर रख लें। 
  • सांस को खींचते हुए और कमर को मोड़ते हुए आगे की तरफ झुकें।
  • अपने घुटनों को मोड़ना नहीं है और फिर अपने हाथों से टखने को पकड़ें। 
  • सिर को नीचे की तरफ झुकाएं। 
  • इसी स्थिति में 15-30 सेकेंड तक स्थिर बने रहें। 

अब आप इन आसनों को करके रात में अच्छी नींद ले सकती हैं। पेट फूलने की जो समस्या आपको रहती थी, वो भी नहीं होगी और स्ट्रेस में भी कमी आएगी। ऐसे ही अन्य आसनों के बारे में जानने के लिए पढ़ती रहें हरजिंदगी।

 

Image Credit : freepik.com