दूध एक ऐसी चीज़ है जो सभी के घर में इस्तेमाल किया जाता है, पिया जाता है। हम दूध से दही, पनीर या मक्खन आदि कई स्वादिष्ट और पौष्टिक उत्पादों को तैयार करते हैं। हाँ, ये बात अलग है दूध की शुद्धता या वैरायटी के हिसाब से तरह-तरह के प्रोडक्ट बाज़ारों में उपलब्ध है। अक्सर हम घर में अपने मम्मी-पापा को ये कहते सुनते होंगे कि फलां दूध अच्छा होता है वे पिया करो। वहीं दूसरी ओर कोई कहता है गाय का दूध अच्छा होता है वे पिया करो। 

ऐसा वे क्यों बोलते होंगे? हम यही सोचते रह जाते हैं कि क्या वाकई में एक कलर के दिखने वाले गाय और भैंस के दूध में कोई अंतर होता है ? अगर होता है तो क्या होता होगा.... ? तो चलिए आज हम आपके इन्हीं सवालों का जवाब देते हैं। इस लेख में हम आपको बतायेंगे कि गाय और भैंस के दूध में क्या अंतर होता है? वे हमारी सेहत के लिए कितने फायदेमंद है। 

टेक्सचर व पोषण के आधार पर 

inside  difference in taxure

भले ही दोनों दूध दिखने और स्वाद में हमें लगभग एक समान ही लगते हों, लेकिन गाय और भैंस के दूध में टेक्सचर व पोषण में अंतर होता है। क्योंकि गाय के दूध में वसा कम और टेक्सचर हल्का होता है। जिसे हम आसानी से पचा सकते हैं। वहीं दूसरी ओर भैंस का दूध क्रीमी और गाढ़ा होता है। भैस के दूध में क्रीम ज़्यादा जमती है। अगर हम प्रोटीन की बात करें, तो गाय के दूध के मुकाबले भैंस के दूध में ज़्यादा प्रोटीन पाया जाता है। 

वहीं, पोषक तत्व भैंस के दूध में कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम और पोटेशियम की अधिक मात्रा पाई जाती है। इसलिए शायद लोग भैंस का दूध पीना ज़्यादा पसंद करते हैं। गाय के दूध में विटामिन की अधिक मात्रा होती है। 

रंग में अंतर 

inside  dufference in coloure

अगर हम गाय के दूध के रंग की बात करें, तो वे हल्का पीला और सफेद होता है। जबकि भैंस का दूध ज़्यादा मलाईदार और पूरा सफेद होता है। तो अब आपको दोनों दूध में अंतर को समझने में आसानी हुई होगी।  

इसे ज़रूर पढ़ें-Expert Tips: रोज दही खाने से होंगे ये 5 लाभ

दूध के उपयोग में फर्क  

inside  diffrence typ of uses

हम दूध की कुछ भी चीज़ बनाते समय गाय और भैंस के दूध में फर्क आसानी से महसूस कर सकते हैं। क्योंकि जब हम गाय के दूध का पनीर या कोई डेसर्ट बनाएंगे तो  हल्के टेक्सचर होने के कारण वह ठीक नहीं बन पाएगा। लेकिन भैंस के दूध के मोटे टेक्सचर की वजह से दूध की चीज़ें बेहतर बनेगी। चाहे तो आप ट्राय करके देख सकते हैं। 

Recommended Video

स्टोर करने का समय 

inside  store

हम भैंस के दूध को अधिक समय तक स्टोर करके रख सकते हैं क्योंकि भैंस के दूध में उच्च पेरोक्सी डेज पाया जाता है। लेकिन इसके मुकाबले गाय के दूध को ज़्यादा दिन तक स्टोर नहीं किया जाता। हम गाय के दूध को सिर्फ 1-2 दिनों तक चला सकते हैं, वर्ना वो खराब हो सकता है। आपके लिए गाय के दूध का सेवन 1 से 2 दिन के अंदर करना बेहतर ऑप्शन है। 

इसे ज़रूर पढ़ें-हेल्थ के लिए बेहद सही होता है जिलेटिन का उपयोग, जानें इसके फायदेपहले जान लें इससे जुड़े पांच मिथ्स 

सेहत के लिए फायदेमंद 

inside  health benefits of milk

दूध पीना हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। चाहे वे किसी भी तरह का हो। हम अक्सर दूध पीने में चोरी करते हैं सिर्फ ये कहकर कि दूध में से स्मेल आ रही है.. मैं नहीं पी रहा या पी रही.. लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए। हमें दूध ज़रूर पीना चाहिए। आपको बता दें, भैंस के दूध में बीटा-लैक्टो ग्लोबुलिन और पोटेशियम होता है जो उच्च रक्तचाप को कम करने में हमारी मदद करता है। गाय के दूध में कोलेस्ट्रॉल अधिक होता है। इसलिए पीसीओडी, उच्च रक्तचाप, गुर्दे की बीमारियों और मोटापे जैसी बीमारियों से पीड़ित लोग भैंस का दूध ज़्यादा पीते हैं। 

तो अपने जान लिया गाय और भैंस के दूध में क्या फर्क होता है। ये दोनों दूध के अनूठा टेक्सचर और लाभ हैं। जो हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। लेख पसंद आया हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें, साथ ही ऐसी अन्य जानकारी पाने के लिए जुड़े रहें हरजिन्दगी के साथ। 

 Image Credit- Freepik.com