आधुनिक और तेज-तर्रार जीवन में स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं एक आम बात हैं। गतिहीन जीवन शैली, तनाव और चिंता के चलते यह हमें घेरे हुए हैं। सबसे आम स्थितियों में से एक जिससे लोग खासतौर पर महिलाएं पीड़ित होती हैं, वह हीमोग्लोबिन की कमी है। हीमोग्लोबिन एक आयरन से भरपूर प्रोटीन है, जो रेड ब्‍लड सेल्‍स में मौजूद होता है, और पूरे शरीर में ऑक्सीजन ले जाने के लिए जिम्मेदार होता है। जब हीमोग्लोबिन का लेवल कम हो जाता है, तो यह थकान, कमजोरी, सांस की तकलीफ, सिरदर्द, आदि का कारण बन सकता है और यदि लेवल काफी कम हो जाता है, तो स्थिति को एनीमिया के रूप में डायग्‍नोज होती है।

एनीमिया भारत में चिंता का सबसे बड़ा कारण है। हाल के कई सर्वेक्षणों के अनुसार, लाखों भारतीय लड़कियां इस स्थिति से पीड़ित हैं। समान उम्र के पुरुषों की तुलना में लड़कियों में हीमोग्लोबिन की संख्या बहुत कम होती है। महिलाएं इसका शिकार सबसे ज्‍यादा होती हैं, विशेष रूप से वह जो अपने आहार में आयरन और अन्य पोषक तत्वों को शामिल नहीं करती हैं, क्योंकि हीमोग्लोबिन में गिरावट सामान्य से अधिक हो सकती है, जिससे कमजोरी और खराब नियमित प्रदर्शन हो सकता है। साथ ही पीरियड्स और प्रेग्‍नेंसी के बाद समस्‍या और भी बढ़ सकती है।

ऐसा में मन में यही सवाल आता है कि हीमोग्लोबिन के लेवल को कैसे कंट्रोल किया जा सकता है? तो हम आपको बता दें कि प्रकृति पर भरोसा करें। हमारे पास ऐसे फूड्स हैं, जो बहुत ज्‍यादा पैसे खर्च बिना हीमोग्‍लोबिन के हेल्‍दी लेवल को बनाए रखने में हमारी मदद कर सकते हैं। इन फूड्स के बारे में हमें फिटनेस और डाइट एक्‍सपर्ट टीना चौधरी जी बता रही हैं। लेकिन सबसे पहले यह जान लेते हैं कि हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन कैसे काम करता है?

शरीर में हीमोग्लोबिन कैसे काम करता है?

रेड ब्‍लड सेल्‍स का प्रमुख कार्य फेफड़ों से बॉडी सेल्‍स तक ऑक्सीजन का परिवहन करना है। आरबीसी में हीमोग्लोबिन के रूप में जाना जाने वाला एक प्रोटीन होता है, जो ऑक्सीजन ले जाने के लिए जिम्मेदार होता है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जीवित कोशिकाएं अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं। यह कार्बन डाइऑक्साइड को आपके सेल्‍स से बाहर निकालता है और आपके फेफड़ों में वापस छोड़ने के लिए पहुंचाता है। ऐसा कहा जाता है कि फेफड़ों से ब्‍लड द्वारा ले जाने वाली ऑक्सीजन का 97 प्रतिशत हीमोग्लोबिन के माध्यम से होता है और अन्य तीन प्रतिशत प्लाज्मा द्वारा घुल जाता है।

अनार

pomegranate for hemoglobin

अनार प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फाइबर के साथ कैल्शियम और आयरन समृद्ध स्रोत है। यह हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए सबसे अच्छे फूड्स में से एक है। अपने हीमोग्लोबिन के लेवल को सुनिश्चित करने के लिए रोजाना अनार खाएं। लेकिन इस बात का ध्‍यान रखें कि आपको अनार खाना है, इसका जूस लेने से बचना चाहिए क्‍योंकि इसका जूस लेने से आपका वजन बढ़ सकता है। अगर आपको हीमोग्‍लोबिन बढ़ाना है लेकिन वजन को नहीं बढ़ाना है, तो इस बात का ध्‍यान रखें। 

इसे जरूर पढ़ें:Iron की कमी health ही नहीं beauty भी करती है कम

चुकंदर

beetroot for hemoglobin

चुकंदर हीमोग्लोबिन के लेवल को बढ़ाने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है। इसमें न केवल आयरन की मात्रा अधिक होती है, बल्कि पोटेशियम और फाइबर के साथ फोलिक एसिड भी होता है। हेल्‍दी ब्‍लड काउंट सुनिश्चित करने के लिए रोजाना चुकंदर को खाएं। अगर आप भी ऐसी महिलाओं में से एक हैं जिनको इसका स्‍वाद अच्‍छा नहीं लगता है, तो इसे उबाल कर खाएं।

पालक

spinach for for hemoglobin 

हरी सब्जियां जैसे पालक, आयरन का समृद्ध शाकाहारी स्रोत है। यह शरीर में हीमोग्लोबिन के लेवल को बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा पालक में विटामिन-सी भी होता है, जो ब्‍लड में आयरन के अवशोषण में मदद करता है। यदि शरीर में खून की कमी होती है तो पालक का सूप रोजाना सुबह और शाम पीएं।

इसे जरूर पढ़ें:आयरन की कमी बनी Indian women के लिए सबसे बड़ा खतरा

Recommended Video

पनीर

paneer for hemoglobin

अपनी डाइट में रोजाना पनीर लेने से भी आप हीमोग्‍लोबिन की मात्रा को बढ़ा सकती हैं। 50 ग्राम पनीर आप रोजाना ले सकती हैं। जी हां पनीर में कई विटामिन्‍स और मिनरल्‍स मौजूद होते हैं, आयरन भी उनमें से एक है। इनके सेवन से शरीर में हीमोग्लोबिन का पर्याप्त उत्पादन सुनिश्चित होता है।  

एक्‍सपर्ट के बताए इन फूड्स को अपनी डाइट में शामिल करके आप भी हीमोग्‍लोबिन बढ़ाकर शरीर में खून की कमी को दूर कर सकती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Image Credit: Freepik.com