बहुत कोशिशों के बावजूद अगर आपका वजन कम नहीं हो रहा है तो आपको तेजी से वजन कम करने के लिए अपनी बॉडी टाइप के बारे में जानना बहुत जरूरी है। हम सभी का बॉडी शेप और साइज अलग-अलग होता है, और हम इस पर गर्व भी करते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि काश आप जान पाती कि अपनी बॉडी शेप के अनुसार कैसे फिट रहें। हमारा बॉडी शेप हमारे मेटाबॉलिज्म और फैट के कारण अलग होता है। कुछ महिलाओं के हिप्स के आस-पास ज्यादा फैट जमा हो जाता है, तो किसी का बैली पर फैट बहुत ज्यादा होता है। लेकिन डाइट और वर्कआउट से आप इसे आसानी से कम कर सकती हैं। लेकिन इसके लिए आपको अपनी बॉडी टाइप के बारे में पता होना चाहिए। इस बारे में जानने के लिए हमने डॉक्टर सिमरन सैनी से बात की, जो फोर्टिस ग्रुप ऑफ़ हॉस्पिटल्स के डाइट्स डिपार्टमेंट में काम करती हैं और साथ ही एक सफल वेट लॉस कंसल्टेंट हैं। उन्होंने हमें बताया कि बॉडी में फैट का वितरण बॉडी शेप के अनुसार अलग-अलग होता है, उसके अनुसार ही हमें अपने लिए डाइट और सबसे अच्छा वर्कआउट करना चाहिए। आइए जानें बॉडी शेप क्या और इसके अनुसार हमें कौन सी एक्सारसाइज और डाइट चुननी चाहिए।

इसे जरूर पढ़ें: Fat To Fit: ‘यह हैं मोहब्बतें’ फेम दिव्यांका त्रिपाठी से जानें, उन्होंने कैसे किया अपना वजन कम?

एप्पल शेप बॉडी
apple shape body

इस टाइप की बॉडी में पेट के आस-पास बहुत ज्यादा फैट होता है। इसे विसेरल फैट कहा जाता है और यह त्वचा के नीचे काफी गहराई तक होता है और अंगों के आसपास चिपक जाता है। यही कारण है कि एप्पल शेप बॉडी यानि सेब के आकार वाली बॉडी के लोगों में कई तरह की हेल्थ प्रॉब्‍लम्स का खतरा ज्यादा होता है।

इसका क्या मतलब है: टाइप 2 डायबिटीज, हार्ट डिजीज, हाई ब्ल्ड प्रेशर, संज्ञानात्मक गिरावट, चिंता और ऑस्टियोपोरोसिस का जोखिम बहुत ज्यादा होता है।

हेल्थ टिप: एप्पल शेप बॉडी की महिलाओं को बैलेंस डाइट और कार्डियो वर्कआउट को अपनाना चाहिए। दोनों हेल्दी लाइफस्टासइल का हिस्सा है जिसे आपको रोजाना की आदतों में शामिल करना चाहिए।

पियर शेप बॉडी
pears shape body

इस तरह की बॉडी वाली महिलाओं की बॉडी में फैट मुख्य रूप से कमर के आस-पास देखने को मिलता है। इनका कमर का हिस्सा काफी चौड़ा होने के कारण उनके शरीर की बनावट नाशपती की तरह लगती हैं।

इसका क्या मतलब है: विशेष रूप से महिलाओं के लिए हार्ट डिजीज का जोखिम कम होता है। लेकिन पैरों पर वजन के कारण अतिरिक्त प्रेशर रहता है। ऐसे में जोड़ों में दर्द की समस्या हो जाती है।

हेल्थ टिप: इस तरह की बॉडी वाली महिलाओं को अपना बढ़ता वजन रोकने के लिए रेगुलर कार्डियो एक्सडरसाइज, बॉडी के ऊपरी हिस्से के लिए रेसिस्टेंस ट्रेनिंग करनी चाहिए और बैलेंस डाइट लेनी चाहिए।

ऑवरग्लास शेप बॉडी
hourglass body weight loss

महिलाओं की इस तरह की बॉडी शेप कई लोगों को आकर्षक लगती है। इस प्रकार की बॉडी शेप वाली महिलाएं ऐसी बॉडी पाने के कारण बहुत लकी होती है और उन्हें सिर्फ अनहेल्दी एक्स्‍ट्रा फैट बढ़ने की चिंता करने की जरूरत होती है।

इसका क्या मतलब है: हार्ट डिजीज, स्ट्रोक, टाइप 2 डायबिटीज, गॉलब्लैकडर और किडनी डिजीज, कुछ कैंसर, स्ट्रेस और डिप्रेशन के होने का जोखिम बहुत कम होता है।

हेल्थ टिप: कभी-कभी कार्डियो के साथ-साथ फुल-बॉडी ट्रेनिंग, जैसे सर्किट ट्रेनिंग निश्चित रूप से हेल्प करेगा।

 

इनवर्टेड पिरामिड शेप

ऐसी बॉडी को स्विमर बॉडी के नाम से जाना जाता है। इनका ऊपर का हिस्सा भारी होता है। इसका मतलब यह है कि हिप्स कंधों की तुलना में संकीर्ण होते हैं जो काफी चौड़े होते हैं और कमर थोड़ी घुमावदार होती है। जी हां इस बॉडी शेप वालों का सीना और कंधे वाला हिस्सा चौड़ा और नीचे हिस्से की ओर आते-आते पतला होता जाता है।
 
इसका क्या मतलब है: इनवर्टेड पिरामिड शेप वाली महिलाओं का मेटाबॉलिज्म अच्छा होता है और आसानी से वजन नहीं बढ़ता है। लेकिन इन्हें ऑस्टियोपोरोसिस विकसित होने का खतरा रहता है।

हेल्थ टिप: आपको अपने निचले आधे हिस्से का निर्माण करना चाहिए यानि अपनी थाई और हिप्स पर फोकस करना चाहिए। इसलिए स्क्वेटिंग, लंगिंग और स्टेपिंग आपके निचले शरीर और कोर को मजबूत बना सकते हैं। इसे तेज कार्डियो के साथ करें।

रेक्टेंगल बॉडी शेप
rectangle shape body

इसे सीधा, रूलर या बनाना शेप बॉडी भी कहा जाता है, रेक्टेंगल शेप की बॉडी वालों की बॉडी एक आनुपातिक बॉडी होती है, लेकिन बॉडी के बीच के हिस्से के आसपास थोड़ा वजन होता है।

इसका क्या मतलब है: ऐसे लोगों में मेटाबॉलिज्मज तेज होता है और आसानी से वजन नहीं बढ़ता है।    

इसे जरूर पढ़ें: Fat to Fit: पटाखा गुड्डी आलिया भट्ट ने इस तरह कम किया अपना मोटापा                           

हेल्थ टिप: रेक्टेंगल बॉडी शेप वाली महिलाओं को संयम में भोजन करना चाहिए और कंधे और बॉडी की निचली मसल्स पर स्ट्रेंथ ट्रेनिंग पर ध्यान देना चाहिए। ऐसे बॉडी शेप के लिए कुछ मसल्स‍ निर्माण के लिए स्ट्रेंथ ट्रेनिंग की सिफारिश की जाती है।

Loading...
Loading...