सफेद मटर, जिसका इस्तेमाल आमतौर पर खाने में कुलचे या भठूरे के साथ किया जाता है। खाने का स्वाद बढ़ाने वाले मटर स्वाद में लाजवाब होने के साथ सेहत के लिए भी फायदेमंद होते हैं। सफ़ेद मटर, हरी मटर को पूरी तरह से परिपक्व होने पर तैयार किया जाता है और उसके बाद उनकी खाल को निकालकर सुखाया जाता है, जिसके बाद वे प्राकृतिक रूप से अलग हो जाते हैं।

सूखने पर मटर का गहरा हरा रंग सफेद या थोड़ा पीला-सफेद हो जाता है। ये सूखे मटर कई पोषक तत्वों  होते हैं जो मधुमेह, कब्ज और अन्य बीमारियों से बचाव करने में सहायक होते हैं। आइये जानें सफ़ेद मटर के कुछ फायदों के बारे में जिन्हें जानकार आप भी इन्हें अपनी डाइट में जरूर शामिल करेंगे। 

कोलेस्ट्रॉल कम करे 

white peas benefits

सफेद मटर कोलेस्ट्रॉल कम करने वाले फाइबर का एक बड़ा स्रोत है। फाइबर शरीर में कुल और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करके कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर सकारात्मक प्रभाव दिखाता है। साथ ही, सफेद मटर में कई विटामिन और खनिज जैसे विटामिन बी, पोटेशियम और मैग्नीशियम की उपस्थिति अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने और हृदय को लाभ पहुंचाने में मदद करते हैं।

वजन नियंत्रित करे 

weight loss white peas

सफेद मटर वसा में कम और प्रोटीन और आहार फाइबर में उच्च होते हैं। इसके उपभोग से पेट काफी देर तक भरा हुआ महसूस होता है जिसकी वजह से भूख कम लगती है। भूख कम लगने की वजह से अतिरिक्त भोजन न कर पाने की वजह से वजन नियंत्रित रहता है। संतुलित पेट माइक्रोबायोम को बनाए रखने और पाचन तंत्र के समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देकर पेट की चर्बी कम करने में आपकी मदद करते हैं। 

मधुमेह नियंत्रित करे 

diebetes control benefits

सूखे मटर फाइबर, प्रोटीन और फाइटोकेमिकल्स जैसे कि फ्लेवोनोइड, फिनोल, टैनिन और एल्कलॉइड में समृद्ध होते हैं। उनके पास एंटीडायबिटिक, एंटीऑक्सिडेंट और विरोधी भड़काऊ गुण होते हैं जो ग्लूकोज के स्तर को प्रबंधित करने में मदद करते हैं और अग्न्याशय को मुक्त कणों के हानिकारक प्रभाव से स्वस्थ रखते हैं। यह मधुमेह का प्रबंधन करने या इसके जोखिम को रोकने में मदद करता है। इसलिए सफ़ेद मटर को अपनी डाइट का हिस्सा जरूर बनाएं। 

इसे जरूर पढ़ें:खाने में स्वाद से भरी चना दाल के हैं सेहत के लिए कई फायदे, डाइट में जरूर करें शामिल

कब्ज से छुटकारा 

constipation white peas

फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ मल त्याग और आंतों के बैक्टीरिया के लिए बहुत अच्छे हैं। वे मल को थोक करने में मदद करते हैं और कब्ज के जोखिम को कम करते हैं। सफेद मटर में खनिज, विटामिन बी और प्रोटीन की अच्छी मात्रा पाचन स्वास्थ्य को बनाए रखने और पेट फूलने जैसी संबंधित समस्याओं को रोकने में मदद करती है। इसलिए यदि आपको कब्ज सम्बंधित कोई भी समस्या है, तो सफ़ेद मटर को डाइट में जरूर शामिल करें। 

Recommended Video

दिल को स्वस्थ रखे 

healthy heart benefits

सफेद मटर में फ्लेवोनोइड्स और आइसोफ्लेवोन जैसे दिल की फेनोलिक यौगिक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करते हैं और एथेरोस्क्लेरोसिस और स्ट्रोक जैसे विभिन्न ऑक्सीडेटिव तनाव रोगों के प्रभाव से दिल को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इस खाद्य पदार्थ में फाइबर भी कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और उच्च रक्तचाप को रोकने में मदद करता है। 

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: गर्मियों में हेल्दी तरीके से घटाना है वजन, तो डाइट में शामिल करें ये 3 वेट लॉस ड्रिंक्स

एनीमिया से बचाए  

white peas health

सफेद मटर में आयरन तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। वे शरीर में हीमोग्लोबिन और लाल रक्त कोशिकाओं की एकाग्रता को बढ़ाने में मदद करते हैं और आयरन की कमी के कारण होने वाली बीमारी एनीमिया के खतरे को रोकते हैं। यह आयरन की कमी जैसे थकान और कमजोरी के लक्षणों से लड़ने में भी मदद करता है। सफेद मटर एक दिन में लोहे की कुल आवश्यकता का लगभग 7.5 प्रतिशत बनाते हैं। जिससे शरीर में आयरन की कमी को पूरा करने में मदद मिलती है। 

विभिन्न गुणों से भरपूर सफ़ेद मटर को अपनी डाइट का हिस्सा जरूर बनाएं, लेकिन स्वास्थ्य सम्बंधित कोई अन्य समस्या होने पर विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik and pintrest