आमतौर पर लोगों को चावल खिला -खिला और बिरयानी स्टाइल का ही पसंद होता है। कुछ लोग इसे स्वादिष्ट बनाने के लिए किसी बड़े भगोने का इस्तेमाल करते हैं और कुछ लोग इसके स्टार्च को निकालकर इसका फैट अलग करके खाना पसंद करते हैं। वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जो चावल को प्रेशर कुकर में बनाकर खाना ही पसंद करते हैं और उन्हें इसी तरीके से पकाया गया चावल सुस्वाद लगता है।

लेकिन कभी आपने सोचा है कि चावल का स्वाद और उसकी पौष्टिकता उसके बनाने के तरीके और पकाने वाले बर्तन पर भी निर्भर करती है ? अगर नहीं सोचा है तो हम इस लेख में आपको कुछ ऐसी ही बातों के बारे में बताने जा रहे हैं। हालांकि, चावल का जैसा भी स्वाद आपको बेहतर लगे लेकिन जब इसे सेहत के लिए खाया जाता है तो इसे प्रेशर कुकर में पकाकर खाना हमारे किया ज्यादा लाभदायक साबित हो सकता है। आइए फैट टू स्लिम ग्रुप की सेलिब्रिटी इंटरनेशनल डाइटीशियन और न्यूट्रिशनिष्ट शिखा ए शर्मा से जानें इसके फायदों के बारे में। 

पौष्टिकता रहती है बरकरार 

healthy rice cooked in pressure cooker

ऐसा माना जाता है कि जब किसी भी खाद्य सामग्री को ज्यादा देर तक पकाया जाता है तब उसकी पौष्टिकता नष्ट होने लगती है। इसलिए लोग चावल पकाने के लिए प्रेशर कुकर या स्टीमिंग विधियों का उपयोग करते हैं। ऐसा माना जाता है कि बहुत ही कम समय तक अग्नि के संपर्क में रहने की वजह से प्रेशर कुकर में पके हुए चावल अपनी पौष्टिकता बरकरार रखते हैं। इसके अलावा चावल पकाने का ये तरीका समय बचाने में भी मदद करता है। वास्तव में, प्रेशर कुकर में चावल पकाने से तैयारी का समय आधा हो सकता है जिससे अन्य चीजों के लिए काफी समय बच सकता है।

इसे जरूर पढ़ें:एल्युमीनियम के बर्तनों में खाना पकाना हो सकता है सेहत के लिए नुकसानदायक, जानें कैसे

वजन नियंत्रित रखने में सहायक 

weight control

चावल स्टार्च का अच्छा स्रोत है और जब इसे प्रेशर कुकर में बनाया जाता है तो इसका स्टार्च पूरी तरह से इसमें मौजूद होता है। इस तरह के चावल का सेवन करने से पेट काफी देर के लिए भरा हुआ महसूस होता है जिससे अतिरिक्त भोजन की आवश्यकता नहीं होती है। यह एक बहुत ही अच्छा डाइटरी फाइबर है, इसको खाने के बाद आपको घंटों तक भूख नहीं लगती है और वजन नियंत्रित रहता है। यही नहीं यदि आप वजन बढ़ाना चाहती हैं तब भी अपनी डाइट में ऐसे चावल को ज्यादा मात्रा में शामिल करें जो प्रेशर कुकर में पकाया गया हो। इसके साथ ही प्रेशर कुकर में चावल पकाते समय इसमें थोड़ा सा घी जरूर मिलाएं जिससे ये वजन बढ़ाने में मदद करेगा। 

पाचन को सुचारु बनाए 

improve digestion cooked rice

जब आप अपने चावल को प्रेशर कुकर में बनाते हैं तो ये आपको वास्तव में पारंपरिक तरीके से बनाए जाने की तुलना में बेहतर पोषण लाभ प्रदान करता है। चूंकि प्रोटीन, स्टार्च और फाइबर जैसे मैक्रोन्यूट्रिएंट गर्मी के साथ बढ़ जाते हैं, इसलिए आपको अपने प्रेशर-कुक चावल से अधिक पोषण संबंधी लाभ मिलते हैं। यही नहीं इस तरीके से पकाया गया चावल पाचन क्रिया को भी सुचारु करने में मदद करता है क्योंकि इस तरह का चावल अच्छी तरह से पक जाता है और इसमें पानी की उचित मात्रा रखने से यह ज्यादा सुपाच्य भी हो जाता है। 

इसे जरूर पढ़ें: Expert Tips: क्या आप जानती हैं खाली पेट छाछ पीने के ये 10 फायदे

Recommended Video

बैक्टीरिया से मुक्त रखता है 

pressure cook rice benefits

अगर आप पके हुए या बिना पके हुए चावल को ठीक से स्टोर नहीं करती हैं, तो उस पर नमी की वजह से बहुत सारे बैक्टीरिया बनने लगते हैं। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आपके द्वारा चुनी गई खाना पकाने की विधि उन बैक्टीरिया से छुटकारा दिला सके। खाना पकाने के पारंपरिक तरीके जैसे कि इसे बर्तन में उबालना या भाप से पकाना सभी बैक्टीरिया से छुटकारा पाने के लिए पर्याप्त उच्च तापमान तक नहीं पहुंच पाता है। इसके बजाय प्रेशर कुकर में उच्च गर्मी और दबाव के कारण चावल को पकाने से वास्तव में खाना पकाने के पारंपरिक रूपों की तुलना में इसका उपभोग करना अधिक सुरक्षित हो सकता है। यह सब देखते हुए यह सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद हो जाता है।

चूंकि प्रेशर कुकर में उच्च दबाव और तापमान होता है, इसलिए इसमें पकाए हुए चावल आपके लिए अधिक स्वादिष्ट, अधिक पौष्टिक और खाने के लिए सुरक्षित होते हैं। इसलिए आप भी चावल पकाने के इस तरीके को अपना सकती हैं और इसे ज्यादा पौष्टिक भी बना सकती हैं। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik