जब भी किसी को मोटा होना होता हैं तो उसे सबसे पहले दूध के साथ केला खाने की सलाह दी जाती है। जबकि दूसरी तरफ, अगर आप डाइटिंग पर हो और nutritionist के पास जाती हैं तो वह आपको यहीं सलाह देंगे कि आपको रोजाना एक केला जरूर खाना चाहिए।
जबकि कुछ महिलाओं का मानना हैं कि केला वजन बढ़ाने में हेल्‍प करता है, तो दूसरी महिलाएं ये मानती हैं कि यह वजन घटाने में हेल्‍प करता है। यह रहस्य अनसुलझा है कि यह एक फल वजन घटाता है या बढ़ाता। 
Well, वजन बढ़ाना या घटाना इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितने केले खाती हैं। अगर आप सिर्फ केले ही खाती हैं तो आपका वजन अपने आप कम होने लगेगा। लेकिन आप अपने रेगुलर मील के साथ 5 से 6 केले भी रोजाना खाती हैा तो निश्चित रूप से आपको वजन बढ़ेगा ही। किसी भी तरह से केले खाना आपकी हेल्‍थ के लिए फायदेमंद होता है।

Read more: Weight loss से लेकर एंटी-एजिंग तक चीनी छोड़ने से बॉडी में होते हैं ये बदलाव

केले पर आयुर्वेदिक विचार

हम सब इस तथ्य को जानती हैं कि an apple a day keeps a doctor away. हालांकि, आयुर्वेद के इस पर एक अलग राय है। आयुर्वेद का कहना है, "रोजाना एक केला खाने से आप सभी बीमारियों से दूर रह सकते हैं।"
आयुर्वेद के अनुसार, केले वात और पित्त दोषों को बैलेस करता है। हालांकि, अगर यह ठीक से डाइजेस्‍ट नहीं होता है तो कफ दोष को बढ़ा सकता है। आयुर्वेदिक ग्रंथ में यह बताया गया है कि केले से तीन दोषों को कंट्रोल किया जा सकता है, जिससे आपकी बॉडी ठंडी रहती हैं। केले के बारे में एक और दिलचस्‍प तथ्‍य यह है कि मोटापे से लड़ने में आपकी हेल्‍प करता है। और साथ ही बॉडी की मसल्‍स बनाने में हेल्‍प करता है। आयुर्वेद में एनीमिक लोगों हीमोग्‍लोबिन बढ़ाने के लिए केला खाने की सलाह दी जाती है।

Weight Loss के लिए केले
Banana for weight=MAIN ()

एक केले में 108 कैलोरी होती है, जो लगभग 18 ग्राम कार्बोहाइड्रेट के बराबर है। कार्बोहाइड्रेट हमारी बॉडी के अंगों को सही तरीके से काम करने के लिए जरूरी हैं। हालांकि, कार्बोहाइड्रेट से आपका वजन ज्‍यादा भी बढ़ सकता है।

केले विटामिन, मिनरल, और फाइबर से भरपूर होता है जो basic metabolic rate यानी बीएमआर में सुधार करने में हेल्‍प करता है। जब भी बीएमआर बढ़ता है, तो हमारी बॉडी automatically वजन कम करती है और आमतौर पर यह नॉर्मल टाइम की तुलना में तेज होता है। केले में पेक्टिन भी होता है जो हमें लंबे समय तक भरा हुआ महसूस कराने में हेल्‍प करता है।

केले में लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स है, जो वजन कम करने में हेल्‍प करता है। अधिकांश फलों में विटामिन बी 6 में नहीं होता हैं। लेकिन केले में अच्‍छी मात्रा में विटामिन बी 6 होता है जो intense workout के बाद हमारी बॉडी को हेल्‍दी रखने में हेल्‍प करती है। कई रिसर्च से पता चलता है कि विटामिन बी 5 और फोलिक एसिड की कमी हार्ट संबंधित कई बीमारियों के कारण हो सकती है। इस प्रकार, केले खाना नियमित रूप से हार्ट डिजीज को रोकने में हेल्‍प करता है। यह बॉडी में ब्‍लड शुगर के लेवल को कंट्रोल करने में भी हेल्‍प करता है।

केले में एंजाइम होते हैं जो भोजन पचाने के लिए आंतों द्वारा आवश्यक समय मात्रा को कम करके पाचन प्रक्रिया को गति देते हैं। इससे वजन कम करने के लिए metabolism अधिक उपयुक्त होता है। केला स्वाद में मीठा होता है, और इस प्रकार, हमारे taste buds को इस फल के सेवन से संतुष्टी मिलती हैं।

केले के ये गुण यह किसी भी weight loss program के लिए एक ideal food साबित करता हैं।

Weight Gain के लिए केले
Banana for weight=MAIN ()

केले कैलोरी से भरपूर होते हैं, और यही कारण है कि वजन बढ़ाने के लिए केले को एक पुरानी विधि माना जाता है। एक छह इंच के केला में लगभग 90-95 कैलोरी होती हैं, जो एक छोटी कैंडी खाने के मुकाबले बहुत कम है। वजन बढ़ाने के लिए अपने नियमित आहार में केले को शामिल करने का सबसे अच्छा तरीका smoothies or milkshakes में इसे मिलाना है।

चूंकि केले विटामिन बी 6 से भरपूर होते हैं, इसलिए ये हमारी बॉडी में ब्‍लड सर्कुलेशन को रेगुलर करने में हेल्‍प करते हैं। इससे हमारी बॉडी में हेल्‍दी ब्‍लड सेल्‍स का उत्‍पादन बढ़ता है। केला मैंगनीज से भी भरपूर होता है जिससे डाइजेशन, बॉउल मूवमेंट को नियमित करने और हड्डी से जुड़े रोगों से बचने में हेल्‍प मिलती है। केले में पोटेशियम एक और महत्वपूर्ण घटक है। इसलिए इस फल में पोटेशियम की मात्रा भी अधिक होती है जिससे बॉडी में इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखने में मदद मिलती है। यह नर्वस और मसल्‍स के लिए भी जरूरी है और सेल्‍स में एनर्जी के उत्पादन में हेल्‍प करता है।

एक बड़ा केला हमें दैनिक पोटेशियम की आवश्‍यकता का लगभग 10 प्रतिशत प्रदान करता है। ज्‍यादातर nutritionists सुझाव देते हैं कि केले की मदद से वजन बढ़ाने के लिए आपको केले के साथ-साथ बहुत कुछ खाने की जरूरत है और फिर वजन metabolism और आपकी बॉडी द्वारा की गई activity के लेवल पर भी निर्भर करता है। इसका कारण यह है कि जब आप एक केला खाती हैं, तो नैचुरल शुगर या कार्बस तुरन्त ग्लूकोज में टूट जाते हैं। physical activities के लिए एनर्जी पाने के लिए इस ग्लूकोज का उपयोग किया जाता है। अतिरिक्त ग्लूकोज को liver और muscles में ग्लाइकोजन के रूप में स्‍टोर किया जाता है और जब आवश्यक हो तब इसका इस्‍तेमाल किया जाता है। जब स्‍टोर ग्लाइकोजन की मात्रा इसकी स्‍टोर सीमा से अधिक है, तो इसे फैट के रूप में स्‍टोर किया जाता है।

हालांकि, dieticians यह भी सुझाव देते हैं कि आपको दिन में 5 या 6 केले से ज्‍यादा नहीं खाना चाहिए क्योंकि इससे कब्ज हो सकती है और आपका bowel movements को धीमा हो सकता है

Read more: हर मोटी महिला को सुनने को मिलते हैं ये 8 comments