अक्सर ये देखा गया है कि गर्मियों में सिरदर्द की समस्या हमें घेर लेती है। कई लोगों के साथ तो ये इतनी गंभीर हो जाती है कि उन्हें बार-बार सिरदर्द की दवा लेनी होती है। ऐसा कई कारणों से हो सकता है। जैसे गर्मी में तेज़ धूप के कारण, शरीर में पानी की कमी होने के कारण, बॉडी में किसी तरह के मिनरल की कमी के कारण आदि। लेकिन सबसे आम वजह है डिहाइड्रेशन। इसके लिए फलों और सब्जियों को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। ऐसा करने से डिजाइड्रेशन की समस्या थोड़ी कम होगी।

आयुर्वेद के अनुसार गर्मियों में सिर ठंडा रखना चाहिए। लेकिन अगर आपको लंबे समय से सिरदर्द बना हुआ है तो उसके लिए आप योग का सहारा भी ले सकती हैं। गुडवेज़ फिटनेस की फाउंडर और योगा एक्सपर्ट संकल्प शक्ति से हमने इस बारे में बात की। उन्होंने हमें बताया कि किस तरह के योग आसन हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकते हैं। ये सिर दर्द का रामबाण इलाज साबित हो सकते हैं। एक्सपर्ट के अनुसार जिन्हें माइग्रेन है उनके लिए भी ये फायदेमंद है।

इसे जरूर पढ़ें- इन 4 योग के सहारे कूबड़ दूर भगाएं, पोश्‍चर में भी होगा सुधार

1. शवासन-

शवासन में लेट कर सबसे जरूरी काम है ध्यान लगाना। इसे करने से न सिर्फ शरीर बल्कि दिमाग भी ठंडा होता है। ये आसन आपका ध्यान केंद्रित करने के लिए है और इसकी वजह से धीरे-धीरे सिरदर्द में आराम मिलने लगता है। 

shavasan for headache

शवासन की प्रक्रिया आसान है। इसमें आपको सोने की स्तिथि में लेटना होता है, लेकिन आपको सोना नहीं है बल्कि मन को शांत रखना है और एकाग्रता से ध्यान लगाना है। ये मेडिटेशन का अच्छा तरीका हो सकता है। ये देखने में आसान है, लेकिन ध्यान लगाना ही इस आसन की सबसे मुश्किल बात है।

2. वरुण मुद्रा-

अगर शरीर में पानी की कमी हो रही है तो वरुण मुद्रा उस डिहाइड्रेशन से शरीर को उबारने में मदद करती है। इसे आप पद्मासन भी कह सकते हैं। इसे करते समय ध्यान रहे सबसे छोटी उंगली से अंगूठे को टच करें। सबसे जरूरी बात ये है कि अगर आपके नाखून लंबे हैं तो नाखूनों को टच नहीं करना है बल्कि सिर्फ और सिर्फ स्किन को टच करना है। इसे करने के बाद भी आंखों को बंद कर अपना ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करें। जितना ज्यादा ध्यान एक जगह केंद्रित होगा उतना ही ज्यादा मानसिक तनाव से मुक्ति मिलेगी। ये सिरदर्द के लिए फायदेमंद है।

varun asan for headache

3. शीतकारी प्राणायाम-

शरीर को ठंडा रखने के लिए ये प्राणायाम बहुत अहम साबित हो सकता है। इसे करते समय जीभ को मुंह के अंदर मोड़ते हुए तालु पर लगाएं और दांतों को एक साथ मिलाते हुए होठों को खोल लें। अब आपको हवा अंदर की ओर खींचनी है जिससे हवा छन कर शरीर के अंदर जाए। मुंह बंद करें और कुछ सेकंड बाद सांस को नाक से धीरे-धीरे बाहर छोड़ें। दोबारा सांस लेनी हो तो ऐसे ही मुंह से लें। इससे शरीर में ज्यादा गर्मी नहीं होती है। धीरे-धीरे इससे सिरदर्द की समस्या में आराम मिलेगा।

sheetkari pranayam for headache

Recommended Video

4. शीतली प्राणायाम-

गर्मियों में शरीर और सिर को ठंडा रखने के लिए शीतली प्राणायाम बहुत अच्छा प्राणायाम हो सकता है। ये दिमाग को तरोताज़ा करके हर तरह के सिरदर्द में फायदेमंद साबित हो सकता है। इस प्राणायाम में उसी पोजीशन में बैठना है जिस पोजीशन में शीतकारी प्राणायाम में बैठे थे। इसके साथ ही अपनी जीभ को गोलाकार मोड़ते हुए थोड़ा सा बाहर निकालना है और इसके जरिए ही हवा को अंदर खींचना है। थोड़ी देर सांस रोकनी है और फिर धीरे-धीरे बाहर की ओर छोड़ना है। ऐसा 10-20 बार दोहराना है।

sheetali pranayam for headache

अगर आपको डिहाइड्रेशन की समस्या है और बार-बार गर्मी में सिर गर्म हो जाता है तो ये प्राणायाम उसमें मददगार साबित होगा।

इसे जरूर पढ़ें- बैक पेन से लेकर डाइजेशन तक, महिलाओं की कई समस्याओं का हल कर सकते हैं ये 3 योगा पोज

5. स्थपनी मर्म-

हमारे सिर का ये प्वाइंट बहुत ही मददगार साबित हो सकता है। माइग्रेन तक के इलाज के लिए आप ये योग अपना सकती हैं। हमारी आइब्रो के बीच ये प्रेशर प्वाइंट होता है और चारों उंगलियों की टिप अपने सिर पर और अंगूठे की टिप को माथे के बीच रखते हुए 1 सेकंड के लिए दबाना है। फिर प्रेशर रिलीज कर दोबारा इसे करना है। इसे 20-25 बार करना होगा। आप 5-6 घंटे रुक कर इसे दिन में 3 बार दोहरा सकती हैं।

staphni marma for headache

इसके अलावा, आप सिर में किसी ठंडे तेल से मालिश करें। गर्मियों की वजह से अगर सिरदर्द हो रहा है तो इससे ठीक हो जाएगा। हल्का प्रेशर देते हुए उंगलियों की टिप से ही सिर के स्कैल्प पर मसाज करें। इससे सिर में ब्लड फ्लो बना रहेगा और सिर दर्द में आराम मिलेगा। पर ध्यान रखें कि ठंडा तेल हो। चाहें तो तेल को थोड़ी देर बर्फ के पानी में रख सकती हैं उसके बाद मसाज करें।

अगर आपको ये स्टोरी पसंद आई तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।