क्‍या आप वेट लॉस के लिए जिम में घंटों पसीना बहाती हैं और महंगे सप्‍लीमेंट भी लेने लगी हैं। लेकिन फिर भी आपको ज्‍यादा फर्क महसूस नहीं हो रहा है। तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं क्‍योंकि आज हम आपके लिए एक ऐसा आसान उपाय लेकर आए है जिसकी हेल्‍प से आप अपना वजन तेजी से कम कर सकती है। जी हां इस उपाय को 1 महीना रेगुलर लेने से ही आपको फर्क महसूस होने लगेगा। अगर आपको विश्‍वास नहीं हो रहा है तो आइए हमारे साथ इस जबरदस्‍त नुस्‍खे के बारे में जानें जो हमें एक्‍सपर्ट ने बताया है।  

जी हां बढ़ता वजन न केवल आपकी पर्सनैलिटी को बिगाड़ देता है, बल्कि हमें कई तरह की गंभीर बीमारियों का शिकार भी बना देता है। इसलिए महिलाएं इससे निजात पाने के आसान उपायों की तलाश में रहती हैं ताकि कम समय और मेहनत के वह अपने वजन को कम कर सकें। इसके लिए वह वेट लॉस सप्‍लीमेंट के इस्‍तेमाल से भी पीछे नहीं हटती हैं, लेकिन शायद वह इस बात से अनजान है कि इन सभी चीजों का उनकी हेल्‍थ पर बुरा असर पड़ सकता है। अगर आप ऐसी महिलाओ में से एक है जो अपने बढ़ते वजन से परेशान है और तरह-तरह के उपाय आजमाकर थक चुकी हैं, तो आज से ही इस स्‍पेशल कॉफी का सेवन करना शुरू कर दें। इस बारे में हमें शालीमार स्थि‍त फोर्टिस हॉस्पिटल की डाइटिशियन सिमरन सैनी ने बताया है।

इसे जरूर पढ़ें: वेट लॉस के लिए एक्सरसाइज से ज्यादा अहम है आपकी डाइट, इन अहम बातों का रखें ध्यान

organic green coffee beans for weight loss

एक्‍सपर्ट की राय

सिमरन सैनी जी का कहना हैं कि ''ग्रीन कॉफी विटामिन्स और मिनरल्स से भरपूर होती है जो हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने में हेल्‍प करती है। इतना ही नहीं इससे आपका वजन भी कम होता है। साथ ही ग्रीन कॉफी बीन्स में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स और मिनरल्स होते हैं जो हमारी बॉडी को लगभग हर तरह के इंफेक्‍शन से बचाकर हेल्‍दी रखते है। हाई ब्‍लड प्रेशर के लिए यह ब्‍लड वेसल्‍स को प्रभावित करता है ताकि ब्‍लड प्रेशर को कम किया जाए। अन्‍य कॉफी की तरह इससे आपकी सेहत पर बुरा असर नहीं पड़ता है, क्योंकि इसमें कैफीन की मात्रा न के बराबर होती है।''

''ग्रीन कॉफी बीन्स कॉफी बीन्स हैं जिसे रेगुलर कॉफी की तरह रोस्‍ट नहीं किया जाता है। इन कॉफी बीन्स में केमिकल क्लोरोजेनिक एसिड की अधिक मात्रा होती है। इस केमिकल के बहुत सारे हेल्‍थ बेनिफिट्स है। जब आप कॉफी बीन्‍स को रोस्‍ट करते है तो इस यौगिक की मात्रा कम हो जाती है और आमतौर पर हम इसका ही इस्‍तेमाल करते हैं।''

वेट लॉस के लिए ग्रीन कॉफी

ग्रीन कॉफ़ी ग्रीन टी की तरह ही वेट लॉस के लिए फेमस है। यह लाइट कलर की कॉफी, जिसका मजा आप बिना दूध या चीनी के लिया जाता है और इसका बहुत हल्‍का स्‍वाद आपको कई तरीकों से वजन कम करने में हेल्‍प करता है। चूंकि बीन्स को भुना नहीं जाता है, इसलिए यौगिक शरीर को लाभ पहुंचाने वाले गुणकारी गुणों को बरकरार रखता है। यह आपके बॉडी फैट को कम करने में हेल्‍प करता है जिससे वेट लॉस में हेल्‍प मिलती है। या आप कह सकते हैं कि वजन घटाने के लिए, ग्रीन कॉफी में क्लोरोजेनिक एसिड बॉडी में ब्‍लड शुगर और मेटाबॉलिज्‍म को हैंडल करता है जिससे वेट लॉस करने में हेल्‍प मिलती है। इतना ही नहीं ग्रीन कॉफी 3 तरीके से आपको वेट लॉस में हेल्‍प करती है, आइए जानें कैसे।

how to make green coffee for weight loss

मेटाबॉलिज्‍म को बूस्‍ट करें

ग्रीन कॉफी में क्लोरोजेनिक एसिड की मौजूदगी मेटाबॉल्जिम को बढ़ावा देने के लिए जानी जाती है। यह हमारी बॉडी के बीएमआर को बढ़ाने में हेल्‍प करता है, जो आगे चलकर लिवर से ब्‍लड में ग्लूकोज के निकलने को कम करता है। ग्लूकोज की आवश्यकता को पूरा करने के लिए, बॉडी फैट सेल्‍स में स्‍टोर में एक्‍स्‍ट्रा फैट को जलाना शुरू कर देता है जिससे आपका वजन तेजी से कम होता है।

इसे जरूर पढ़ें: करना है अगर fat को छू मंतर तो फॉलो कीजिए ये डाईट प्लान जो देगा आपको instant results

शुगर के अवशोषण को कम करें

ग्रीन कॉफ़ी के सेवन से आपकी छोटी आंतों में शुगर का अवशोषण कम हो जाता है, यानि बॉडी में चीनी फैट के रूप में कम स्‍टोर होती है और कैलोरी ज्‍यादा बर्न होती है। जिससे तेजी से वजन कम करने में हेल्‍प मिलती है।

भूख को कंट्रोल करें

अगर आपको भी हर थोड़ी-थोड़ी देर में भूख लगती हैं तो आपको एक्‍स्‍ट्रा कैलोरी को बर्न करने के लिए ग्रीन कॉफी पीनी चाहिए। ऐसा इसलिए क्‍योंकि इसमें मौजूद क्लोरोजेनिक एसिड भूख को नेचुरल तरीके से कंट्रोल करता है। यह क्रेविंग को कंट्रोल करने में हेल्‍प करके आपको ज्‍यादा खाने से रोकता है।

how to make green coffee

वेट लॉस के लिए ग्रीन कॉफी कब लें 

अपने भोजन के आधे घंटे बाद ग्रीन कॉफी लेना सबसे अच्‍छा रहता है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि खाने के बाद ब्लड शुगर का लेवल बढ़ जाता है। आमतौर पर ऐसा कार्बोहाइड्रेट या प्रोटीन लेने के कारण होता है। जब डाइजेशन के दौरान भोजन टूटता है, तो एक्‍स्‍ट्रा शुगर बॉडी में फैट के रूप में जमा हो जाती है। ग्रीन कॉफी पीने से ब्‍लड शुगर लेवल को बनाए रखने में हेल्‍प मिलती है और अचानक स्पाइक्स को रोकता है। साथ ही इससे आपको लंबे समय तक एनर्जी से भरपूर महसूस होता है। 

तो देर किस बात की अगर आप भी अपना वजन तेजी से कम करना चाहती हैं तो रोजाना ग्रीन कॉफी पीएं।