यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन बहुत ही ज्यादा खराब होता है और यूरिन में परेशानी से लेकर ब्लॉकेज, पस आना, जलन होना, ब्लड आने जैसी समस्याओं के साथ-साथ बुखार और परेशानियां भी होती हैं। यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन बहुत ज्यादा खतरनाक हो सकता है और इसे ठीक करने के लिए कई सारी दवाएं दी जाती हैं। अक्सर ऐसा होता है कि महिलाएं इसका शिकार जाने-अनजाने बन ही जाती हैं। ये खराब हाइजीन से लेकर अंदरूनी बीमारी तक कई चीज़ों के संकेत दे सकता है। 

2013 की एक स्टडी बताती है कि लगभग 60 प्रतिशत महिलाओं को अपने जीवनकाल में कभी न कभी UTI झेलना ही पड़ता है। हालांकि, उनमें से कुछ के साथ ही ये होता है कि यूटीआई बार-बार रिपीट होता है और जिन्हें ये बार-बार होता है उन्हें बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। पर नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ डायबिटीज और डाइजेस्टिव किडनी डिजीज (अमेरिका) की एक रिपोर्ट बताती है कि यूटीआई से ग्रसित 4 में से 1 महिला को रिकरिंग यूटीआई होता है यानी ये बहुत ज्यादा परेशानी भरी स्थिति हो जाती है। 

ऐसे समय में डॉक्टर कई बार एंटीबायोटिक्स के हेवी डोज देता है, लेकिन ये शरीर के लिए बिलकुल अच्छे नहीं होते हैं। अगर आपके साथ भी ये समस्या है तो क्यों न इसे डाइट में थोड़े से बदलाव के साथ ही ठीक कर लिया जाए। सेलेब न्यूट्रिशनिस्ट और डायटीशियन पूजा मखीजा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर बार-बार होने वाले यूटीआई से बचने के लिए एक सुपरफूड के बारे में बताया है। 

इसे जरूर पढ़ें- Personal Experience: कोरोना की वैक्सीन लगने के बाद कुछ ऐसे होते हैं साइड इफेक्ट्स, जानें डिटेल्स

क्रेनबेरी कर सकती है UTI की समस्या का छुटकारा-

  • पूजा मखीजा के मुताबिक क्रेनबेरी का इस्तेमाल यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन को खत्म करने के लिए किया जा सकता है। उनका कहना है कि क्रेनबेरी हमेशा से यूटीआई के ट्रीटमेंट के लिए इस्तेमाल की जाती रही है। 
  • इनमें एंटीऑक्सिडेंट्स भरपूर होते हैं जो बैक्टीरिया को टिशू में नहीं चिपकने देते।
  • ये कई सारे विटामिन्स और मिनरल्स से भरपूर होती हैं। 
  • ये Ecoli जैसे बैक्टीरिया को भी ब्लैडर में चिपकने से रोकती है जिससे यूटीआई हो सकता है। 
  • ये सैलिसिलिक एसिड से भरपूर होती है जो ऐसे कई इन्फेक्शन्स से बचता है।  
cranberry for UTI

क्रेनबेरी खाने से है फायदा, लेकिन बाज़ार के जूस रे रहें दूर- 

पूजा मखीजा का कहना है कि क्रेनबेरी को आप अपनी डाइट में शामिल जरूर कर सकते हैं, लेकिन अगर आप बाज़ार में मिलने वाले जूस आदि ले रहे हैं तो उन्हें अवॉइड करें क्योंकि इनमें बहुत ज्यादा शक्कर होती है। ज्यादा शक्कर वाले ड्रिंक्स आपके लिए अच्छे नहीं होते और इन्हें नहीं पीना चाहिए।  

तो कैसे लें क्रेनबेरी? 

इसे आप गोलियों के फॉर्म में ले सकते हैं। ऐसी गोलियां सिलेक्ट करें जिसमें 25-30% Proanthocynanidins हों। आप अपने डॉक्टर की सलाह पर ये ले सकते हैं। आपका डॉक्टर ब्रांड का नाम आदि भी बताएगा कि किस तरह की गोलियां लेना बेहतर होगा।  

इसके अलावा नॉर्मल डाइट या कुकिंग आदि में क्रेनबेरीज का इस्तेमाल किया जा सकता है।  

issues with UTI

पूजा मखीजा का कहना है कि आपको ये कम से कम दो महीने तक करना है जिससे बार-बार होने वाला यूटीआई ठीक हो पाएगा।  

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by PM (@poojamakhija)

 

इसे जरूर पढ़ें- गर्मियों में ये 6 फूड्स रखेंगे बीमारियों से दूर और लाएंगे चेहरे पर रौनक, एक्सपर्ट से जानें टिप्स 

हालांकि, अगर आपको बहुत तकलीफ है और यूटीआई की समस्या बार-बार होता है तो अपनी डाइट में इस तरह का बदलाव करने के पहले एक बार अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। डॉक्टर की सलाह के बाद ही आपको ये लेना चाहिए। अपनी डाइट में कोई भी बड़ा बदलाव करने से पहले एक्सपर्ट की सलाह लेना जरूरी हो जाता है। कई लोगों को क्रेनबेरी से एलर्जी भी होती है इसलिए अपनी हेल्थ हिस्ट्री का लेखा-जोखा एक बार डॉक्टर को दिखा दें।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।