फ़िल्म ‘प्यार का पंचनामा’ और ‘सोनू के टीटू की स्वीटी’ में दिखाई दीं एक्ट्रेस नुसरत भरुचा रियल लाइफ में अपनी फिटनेस पर पूरा ध्यान देती हैं। उनके लिए वर्कआउट और डाइट करना बहुत ही ज़रूरी है। दिन भर में आप क्या खाते हैं और कितना वर्कआउट करते हैं, ये आपके चेहरे और बॉडी पर बहुत असर करता है। वेट लूज़ करने के बारे में भी नुसरत ने हमसे बात की है और बताया कि वेट लूज़ को लेकर बहुत सारी अफवाहें हैं जो लोगों को अवॉयड करना चाहिए।

नुसरत ने हमसे खास बातचीत के दौरान वर्कआउट की अहमियत और अपने डाइट प्लान के बारे में बताया और यह भी बताया कि कैसे छोटी मोती चीज़ों को अपना कर आप वर्कआउट करना शुरू कर सकते हैं।

ये है वेट लूज़ करने के बेअसर टिप्स

nushrat bharucha talking about her fitness inside

नुसरत ने कहा कि आजकल इन्टरनेट पर वेट लूज़ करने के कई उपाय दिख जाते हैं मगर, इनमें आधे से ज्यादा तो बेअसर होते हैं। जैसे Meals स्किप करना, लोग कहते हैं कि रात को कुछ मत खाओ या फिर लंच मिस करो और वेट लूज़ हो जाएगा, जो कि सही नहीं है। वेट लूज़ करने एक लिए सही टाइम पर खाना ज़रूरी है। मील्स स्किप करने से वेट लूज़ नहीं होता। आप meals स्किप मत कीजिए, बस उसे हेल्दी बना दीजिये। जैसे दिन में दो रोटी और सब्ज़ी खाइए और रात को फ्रूट्स, सूप या सलाद। लोग कहते हैं कि सुबह उठकर गर्म पानी पियो और बस... लेकिन आपको वर्कआउट भी करना होता है। सिर्फ गर्म पाने पीने से कुछ नहीं होगा। जीरा, नमक आय शहद डाल कर पानी पीने से आपका डाइजेस्टिव सिस्टम सही होगा, वेट लूज़ नहीं। यह सब बेअसर अफ़वाह जैसे टिप्स हैं।

No-Carbs या Only-Fruit, यह है मेरा डाइट

nushrat bharucha talking about her fitness inside

नुसरत ने आगे कहा कि मैं अपने खाने पर पूरा ध्यान देती हूं। मैं फूडी नहीं हूं ज्यादा इसलिए डाइट को लम्बे टाइम तक फॉलो करना मेरे लिए आसान है। मैं No-Carbs या Only-Fruit डाइट को फॉलो करती हूं। यह मेरे शूटिंग पर डिपेंड होता है। जब मैं शूटिंग करती हूं तो शेड्यूल थोड़ा बिज़ी होता है इसलिए मैं No-Carbs डाइट फॉलो करती हूं और जब मैं शूट पर नहीं होती तो स्ट्रिक्टली Only-Fruit डाइट पर होती हूं।

इसके अलावा नुसरत ने छोटे-छोटे वर्कआउट के बारे में भी बात की जो वर्कआउट करने वाले beginner के लिए काफी फायदेमंद है। नुसरत ने कहा, आप शुरुआत में योग और स्ट्रेचिंग, ज़ुम्बा या पिलाटेज जैसे लाइट वर्कआउट कर सकते हैं और धीरे-धीरे फिर वेट लिफ्टिंग, पुशअप्स की तरफ बढ़ें। अगर पहली बार कोई वर्कआउट करने जा रहे हैं तो शुरुआत के कुछ महीने तो बस लाइट वर्कआउट ही करें।