कोरोना ने एक बार फिर से तेज़ी पकड़ी है और कई लोग इसकी तीसरी लहर का शिकार बन रहे हैं। कोरोना के नए वेरिएंट्स बहुत ज्यादा घातक हैं और लगातार लोगों की इम्यूनिटी पर असर करते हुए कई साइड इफेक्ट्स दे रहे हैं। लॉन्ग टर्म कोविड का शिकार हुए लोग कई महीनों तक इसके दुष्प्रभावों से जूझ रहे हैं और अब एक नए तरह के लक्षण उन लोगों में दिखने लगे हैं जो इसका वैक्सीन लगवा कर आ रहे हैं। कुछ भी कहने से पहले मैं आपको बता दूं कि वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स हर इंसान की इम्यूनिटी पर निर्भर करते हैं और ये जल्दी ही ठीक भी हो जाते हैं। यहां जिसकी बात हो रही है वो लिवर सिरोसिस की शुरुआती स्टेज की मरीज हैं और इसलिए उन्हें किसी भी तरह के वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। 

शरीर में कोरोना वैक्सीन लगते ही शरीर अपने हिसाब से नई एंटी-बॉडीज डेवलप करता है और इसका असर भी अपनी तरह से ही होता है। अलग-अलग लोगों पर इसका अलग असर देखने को मिला है और इसके साइड इफेक्ट्स कुछ-कुछ उस तरह से देखने को मिले हैं जैसे लॉन्ग टर्म कोविड के होते हैं। 

भारत में दो वैक्सीन हैं Covishield (जिसका एफिशिएंसी रेट 81.3% है) और Covaxin (जिसका एफिशिएंसी रेट 80.6% है)। 

covid and vacine

लॉन्ग टर्म कोविड और उसके साइड इफेक्ट्स-

WHO की तरफ से लॉन्ग टर्म कोविड और उसके साइड इफेक्ट्स को लेकर एक कॉन्फ्रेंस की गई थी जिसमें उसके संभावित लक्षणों की बात हुई थी। इस दौरान कोविड-19 के मरीज़ों को थकान, याद्दाश्त में गड़बड़ी, रह-रहकर बुखार आना, हाथ-पैरों का कोऑर्डिनेशन नहीं बन पाना, आदि कई साइड इफेक्ट्स देखने को मिल रहे हैं। 

 

कुछ-कुछ ऐसा ही असर कोविड वैक्सीन के बाद भी हुआ। 

इसे जरूर पढ़ें- कोरोना काल में ऑफिस रिज्यूम कर रही हैं तो अपनाएं ये टिप्स  

कैसा रहा कोविड वैक्सीन लगवाने के बाद का असर? 

मेरे मम्मी-पापा ने कोविड वैक्सीन भोपाल शहर में लगवाया। उनके साथ उनके सर्कल के लगभग सभी 60 साल से ऊपर के लोगों ने कोविड वैक्सीन लगवाया और उनमें से लगभग 30% को ही साइड इफेक्ट्स देखने को मिले।  

जिस दिन वैक्सीन लगा उस दिन कुछ घंटों तक मेरी मां को कोई असर नहीं हुआ। वो पहले से ही कई सारी बीमारियों से जूझ रही हैं इसलिए उनके लिए कोरोना का वैक्सीन लगवाना बहुत जरूरी हो गया था। कुछ घंटों बाद उन्हें हल्का सिरदर्द और थकान महसूस हुई जो समय बीतने के साथ बढ़ती चली गई और उन्हें बुखार भी आ गया। ऐसा लग रहा था जैसे उनकी तबियत बहुत खराब होती चली जा रही है और शुरू के 24 घंटे काफी मुश्किल थे। 1 दिन बाद उन्हें बुखार बना हुआ था और डॉक्टर से संपर्क करने पर उन्होंने कहा कि ऐसा 3 से 5 दिनों तक हो सकता है। पर उसके अगले दिन यानि तीसरे दिन बुखार उतर गया और उनके शरीर से वैक्सीन को सही तरह से अडाप्ट कर लिया। अभी भी बने हुए कुछ साइडइफेक्ट्स हैं जिनके बारे में डॉक्टर की सलाह है कि वो कुछ दिनों तक सह सकते हैं जैसे- 

  • थकान
  • बदन दर्द
  • जी-मिचलाना
  • कपकपी होना 

जिन भी लोगों को कोविड वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स हो रहे हैं उन सभी को लगभग ऐसे ही साइड इफेक्ट्स देखने को मिल रहे हैं। 

कोविड वैक्सीन को लेकर क्या है डॉक्टर की राय? 

मेरी मम्मी लंबे समय से आयुर्वेदिक इलाज ले रही हैं और भोपाल में मौजूद आयुर्वेदिक हॉस्पिटल खुशीलाल में कंसल्ट करती हैं। डॉक्टर का कहना था कि जिन लोगों को भी इस वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स हो रहे हैं उन्हें 3-5 दिनों तक इसका असर रहता है। हर किसी को साइड इफेक्ट हो भी नहीं रहे हैं और ऐसा सिर्फ उन लोगों पर देखने को मिलता है जिनकी इम्यूनिटी थोड़ी वीक है। कोविड वैक्सीन ऐसे लोगों के लिए जरूरी भी है क्योंकि उन्हें कोविड-19 का वायरस ज्यादा नुकसान पहुंचा सकता है।  

इसे जरूर पढ़ें- कोरोना वायरस ने अब भारत में भी किया प्रवेश, इन उपायों से करें बचाव 

क्या किसी और को भी हुए कोविड साइड इफेक्ट्स? 

मेरे घर में मम्मी और पापा दोनों ने ये वैक्सीन लगवाई थी और सिर्फ मम्मी को ही ऐसे इफेक्ट्स देखने को मिले। पापा के शरीर में इस वैक्सीन का कोई खास असर नहीं दिखा और यकीनन ये दोनों ही वैक्सीन का अगला डोज लगवाएंगे।  

क्या साइड इफेक्ट्स के डर से वैक्सीन नहीं लेनी चाहिए? 

जी नहीं, ऐसा बिलकुल मत करिएगा। साइड इफेक्ट्स किसी भी नॉर्मल दवा के भी हो सकते हैं, लेकिन कोरोना की वैक्सीन बहुत जरूरी है और इसे हर एलिजिबल इंसान को लगवाना चाहिए। बहुत खराब इम्यूनिटी वाले लोगों को भी इसके साइड इफेक्ट्स 5 दिनों तक हो रहे हैं। अगर आपको लगता है कि किसी बड़ी समस्या से आप जूझ रहे हैं या किसी बीमारी का इलाज चल रहा है तो आप अपने डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही वैक्सीन लगवाएं, लेकिन इसके बारे में चर्चा जरूर करें। कोरोना से बचने के लिए सिर्फ वैक्सीन पर भी निर्भर न रहें बल्कि सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का ध्यान हमेशा रखें।  

पर ध्यान ये रखें कि वैक्सीन लगवाने से पहले अपनी हेल्थ कंडीशन के बारे में एक बार डॉक्टर से बात जरूर कर लें जो आपको इसके जरूरी साइड इफेक्ट्स आदि की जानकारी दे देगा। पर वैक्सीन लगवाना उन लोगों के लिए और भी ज्यादा जरूरी है जिनकी उम्र बढ़ गई है और जिन्हें कई तरह की समस्याएं हैं।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।