खुद को फिट और ब्रेन को शांत रखने के लिए रेगुलर योग करने की सलाह दी जाती है। हालांकि योगासन आमतौर पर विशिष्ट होते हैं और शरीर के विभिन्न हिस्सों पर अलग-अलग तरह से फोकस करते हैं, लेकिन एक योगासन ऐसा भी है जो संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा है और इसे अपने रूटीन में शामिल करके आप अपने तन और मन को दुरुस्‍त रखने के साथ रोजमर्रा में होने वाली परेशानियों को भी आसानी से दूर कर सकती हैं और यह आपकी सुंदरता में भी चार-चांद लगा देगा। जी हां हम शशांकासन के बारे में बात कर रहे हैं जिसे खरगोश मुद्रा के नाम से भी जाना जाता है। इस योग के फायदों के बारे में हमें एक्‍ट्रेस सोनल चौहान बता रही हैं। 

सोनल चौहान एक फिटनेस फ्रीक एक्‍ट्रेस हैं और खुद को फिट रखने के लिए रोजाना योग करती हैं। इतना ही नहीं, वह अपने फैन्‍स को भी फिटनेस के लिए इंस्‍पायर करती हैं और योग करते हुए फोटोज और वीडियोज अपने इंस्‍टाग्राम पर शेयर करती रहती हैं। हाल ही में उन्‍होंने अपने इंस्‍टाग्राम पर शशांकासन करते हुए एक फोटो शेयर की है। फोटो के कैप्‍शन में उन्‍होंने लिखा है, "अधिकांश पलटने वाले योग की तुलना में यह बहुत ही आसान है क्योंकि आप इसमें पूरी तरह से उल्टा नहीं होते हैं और सिर पर बहुत कम वजन पड़ता है। हालांकि इसके फायदे जैसे एनर्जी और मानसिक स्पष्टता पलटने वाले आसन की तरह ही हैं क्योंकि इसमें सिर आपके दिल के नीचे होता है। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कहां से शुरू कर रहे हैं लेकिन ज्‍यादा से ज्‍यादा फायदे पाने के लिए पूरे योग मुद्रा के दौरान सांसों पर ध्‍यान केंद्रित करना याद रखें। सांस लेने की तुलना में सांस पर अधिक ध्यान केंद्रित करना सबसे उपयुक्त और आसान है।'' आइए इस आसन के फायदों के बारे में उन्‍हीं से जानते हैं।

इसे जरूर पढ़ें: रुजुता दिवेकर: योग से खुद को फिट, स्लिम और हेल्‍दी रख सकती हैं महिलाएं

 
 
 
View this post on Instagram

ॐ🌸🌸🌸ॐ 🙏🏻शशांकासन/The Rabbit Pose🙏🏻 •Shashankasana (śaśakā āsana) or The Rabbit Pose gives a good stretch to the upper body, including the spine and postural muscles, which releases pressure on the spinal nerves. •It not only opens the spine deeply, helping to stretch and stimulate the inter-vertebral disks, but also helps to maintain the spongy nature of the disks which helps them absorb shock from daily movement to prevent back pain. •The forward bend massages and stimulates the abdominal muscles and organs, which improves digestion. •The pituitary, pineal, thyroid and parathyroid glands and the immune and endocrine systems are also stimulated. •This pose tones the pelvic muscles and relaxes the leg muscles and relieves sciatic pain. •Compression on the legs can reduce varicose veins.  It can also help those with sexual disorders (by strengthening the uterus, for example) and diabetes. Energetic Benefits •Shashankasana supplies the brain and sensory organs with blood, improving concentration and memory and inducing relaxation. •The pose resembles the fetal position, which creates a sense of security and a feeling of surrender. •This pose is known to provide relief from mental stress and is recommended for those that feel emotionally unbalanced or have difficulty controlling anger or frustration. 🌸🐇🦋 It’s easier than most inversions because you’re not completely upside down and there is very little weight on the head. You can however receive many of the same benefits – energization and mental clarity to name a few – because your head is below your heart 💓 No matter where you’re starting from, remember to focus on breathing during the entire yoga pose to gain maximum benefits. It is most appropriate and accessible to focus more on the exhales than on inhaling. —————————— @anshukayoga . . . . . . . . . . . . . . . . #ॐ #morning #peace #love #calm #sonalchauhan #yoga #pose #shashankasana #magic #miracle #surrender #faith #beauty #strech #yogagirl #yogamat #fitness #yogafit #anshukayoga #fitnessmotivation #rabbitpose #fitindia #fit

A post shared by Sonal Chauhan (@sonalchauhan) onJul 20, 2020 at 9:39pm PDT

शशांकासन करने का तरीका

  • एड़ी पर बैठकर इस योग की शुरुआत करें। 
  • सांस छोड़ें और अपने हाथों को पीछे की ओर रखते हुए एड़ी को पकड़ें। 
  • ऐसा करते हुए अंगूठे बाहर और अंगुलियां अंदर होनी चाहिए। 
  • अपने कोर का सहारा लेते हुए सिर को घुटनों की ओर जमीन पर रखकर घुटनों पर इस तरह से आ जाएं कि माथा घुटनों को छू रहा हो।
  • हिप्‍स को ऊंचा उठाएं और जब तक आपकी कोहनी लॉक है तब तक इसी पोजिशन में रहें।
  • एक मजबूत पकड़ के साथ सांस लें और सांस छोड़ते हुए अपनी एड़ी को स्‍ट्रेच करें।
  • पांच सांसों तक इस पोजिशन में रहें और धीरे-धीरे वापस आ जाएं।

Recommended Video

शशांकासन के फायदे सोनल चौहान से जानें

rabbit pose inside

  • शशांकासन से ऊपरी बॉडी में स्‍ट्रेच आता है जिसमें रीढ़ और स्नायु मसल्‍स शामिल होते हैं जो रीढ़ की नसों पर प्रेशर डालते हैं।
  • यह न केवल रीढ़ को गहराई से खोलता है बल्कि स्‍ट्रेच में मदद करता है और इंटरवर्टेब्रल डिस्क को उत्तेजित करता है और डिस्क की स्पंजी प्रकृति को बनाए रखने में भी मदद करता है जो पीठ दर्द को रोकने में रामबाण है। 
  • आगे की ओर झुकने से पेट की मसल्‍स की मसाज हो जाती है जिससे डाइजेशन में सुधार होता है।   
  • पिट्यूटरी, पीनियल, थायरॉयड और पैराथायरॉयड ग्‍लैंड्स, इम्‍यून और इन्डोक्राइन सिस्‍टम्स भी उत्तेजित होते हैं।
  • यह मुद्रा पेल्विक मसल्‍स को टोन करती है और पैर की मसल्‍स को आराम देती है। साथ ही इससे साइटिका के दर्द से भी राहत मिलती है।
  • पैरों पर संपीड़न वैरिकोज़ वेन्‍स को कम करता है। यह डायबिटीज और सेक्‍शुअल डिसऑडर्स (यूट्रस को मजबूत करके) को दूर करने में भी मदद करता है।

एनर्जेटिक बेनिफिट्स

  • शशांकासन ब्‍लड के साथ ब्रेन और संवेदी अंगों की आपूर्ति करता है जिससे एकाग्रता और स्मृति में सुधार और रिलैक्‍स होने में मदद मिलती है।
  • मुद्रा फीटल की स्थिति से मेल खाती है जो सुरक्षा और आत्मसमर्पण की भावना पैदा करती है।
  • इस मुद्रा को मानसिक तनाव से राहत प्रदान करने के लिए जाना जाता है। इसे उन लोगों को रेगुलर करने की सलाह दी जाती है जो भावनात्मक रूप से असंतुलित महसूस करते हैं या जिन्हें क्रोध या निराशा को नियंत्रित करने में कठिनाई होती है।

इस तरह से आप भी रोजाना इस योगासन को करके हेल्‍थ से जुड़े कई फायदे पा सकती हैं। फिटनेस से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।