इस महामारी के दौर में लोग कई शारीरिक समस्याओं से जूझ रहे हैं। कुछ लोगों का वजन बढ़ रहा है, कुछ लोगों को ज्यादातर बैठे रहने से गैस की समस्या हो रही है। इन दिनों लोगों को सबसे ज़्यादा जिस समस्या का सामना करना पड़ रहा है, वह है कमर दर्द। आजकल कमर दर्द की समस्या आम हो गई है, जो लगभग हर आयु वर्ग के लोगों में देखी जा रही है। इसका मुख्य कारण यह हो सकता है कि लॉकडाउन लगा हुआ है जिसकी वजह से लोग घर से ज्यादा नहीं निकल पा रहे हैं। इसके अलावा, इसी दौरान ऑनलाइन स्क्रीन या डिजिटल तकनीक से ज्यादा जुड़ाव भी हो गया है, जिस कारण कमर दर्द की समस्या लगातार बढ़ रही है क्योंकि यह आदत हमारे शरीर को नुकसान पहुंचा रही हैं।

लेकिन, अगर आपके लगातार कमर में दर्द है, तो यह समझना जरूरी है कि आखिर कमर दर्द क्यों हो रहा है? कहीं यह साइटिका पेन तो नहीं है? क्योंकि कमर दर्द के प्रमुख कारणों में मसल्स में लचक, तनाव, क्षतिग्रस्त डिस्क, चीजों को गलत तरीके से उठाना, साइटिका और आर्थराइटिस/ओस्टियोपोरोसिस हो सकता है। कुछ लोग साइटिका पेन को कमर दर्द ही समझते हैं, जो गलत है क्योंकि साइटिका पेन, कमर दर्द से बहुत अलग है। इसलिए जरूरी है साइटिका पेन की समय के अनुरूप पहचान कर, सही इलाज हो।

इसी विषय को लेकर हमने एक्सपर्ट डॉक्टर हितेश खुराना से बात की। आपको बता दें कि डॉक्टर हितेश खुराना कायरोप्रैक्टक, एर्गोनोमिक विशेषज्ञ और वरिष्ठ फिजियोथेरेपिस्ट हैं। इन्होंने हमें साइटिका पेन के बारे में विस्तार से बताया है, जो हम आपके साथ इस लेख के माध्यम से साझा कर रहे हैं। इसके अलावा, हम आपको यह भी बताएंगे कि साइटिका पेन या कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए कौन-से वर्कआउट या योगासन उपयोगी हैं लेकिन इससे पहले ये समझना जरूरी है कि आखिर साइटिका पेन क्या होता है। तो चलिए जानते हैं....

क्या है साइटिका पेन?

dr hitesh khurana

डॉ. हितेश खुराना के अनुसार साइटिका का दर्द शरीर के एक हिस्से को मुख्य तौर पर प्रभावित करता है, जो पैर की नसों में तेज और असहनीय दर्द देता है। इसके अलावा, यह शरीर में साइटिका की नसों यानी कमर के निचले हिस्से से शुरू होकर हिप्स, जांघों से होते हुए पैरों तक पहुंच जाता है।

साइटिका के दर्द से मरीजों को कई दिक्कतों का भी सामना करना पड़ सकता है। जैसे पैर में दर्द, सूजन या दर्द का हिस्सा सुन होना आदि समस्याएं हो सकती हैं। तो आप समझ ही गए होंगे कि ये दर्द कमर के दर्द से कैसे अलग है क्योंकि कमर दर्द एक सामान्य दर्द और समस्या है। चलिए, अब हम आपको बताते हैं कि आखिर साइटिका पेन होने की क्या वजह हो सकती हैं।

साइटिका पेन होने के कारण

बढ़ती उम्र

उम्र बढ़ने के कारण शरीर में कई तरह के परिवर्तन होते रहते हैं, जैसे कि हड्डी का फड़कना, हर्नियेटेड डिस्क, दर्द आदि। साथ ही, बढ़ती उम्र साइटिका का कारण भी हो सकता है।

मोटापा

अगर आपका वजन सामान्य से अधिक है, तो अधिक वजन के कारण आपकी रीढ़ की हड्डी पर तनाव होने की संभावना बढ़ जाती है, जिससे साइटिका की समस्या हो सकती है।

अधिक समय तक बैठना

जिन लोगों को लंबे समय तक बैठने की आदत है, उन लोगों में सक्रिय लोगों (कामकाजी लोग) की तुलना में साइटिका की संभावना अधिक होती है।

पेशा या व्यापार

उपरोक्त कारणों के अलावा, व्यवसाय साइटिका का एक अन्य कारण भी हो सकता है क्योंकि कुछ व्यवसायों में भारी भार, पीछे की ओर मुड़ना या लंबे समय तक मोटर वाहन चलाना आदि काम करने पड़ते हैं, तो यह भी साइटिका की समस्या होने की एक वजह है।

साइटिका पेन से आराम पाने के लिए उपयोगी हैं ये आसन

इसके अलावा, डॉ हितेश खुराना ने हमें कुछ योग भी साझा किए, जिसे साइटिका पेन में करना लाभदायक हो सकता है।

अधोमुख आसन

yoga for pain

यह आसन साइटिका पेन में करना बहुत लाभदायक है क्योंकि इस योग को करने से कमर और निचले हिस्से की मांसपेशियों में खिंचाव महसूस होता है। साथ ही, ब्लड सर्कुलेशन में भी सुधार होता है और दर्द से राहत मिलती है। इसके अलावा, यह आपके शरीर को मजबूत करने के साथ- साथ आपके दिमाग को भी साफ करता है और आपकी हड्डियों को भी मजबूत करता है।  

कैसे करें  

1- सबसे पहले योग आसन पर बैठे और पेट के बल लेट जाएं ।

2- ऐसा करने के बाद आप सांस छोड़ते हुए अपने कूल्हों को ऊपर उठाएं। 

3- अब अपनी उंगलियों को फैलाएं और अपने पैरों को फर्श पर रखें। इस मुद्रा में थोड़ी देर रुके और वापस आ जाएं।  

इसे ज़रूर पढ़ें-तन और मन को दुरुस्‍त रखने के लिए हर महिला को करने चाहिए ये 5 योग

बालासन (चाइल्ड पोज़) 

cobra pose

यह आसन शरीर को आराम देने का काम करता है। इसे नियमित रूप से करने से शरीर का सारा दर्द खत्म हो जाता है। ये आसन उन महिलाओं या लोगों के लिए भी बेस्ट है, जो कमर दर्द या साइटिका पेन का सामना कर रहे हैं। इसलिए अगर आप दर्द से राहत पाना चाहते हैं, तो ये आसन कर सकते हैं।  

कैसे करें 

1-इसको करने के लिए आप वज्रासन की मुद्रा में बैठ जाएं।

2- दोनों हाथ को सिर की सीध में ऊपर की तरफ ले जाएं। ध्यान रहे, दोनों हाथों को मिलाना नहीं हैं।

3- अब सांस छोड़ते हुए आगे की तरफ जाते हुए हथेलियां जमीन की तरफ लेकर जाएं। बस सिर को भी ज़मीन पर रखें और ये मुद्रा दोहराएं। 

Recommended Video

भुजंगासन (कोबरा पोज)  

child pose

आप कोबरा पोज़ को अपनी एक्सरसाइज रूटीन में शामिल कर सकते हैं क्योंकि इस योग को करने से मांसपेशियों में खिंचाव होता है और दर्द में आराम मिलता है। इसके अलावा, अगर आप थका हुआ महसूस कर रही हैं, तो ये योग और भी असरदार है क्योंकि ये योग दिमाग को शांत और बॉडी को आराम दिलाता है। इसलिए आप ये योग नियमित रूप से कर सकते हैं।  

कैसे करें 

1- कोबरा पोज़ करने के लिए आप पेट के बल सो जाएं।

2- फिर अपने दोनों हाथों को सीने के पास लेकर आएं।

3- इस दौरान आप अपनी कोहनियों को पसलियों की तरफ ही रखें।  

4- ऐसा करने के बाद आप अपने सीने को ऊपर की तरफ उठाएं और गहरी सांस लें।

5- फिर आप कंधों को घूमते हुए सिर को पीछे की तरफ ले जाएं। अंत में सांस को छोड़ते हुए अपने सीने को नीचे की तरफ ले जाएं। इस प्रक्रिया को दोहराते जाएं। इसके अलावा, मांसपेशियों में खिंचाव लाने के लिए कैंची हैमस्ट्रिंग स्ट्रेच, बैक फ्लेक्स स्ट्रेच, सिंगल नी टू चेस्ट स्ट्रेच आदि करना भी उपयोगी है। इसके बावजूद, अगर आपके दर्द में कोई आराम नहीं आता, तो आपको डॉक्टर या किसी फिजियोथेरेपिस्ट से पूरा इलाज करवाना चाहिए।  

इसे ज़रूर पढ़ें-हिप्स और थाइज को शेप में लाने के लिए घर पर ये 5 तरह के स्क्वाट्स करें

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेखपढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit- Freepik and google suggest