अमूमन गर्भावस्था में तो महिलाओं को तो कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं होती ही हैं और खुद का व अपने बच्चे का ख्याल रखने के लिए अतिरिक्त सावधानी बरतनी पड़ती है। लेकिन यह सिलसिला यहीं नहीं रूकता, बच्चे के जन्म के बाद भी महिला को अपनी सेहत के प्रति सजग होना पड़ता है। दरअसल, बच्चे के जन्म के बाद भी महिलाओं को शरीर में कमजोरी, विभिन्न अंगों में दर्द आदि कई तरह की समस्याएं होती हैं। इतना ही नहीं, कुछ महिलाओं को पर्याप्त ब्रेस्ट मिल्क नहीं बनता और इससे उनके नवजात शिशु की सेहत पर भी विपरीत असर पड़ता है। 

अमूमन महिलाएं इन समस्याओं के इलाज के लिए दवाईयों का सेवन करती हैं, लेकिन इसके अलावा भी ऐसे कई आयुर्वेदिक उपचार होते हैं, जो महिलाओं को डिलीवरी के बाद होने वाली समस्याओं से राहत दिलाते हैं और महिला और नवजात शिशु की सेहत का ख्याल रखते हैं। तो चलिए आज इस लेख में  वुमन हेल्थ रिसर्च फाउंडेशन की प्रेसिडेंट डॉ नेहा वशिष्ट आपको कुछ ऐसी ही हेल्दी आयुर्वेदिक ड्रिंक्स के बारे में बता रही हैं, जिनके सेवन से यकीनन आपको लाभ होगा-

पीएं अश्वगंधा और इलायची की चाय

elaichi chai after pregnancy

डिलीवरी के बाद गैस, एसिडिटी या ज्वाइंट पेन की समस्या बेहद आम है। अगर आपको भी वात संबंधी इन समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है तो ऐसे में आप इस आयुर्वेदिक चाय का सेवन करें। इसके लिए आप एक कप पानी में एक चम्मच अश्वगंधा और दो इलायची कूटकर डालें और लिड लगाकर पानी को उबलने दें। जब पानी आधा हो जाए तो गैस बंद करें और चाय को छानकर उसका सेवन करें। यह चाय पोस्ट डिलीवरी में महिलाओं को बहुत अधिक लाभ पहुंचाती है।  

dr.neha vashisth quote

त्रिफला की चाय

triphala chai post pregnancy

डिलीवरी के बाद त्रिफला की चाय का सेवन भी महिलाओं के लिए लाभदायक होती है। त्रिफला के चूर्ण में आंवला, हरड़ और बहेड़ा होता है। जो आपके पेट के लिए किसी चमत्कार से कम नहीं है। डिलीवरी के बाद महिलाओं को पेट की कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कुछ महिलाओं का तो पाचन तंत्र भी काफी कमजोर हो जाता है। ऐसे में त्रिफला की चाय का सेवन उन्हें पेट की जुड़ी परेशानियों को दूर करने में सहायक होता है।

इसके सेवन के लिए दो कप पानी में त्रिफला के दो चम्मच डालकर ढक्कन लगाकर उबालें। जब यह आधा रह जाए तो इसे छानकर पीएं। जहां आंवले में मौजूद विटामिन सी महिला के शरीर को डिटॉक्सिफाई करता है, वहीं हरड़ और बहेड़ा उनकी इम्युनिटी को मजबूत बनाता है। चूंकि माता बच्चे को दूध भी पिला रही होती है तो ऐसे में दूध के माध्यम से बच्चे की इम्युनिटी भी बढ़ती है और वह दोनों ही इंफेक्शन से बचे रहते हैं।

इसे भी पढ़ें :Pregnancy Tips: महिलाओं में फर्टिलिटी को तेजी से बढ़ाती हैं ये 5 चीजें

हल्दी का दूध पीएं जरूर

turmeric milk post pregnancy

डिलीवरी के बाद महिला को हल्दी के दूध का सेवन जरूर करना चाहिए, क्योंकि यह मां को अंदरूनी तौर पर मजबूती देता है। जिससे मां के साथ-साथ बच्चा भी स्वस्थ होता है। अगर महिला को सिजेरियन डिलीवरी हुई है तो ऐसे में हल्दी महिला की अंदरूनी समस्याओं को जल्दी हील करने में मदद करती है। वहीं नार्मल डिलीवरी में भी कई बार ब्लड क्लॉटिंग या यूट्रस का अपनी जगह से हिलना आदि समस्या होती है, उसमें भी हल्दी का सेवन लाभदायक साबित होता है।

इसे भी पढ़ें :प्रेग्‍नेंसी में मां और बच्‍चे की हेल्‍थ के लिए बेस्‍ट हैं ये फूड्स

लेमनग्रास ड्रिंक

lemongrass tea post pregnancy

यह ड्रिंक भी डिलीवरी के बाद काफी अच्छी मानी जाती है। इसके लिए आप एक कप पानी में लेमनग्रास, केसर के कुछ धागे, सौंठ और थोड़ी सी हल्दी डालकर उसे उबालें। कुछ देर उबालने के बाद आप गैस बंद करें और छानकर इस ड्रिंक का सेवन करें। यह आयुर्वेदिक ड्रिंक सिर्फ मां ही नहीं, बच्चे की सेहत का भी ख्याल रखती है।

Recommended Video

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।