पीरियड क्रैम्प्स महिलाओं की जिंदगी में बहुत परेशानी लेकर आते हैं। कई महिलाओं के लिए तो ये इतने दर्दनाक होते हैं कि वो कोई काम ही नहीं कर पाती हैं। पीरियड क्रैम्प्स में लोअर बॉडी के अलग-अलग हिस्सों में दर्द होता है। एक तरह से देखा जाए तो ये दो तीन दिन परेशानी भरे होते हैं, लेकिन पीरियड क्रैम्प्स को कम करने के लिए भी हम काफी कुछ कर सकते हैं।

योगा इंस्ट्रक्टर और सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर रूपल सिध ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर 5 ऐसे योगा आसन शेयर किए हैं जिनमें आप किसी सपोर्ट का सहारा भी ले सकते हैं। ये सभी आसन आपके पेल्विक फ्लोर को आराम देते हैं और ये आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

1. भद्रासन  (Butterfly Pose)

भद्रासन कई मायनों में शरीर को फायदा पहुंचाता है और ये पीरियड क्रैम्प्स में भी फायदा पहुंचा सकता है।

कैसे करें?

  • सबसे पहले अपने दोनों पंजों को एक साथ मिलाएं और जमीन पर बैठ जाएं।
  • अब अपने दोनों हाथों से दोनों पैरों को पकड़ लें।
  • घुटने उठने नहीं चाहिए बल्कि ये घुटने जमीन पर टच होने चाहिए।
  • अब अपने घुटनों को ऊपर नीचे करें और फिर इसकी इंटेंसिटी बढ़ाएं।
  • इस समय आपकी स्पाइनल कॉर्ड पूरी तरह से सीधी होनी चाहिए।
period cramps and yoga pose

इसे जरूर पढ़ें- यूरिन इंफेक्‍शन से परेशान महिलाएं करें ये 5 योग, जल्‍द दिखता है असर

2. बालासन (Child Pose Supported)

पेल्विक फ्लोर को सपोर्ट करने के लिए चाइल्ड पोज भी बहुत ही फायदेमंद साबित होता है। ये स्पाइन को भी सपोर्ट करता है।

कैसे करें?

  • इसमें आप एक गद्दे की मदद ले सकते हैं जैसा वीडियो में दिखाया गया है और चाहे तो इसे नॉर्मल भी कर सकते हैं।
  • इस आसन के लिए अपनी एड़ियों पर पहले बैठ जाएं। आपके कूल्हे एड़ी पर ही होने चाहिए।
  • इसके बाद अपनी हथेलियों को जमीन पर रखें।
  • अब आगे झुकें और माथे को जमीन पर लगाएं।
  • दोनों हाथों को शरीर के दोनों तरफ ले जाएं और हथेली को आगे की ओर फैला दें। 
child pose for period cramps

3. उत्तान शीशोसन (Puppy pose) 

अगर आपके क्रैम्प्स ऐसे होते हैं कि आपको गैस्ट्रिक समस्याएं भी होने लगती हैं जो ये बहुत अच्छा उपाय हो सकता है। इसे आप गद्दे के सपोर्ट के साथ भी कर सकते हैं और बिना उसके भी। 

कैसे करें? 

  • इसके लिए पहले योगा मैट पर आपको वज्रासन की मुद्रा में बैठना होगा।
  • इसके बाद दोनों हाथों को गहरी सांस लेते हुए उठाएं और ऊपर की ओर ले जाएं।
  • अब धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए आगे की तरफ झुकें और अपने माथे को जमीन के पास रखें।
  • अब हथेलियों को भी जमीन पर रखें और इसी पोजीशन में बैठें।
  • आपके कूल्हे हवा में होने चाहिए और अपर बॉडी जमीन पर टच होनी चाहिए।
  • कुछ देर बाद फिर से गहरी सांस लें और वज्रासन में बैठ जाएं। 
 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Rupal Sidhpura Faria (@rupal_sidh)

 

इसे जरूर पढ़ें- पीरियड्स को रेगुलर करते हैं तिल के बीज, यूं करें इस्‍तेमाल 

4. परिवृत्त जानू शीर्षासन (Head-to-Knee Forward Bend Supported) 

थकान, बैक पेन, गैस से जुड़ी समस्याओं और पीरियड क्रैम्प्स के लिए ये एक बहुत ही अच्छा ऑप्शन साबित हो सकता है। 

कैसे करें? 

  • सबसे पहले बटरफ्लाई पोज से शुरू करें और फिर अपने बाएं पैर को बाहर की तरफ ले जाएं। अब दाएं पैर को भी मोड़ें और अपने पांव को जांघ के अंदरूनी हिस्से की ओर रखें।
  • अब सांस छोड़ते हुए कंधे को ऐसे झुकाने की कोशिश करें कि घुटनों के पीछे का हिस्सा उससे टच हो। आपकी कोहनी जमीन पर हो और हथेली बाएं पैर की एड़ी से टच हो।
  • अब दाहिने हाथ की बांह को सिर के ऊपर लेकर जाएं और पैर के अंगूठे तक पहुंचाए।
  • अब दाहिने पैर की कोहनी को ऊपर की तरह ले जाएं और अपना सिर छत की तरफ घुमाएं।
  • आपसे जितना हो सके उतना ही करें। 

Recommended Video

5. सुप्त बाढ़ कोनासन (Reclining Bound Angle Pose Supported) 

इस आसन को भी आप पीरियड क्रैम्प्स की समस्या को कम करने के लिए ट्राई कर सकते हैं। 

कैसे करें? 

  • सबसे पहले आप शवासन से शुरुआत करें और फिर घुटनों को धीरे-धीरे अंदर की ओर मोड़ें।
  • अब दोनों पैरों को एक साथ लेकर आएं और आपके पैरों का एंगल इस तरह से रखें कि आपके घुटने जमीन को छूते रहें।
  • अब आप अपनी एड़ियों को अपने ग्रोइन एरिया के जितने पास ले जा सकते हैं उतने पास लेकर जाएं।
  • दोनों हथेलियों को हिप्स के पास नीचे दबाकर रखें और सांस को छोड़ते हुए पेट की मांसपेशियों को अंदर की तरफ खींचे। 

ये सारे आसन आपके पीरियड पेन को कम कर सकते हैं, लेकिन अगर आपको किसी तरह की मेडिकल समस्या है तो पहले डॉक्टर से संपर्क करें फिर ही आप ये आसन ट्राई करें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।