अक्सर पीरियड्स के दिनों में आपका मूड खराब रहता है, कुछ खाने की इच्छा नहीं होती, आप चिड़चिड़ा महसूस करती हैं, थकावट भी महसूस होती है। ज्यादातर महिलाएं पीरियड्स के समय में तनाव में रहती हैं क्योंकि इस समय में वे जिस तकलीफ से गुजरती हैं उसे लेकर उन्हें काफी टेंशन होती है। अगर आप अपनी बॉडी में पीरियड्स के दौरान होने वाले बदलावों को समझ लें तो आप बहुत हद तक इस समय की तकलीफों को कम कर सकती हैं। क्या आप जानती हैं कि 65 फीसदी महिलाएं पीरियड्स से पहले असहज महसूस करती हैं, जिसकी वजह होती है हार्मोन में बदलाव। इस समय में उल्टी आने जैसा लगना, उल्टी आना, थकान, सिरदर्द, गैस बनना, वजन हल्का सा बढ़ जाना और मुंह सूखना जैसे लक्षण भी दिखाई देते हैं।

हालांकि 35 फीसदी महिलाओं को इस तरह के लक्षण नजर नहीं आते। इस नाते कुछ एक्सपर्ट्स का मानना है कि यह प्रॉब्लम साइकोलॉजिकल भी होती है क्योंकि हार्मोन के स्तर में उतार-चढ़ाव से महिलाओं को अलग-अलग तरह के अनुभव होते हैं। इसी वजह से कुछ महिलाओं को गैस बनने की समस्या होती है तो कुछ को उल्टी जैसा महसूस होता है। अगर आप इस समस्या में राहत पाना चाहती हैं तो कुछ आसान से उपाय अपना सकती हैं-

पिएं पर्याप्त पानी और ड्रिंक्स

menstrual pain in

पीरियड्स के दिनों में शरीर में पानी के इनटेक को ठीक रखना बहुत जरूरी है। आप अपने पसंदीदा जूस और सूप के अलावा कम से कम एक लीटर पानी जरूर पिएं। इससे आपको गैस बनने की समस्या नहीं होगी।

अपनी डाइट में शामिल करें नट्स

नट्स में विटामिन बी और विटामिन ई की अच्छी क्वांटिटी होती है और ये विटामिन्स premenstrual symptoms को रोकने के लिहाज से अहम माने जाते हैं। 

खाएं ज्यादा से ज्यादा फल और सब्जियां

menstrual pain in

अगर आप उन खास दिनों में हरी सब्जियां और फ्रूट्स अच्छी मात्रा में लेती हैं तो इनसे मिलने वाले विटामिन्स और फाइबर से आपकी बॉडी के essential biological functions को सुचारु रूप से चलाने में मदद मिलती है। फ्रूट्स जैसे कीवी, स्ट्रॉबेरी और तरबूज विटामिन सी का अच्छा स्रोत हैं। ये फूड से iron को एब्सॉर्ब करने में मदद करते हैं, जो menstruation में बहुत आवश्यक होता है।

चॉकलेट से बेहतर बनाएं मूड

चॉकलेट आपकी कमजोरी है तो उन दिनों में अपने पास चॉकलेट जरूर रखिए। जरा सी चॉकलेट आपकी बॉडी के लिए एनर्जी बूस्टर का काम करती है और आपका मूड भी बढ़िया रखती है। 

फैट और शुगर को कहें ना

menstrual pain in

फैटी और शुगर वाले फूड आइटम्स खाने में बहुत टेस्टी लगते हैं, मुमकिन है कि ये आपको काफी पसंद भी हों लेकिन पीरियड्स के दौरान इनसे दूर रहने  में ही भलाई है। दरअसल फैट और शुगर वाले फूड आइटम्स खाने से ही आपको गैस बनती है और थकान महसूस होती है, जिससे आपको उल्टी जैसा महसूस होता है और उल्टी आने की आशंका भी होती है। 

इसे जरूर पढ़ें: Irregular Periods किन वजहों से होते हैं, जानें

हर्बल ड्रिंक्स का मजा लीजिए

कुछ बेहतरीन हर्बल फ्लेवर्स जैसे कि मिंट ग्रीन टी, chamomile और anis से बने ड्रिंक्स आपको तरोताजा बनाए रखते हैं। इनके प्रभाव से मसल क्रेंप में कमी आती है और इनसे बॉडी में लिक्विड इनटेक भी सही मात्रा में बना रहता है।

सुबह जाएं वॉक पर

आपके शरीर को फ्रेश ऑक्सिजन की बहुत जरूरत होती है और यह आपको मिलती है सुबह की वॉक से। इससे आपको फ्रेश तो फील होता ही है, साथ ही आपका ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है। आपकी सुबह की वॉक से ही पौष्टिक खाने से मिलने वाले nutrients को शरीर अच्छी तरह से absorb कर पाता है। अगर आप सुबह वॉक नहीं कर पा रहीं तो दिन में कभी भी बाहर जाएं और रोजाना कम से कम आधे घंटे के लिए एक्सरसाइज जरूर करें।

ओमेगा 3 फैटी एसिड्स

यह एक ऐसा फैट है, जो सेलमन और सार्डीन्स जैसी मछलियों में पाया जाता है और वॉलनट्स में भी इसकी क्वांटिटी अच्छी होती है। इस तरह के फैटी एसिड्स से  important enzymes बनाने में शरीर को मदद मिलती है। इससे बॉडी हार्मोन्स रेगुलेट होते हैं और उनका फंक्शन भी ठीक तरह से चलता है।

आराम है जरूरी

menstrual pain in

आपके शरीर को खासतौर पर आपकी मांसपेशियों को आराम की जरूरत होती है। अगर आप पीरियड्स के दिनों में थोड़ी देर आराम के लिए वक्त निकाल लें तो इससे आपको उल्टी आने जैसा महसूस नहीं होगा। इससे आपको अपने लिए हेल्दी डाइट प्लान करने के लिए भी पर्याप्स समय मिल जाएगा।

हैरानी की बात नहीं है कि हेल्दी फूड और लाइफस्टाइल अपनाने से आप पीरियड्स के दिनों में होने वाले mood swings, थकान और गैस बनने की मुश्किल को काफी हद तक कंट्रोल कर सकती हैं। तो देर किस बात की, अपनाइए इन टिप्स को और रहिए खुशमिजाज।